बड़ी खबरें

राज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दियाराज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दिया बेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहरबेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहर सरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धिसरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धि हो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबितहो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबित 2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी मुख्यमंत्री का कार्यालय बिहार सरकार (जनसंपर्क कोपांग) से शिक्षकों के लिए प्रेस विज्ञप्ति जारी हो गई आखिरकार शिक्षकों को मिल ही गयामुख्यमंत्री का कार्यालय बिहार सरकार (जनसंपर्क कोपांग) से शिक्षकों के लिए प्रेस विज्ञप्ति जारी हो गई आखिरकार शिक्षकों को मिल ही गया

विधानमंडल के शीतकालीन सत्र में शिक्षकों के वेतन व समग्र शिक्षा पर 4441 करोड़ होंगे खर्च।

विधानमंडल के शीतकालीन सत्र में शिक्षकों के वेतन व समग्र शिक्षा पर 4441 करोड़ होंगे खर्च।

• बालक-बालिका प्रोत्साहन, साइकिल व छात्रवृत्ति के लिए भी राशि का प्रावधान

• सदन की मुहर लगने के बाद चालू वित्तीय वर्ष में सरकार राशि खर्च करेगी

सोमवार को बिहार विधानसभा में उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने 201 हजार 531 करोड़ का द्वितीय अनुपूरक व्यय विवरणी पेश किया। इसमें वार्षिक योजना मद में 12 हजार 120 करोड़, स्थापना एवं प्रतिबद्ध मद में आठ हजार 373 करोड़ तो केंद्रीय क्षेत्र स्कीम मद में 37 करोड़ 47 लाख खर्च होंगे। विधान परिषद में स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने व्यय विवरणी पेश किया। चालू सत्र में ही इस पर वाद-विवाद होगा जिसके बाद वह सदन में पारित होगा। सदन की मुहर लगने के बाद चालू वित्तीय वर्ष में सरकार इस राशि को खर्च करेगी।

सदन में पेश व्यय विवरणी के अनुसार सबसे अधिक राशि 4441 करोड़ समग्र शिक्षा अभियान मद में खर्च होंगे। वहीं, 242 करोड़ राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, 235 करोड़ मध्याह्न भोजन योजना, 150 करोड़ त्वरित सिंचाई लाभव बाढ़ प्रबंधन, 54 करोड़ 54 लाख पीएम आवास ग्रामीण योजना, 28 करोड़ 75 लाख पीएम कृषि सिंचाई योजना तो 25 करोड़ 43 लाख पॉक्सो एक्ट के तहत फास्ट ट्रैक स्पेशल कोर्ट के गठन पर खर्च होगा वहीं, 1035 करोड़ नाबाई संपोषित गंगा जल उद्वह योजना, एक हजार करोड़ पटना मेट्रो रेल परियोजना, 635 करोड़ सीएम बालिका प्रोत्साहन योजना, 550 करोड़ सीएम ग्राम सम्पर्क योजना, 433 करोड़ सीएम बालिका स्नातक प्रोत्साहन, 400 करोड़ सड़कों व पुलों के निर्माण 315 करोड़ बिहार राज्य आवास बोर्ड से जमीन लेने और 219 करोड़ बाढ़ नियंत्रण कार्य मद में खर्च होंगे।

वहीं, वार्षिक स्कीम में ही 150 करोड़ औद्योगिक प्रोत्साहन नीति, 149 करोड़ राज्य के विश्वविद्यालयों के विकास, 123 करोड़ सीएम बालिका पोशाक योजना, 100 करोड़ सीएम शहरी नली-गली पक्कीकरण निश्चय योजना मद में खर्च होंगे।

95 करोड़ नल-जल योजना पर खर्च होंगे

95 करोड़ सीएम नल-जल निश्चय योजना, 91 करोड़ माध्यमिक विद्यालयों का उन्नयन, 87 करोड़ 78 लाख ग्रामीण टोला संपर्क निश्चय योजना, 65 करोड़ सीएम बाल आश्रय विकास, 63 करोड़ सीएम वृद्धजन पेंशन, 61 करोड़ 95 लाख सीएम प्रोत्साहन छात्रवृत्ति योजना, 61 करोड़ 82 लाख ममता कार्यकर्ता के मानदेय और 54 करोड़ 72 लाख सीएम बालिका साईकिल योजना मद में खर्च होंगे।

1445 करोड़ 33 लाख शहरी निकायों में खर्च किये जाएंगे

स्थापना मद के तहत 2130 करोड़ पाष्टम वित्त आयोग की अनुशंसा के तहत पंचायती राज संस्थाओ पर खर्च होंगे, जबकि 1445 करोड़ 33 लाख शहरी निकायों में खर्च होंगे। 1182 करोड़ 34 लाख प्राकृतिक विपदा, 904 करोड़ 47 लाख स्वास्थ्य प्रक्षेत्र के तहत पंचायती राज संस्थाओं, 884 करोड़ वित्त संपोषित महाविद्यालय, 554 करोड़ 56 लाख स्वास्थ्य विभाग के अधीन वेतनादि, वजीफा तो 547 करोड़ राज्य के विभिन्न विश्विद्यालयों में खर्च होंगे। इसी तरह 212 करोड़ 84 लाख स्वास्थ्य प्रक्षेत्र में शहरी निकायों तो 140 करोड़ पंचायती निर्वाचन में खर्च होंगे। वहीं, केंद्रीय स्कीम में अतिरिक्त प्रावधान के तहत 37 करोड़ की राशि जनगणना के लिए प्रस्तावित किया गया है।

याद किए गए दिवंगत नेता

दोनों सदनों में देश-प्रदेश के दिवंगत नेताओं व समाजसेवियों को याद किया गया। सदन में पूर्व विधायक मुसाफिर पासवान, पूर्व विस अध्यक्ष सदानंद सिंह, पूर्व मंत्री मिथलेश सिंह, पूर्व विधायक जनार्दन शर्मा, पूर्व विधायक बलराम सिंह यादव, पूर्व विधान पार्षद खालिद रशीद सथा, पूर्व विधायक हिंद केशरी यादव, पूर्व विधायक व लेखक गौरीशंकर नागदेश, पूर्व विधान पार्षद रामजी प्रसाद शर्मा के निधन पर शोक प्रकट कर श्रद्धांजलि दी गई।

अध्यासी सदस्यों का हुआ मनोनयन

पटना। विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने शीतकालीन सत्र के लिए अध्यासी सदस्यों का मनोनयन किया है। अध्यक्ष और उपाध्यक्ष की अनुपस्थिति में अध्यासी सदस्य ही सदन का संचालन करेंगे। जिन सदस्यों को अध्यासी सदस्य बनाया गया है उनमें प्रेम कुमार, नरेन्द्र नारायण यादव, अवध बिहारी चौधरी, ज्योति देवी और मो आफाक आलम शामिल है। वहीं, विधान परिषद में सभापति अवधेश नारायण सिंह ने सदन चलाने के लिए चार अध्यासीन सदस्यों का मनोनयन सोमवार को किया। केदार पांडेय, रामचन्द्र पूर्वे, संजीव कुमार सिंह और राजेन्द्र गुप्ता को उन्होंने अध्यासीन सदस्य मनोनीत किया। ये सदस्य परिषद में सभापति की अनुपस्थिति में कार्यवाही का संचालन करेंगे।


Buy Amazon Product