बड़ी खबरें

शिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगाशिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगा 2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा खुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूचीखुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूची प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएंप्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएं शिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसलाशिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसला सभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतानसभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतान

7th pay commission DA Hike: केंद्रीय कर्मचारियों के साथ राज्य कर्मी व शिक्षकों की बल्ले-बल्ले, महंगाई भत्ता बढ़ने की तारीख हुई तय, 4% पर लगी मुहर

7th pay commission DA Hike: केंद्रीय कर्मचारियों के साथ राज्य कर्मी व शिक्षकों की बल्ले-बल्ले, महंगाई भत्ता बढ़ने की तारीख हुई तय, 4% पर लगी मुहर

केंद्रीय कर्मचारियों के साथ राज्य कर्मी व शिक्षकों को बड़ा तोहफा मिला है. उनके लिए महंगाई भत्ते का ऐलान हो गया है. अब उन्हें पहले के मुकाबले ज्यादा DA मिलेगा. इसके साथ ही एरियर  पर भी बड़ा अपडेट मिला है । 

महंगाई भत्ते का इंतजार खत्म हो गया है. जल्द ही इसे जारी कर दिया जाएगा. इसकी तारीख भी तय हो गई है. महंगाई भत्ते का औपचारिक ऐलान 28 सितंबर यानि तीसरे नवरात्र पर होगा. केंद्रीय कर्मचारियों को महंगाई भत्ते का तोहफा नवरात्र में मिलेगा. इसका भुगतान सितंबर की सैलरी के साथ होगा. मतलब 1 अक्टूबर से महंगाई भत्ता बढ़कर 38 फीसदी हो जाएगा. इस दौरान केंद्रीय कर्मचारियों को दो महीने के DA Arrear का भी फायदा मिलेगा.

 

यह भी पढ़ें - नियोजित शिक्षकों के पुरानी पेंशन योजना के साथ-साथ वेतनमान हो सकेगा लागू

कैसे तय हुआ कितने बढ़ेगा DA?

पहली छमाही के आंकड़े जारी किए गए थे. इसमें इंडेक्स 0.2 प्वाइंट की तेजी के साथ 129.2 पर पहुंच गया. कर्मचारियों के महंगाई भत्ते (Dearness Allowance) को तय करने के लिए सरकार इस इंडेक्स के आंकड़े का इस्तेमाल करती है. इंडेक्स में आई तेजी से DA में 4 फीसदी की वृद्धि हुई है. एक्सपर्ट्स दावा कर रहे हैं कि महंगाई भत्ता 4% बढ़ाया जाएगा. एक करोड़ से ज्यादा केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनर्स को इसका फायदा मिलेगा। 

यह भी पढ़ें - 80 हजार सरकारी स्कूलों को राज्य परियोजना निदेशक असंगबा चुबा आओ ने शिक्षकों एवं पदाधिकारियों के लिए जारी कर दिया निर्देश

कब आएगा 38% DA का पैसा?

डियरनेस अलाउंस (Dearness allowance) में 4 फीसदी की बढ़ोतरी के बाद केंद्रीय कर्मचारियों का कुल महंगाई भत्ता 38% पर पहुंच गया है. नए महंगाई भत्ते का भुगतान सितंबर 2022 की सैलरी में होगा. इसमें दो महीने जुलाई और अगस्त के एरियर का पैसा भी आएगा. नया महंगाई भत्ता क्योंकि 1 जुलाई 2022 से लागू माना जाएगा. कुल मिलाकर नवरात्र के टाइम पर सरकार इसका भुगतान करेगी. इससे कर्मचारियों की जेब में मोटा पैसा आएगा.

 

यह भी पढ़ें - नियोजित शिक्षकों के समान काम समान वेतन को 25 से 23 अगस्त को सीएम और डिप्टी सीएम समेत शिक्षा मंत्री को ईमेल के माध्यम से देंगे

सैलरी में कितना अंतर आएगा?

7th Pay Commission में न्यूनतम बेसिक सैलरी 18,000 रुपए है और कैबिनेट सेक्रेटरी के लेवल पर 56900 रुपए है. 38 फीसदी के हिसाब से 18000 रुपए की बेसिक सैलरी पर सालाना DA में कुल इजाफा 6840 रुपए में मिलेगा. कुल 720 रुपए महीना DA ज्यादा बढ़ेगा. अधिकतम बेसिक सैलरी ब्रैकेट 56,900 रुपए पर सालाना महंगाई भत्ते में कुल इजाफा 27,312 रुपए मिलेगा. 34% के मुकाबले इस सैलरी ब्रैकेट वालों को 2276 रुपए ज्यादा मिलेंगे.

यह भी पढ़ें - केंद्रीय कर्मचारियों के साथ बिहार के कर्मचारी व शिक्षकों को सितंबर में एक साथ तीन तो तोहफे शिक्षकों के बल्ले बल्ले

स्कूलों में कक्षाओं को नियमित करने पर रहेगा विशेष जोर। 

पटना। राज्य के करीब 90 हजार सरकारी स्कूलों में अब नियमित कक्षा संचालन पर विशेष जोर होगा। खासतौर से पहली से आठवीं तक के करीब पौने दो करोड़ बच्चों को हर घंटी पढ़ाया जाए, इसको लेकर अधिक सजगता बरती जाएगी। महकमे के मुखिया बदलने के बाद शिक्षा विभाग इस नए टास्क को जमीन पर उतारने की कार्ययोजना बनाने में जुट गया है। जल्द ही इसको लेकर विभाग से सभी जिलों को विशेष निर्देश भेजा जाएगा। किसी भी स्थिति में कक्षा संचालन में कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी और इसके लिए जिम्मेवार शिक्षक या विद्यालय प्रधान विभाग की कार्रवाई के रडार पर होंगे। गौरतलब है कि पदभार संभालते ही नये शिक्षा मंत्री चन्द्रशेखर ने विभागीय अधिकारियों से बातचीत में विद्यालयों में कक्षाओं के नियमित संचालन नहीं होने पर चिंता जताई। इसे शीर्ष प्राथमिकता पर रखकर अमल करने का निर्देश दिया। उन्होंने विभाग को एक माह का समय भी निर्धारित कर दिया है। 

 

यह भी पढ़ें - अब मिलकर रहेगा समान काम समान वेतन आंदोलन की रूपरेखा हो गई तैयार, NPS का विरोध पुरानी पेंशन लागू

आधारभूत संरचना की समीक्षा की जाएगी। 
जानकारी के मुताबिक नये शिक्षा मंत्री ने महज अपने तीन-चार दिनों के कार्यकाल में राज्य की शिक्षा व्यवस्था में और सुधार को लेकर कई महत्वपूर्ण निर्देश दिए हैं, जिन्हें पूरा करने पर गंभीरतापूर्वक काम आरंभ कर दिया गया है। मंत्री ने हर स्कूल को समुचित आधारभूत संरचना मुहैया कराने को कहा है। इसे सुनिश्चित करने के लिए आधारभूत संरचना की समीक्षा की जाएगी।


Buy Amazon Product