बड़ी खबरें

DA News : महंगाई भत्ते में हो सकती है 4 फीसदी की बढ़ोतरी, जानें कब से होगा लागू, इन लोगों को मिलेगा लाभDA News : महंगाई भत्ते में हो सकती है 4 फीसदी की बढ़ोतरी, जानें कब से होगा लागू, इन लोगों को मिलेगा लाभ शिक्षा विभाग के निर्देशक मनोज कुमार एवं शिक्षा मंत्री का आया संयुक्त बयान पत्र हुआ जारीशिक्षा विभाग के निर्देशक मनोज कुमार एवं शिक्षा मंत्री का आया संयुक्त बयान पत्र हुआ जारी नियोजित शिक्षकों का वेतन हुआ जारी 2 महीने का वेतन एवं एरियर मिलाकर ₹1,00,000 से ₹1,30,000 तक मिलेगा 10 दिन के अंदर। नियोजित शिक्षकों का वेतन हुआ जारी 2 महीने का वेतन एवं एरियर मिलाकर ₹1,00,000 से ₹1,30,000 तक मिलेगा 10 दिन के अंदर। तबादले की मांग लेकर शिक्षकों का अनिश्चितकालीन धरना शुरू शिक्षा विभाग के अधिकारी क्या बोले सुन लीजिए। तबादले की मांग लेकर शिक्षकों का अनिश्चितकालीन धरना शुरू शिक्षा विभाग के अधिकारी क्या बोले सुन लीजिए। नियोजित शिक्षकों के 3 माह के वेतन का हुआ आवंटन 15% वृद्धि का एरियर एवं वेतन का लिस्ट हुआ जारी एक मुश्त होगा भुगतान।नियोजित शिक्षकों के 3 माह के वेतन का हुआ आवंटन 15% वृद्धि का एरियर एवं वेतन का लिस्ट हुआ जारी एक मुश्त होगा भुगतान। सबसे बड़ी खुशखबरी 15 अगस्त से सभी कर्मचारियों के साथ शिक्षकों को पुरानी पेंशन योजना हो जाएगी लागू।सबसे बड़ी खुशखबरी 15 अगस्त से सभी कर्मचारियों के साथ शिक्षकों को पुरानी पेंशन योजना हो जाएगी लागू।

GOB एवं SSA से वेतन पाने वाले नियोजित शिक्षकों के लिए 9 अरब 45 लाख हुए आवंटित अब इतने तारीख को ही होगा भुगतान।

GOB एवं SSA से वेतन पाने वाले नियोजित शिक्षकों के लिए 9 अरब 45 लाख हुए आवंटित अब इतने तारीख को ही होगा भुगतान।

वित्तीय वर्ष 2021-22 में समग्र शिक्षा अभियान स्कीम अन्तर्गत केन्द्राश मद में द्वितीय किस्त की राशि के रूप में प्राप्त ₹9,45,01,87,000/- (नौ अरब पैतालीस करोड़ एक लाख सतासी हजार) एवं इसके विरूद्ध समानुपातिक राज्यांश की राशि ₹6,30,01,24,667/- (छ: अरब तीस करोड़ एक लाख चौबीस हजार छः सौ सड़सठ रूपये) की स्वीकृति दिया जाना था वित्तीय वर्ष 2021-22 में उपलब्ध बजट उपबंध से वित्तीय वर्ष 2021-22 में समय शिक्षा अभियान स्कीम अन्तर्गत केन्द्राश मद में द्वितीय किस्त की राशि के रूप में प्राप्त ₹9,45,01,87,000/- (नौ अरब पैतालीस करोड़ एक लाख सतासी हजार) के स्थान पर ₹9,40,19,22,000/-(नौ अरब चालीस करोड़ उन्नीस लाख बाईस हजार रूपये) एवं इसके विरुद्ध राज्यांश की राशि ₹6,30,01,24,667/ (छः अरब तीस करोड़ एक लाख चौबीस हजार छ: सौ सड़सठ रूपये) के स्थान पर ₹6,23,43,06,667/- (छः अरब तैईस करोड तैंतालीस लाख आठ हजार छः सौ सड़सठ रूपये) मात्र का ही स्वीकृति दिया गया। अर्थात केन्द्राश मद में द्वितीय किस्त के रूप में प्राप्त ₹4,82,65,000/- (चार करोड़ बिरासी लाख पैसठ हजार) रूपये एवं राज्यांश मद में ₹6,58,16,000/- (छ: करोड़ अंठावन लाख सोलह हजार) रूपये की निकासी वित्तीय वर्ष 2021-22 में निकासी नहीं हो सका। 

यह भी पढ़ें - पीएफ के ब्याज दर में हुई बढ़ोतरी इस महीने के अंत तक खाते में जाएंगे पैसा आप भी अपना जान लें।

वित्तीय वर्ष 2021-22 में समग्र शिक्षा अभियान अंतर्गत केन्द्राश मद में द्वितीय किस्त के रूप में प्राप्त ₹4,82,65,000/- (चार करोड़ बिरासी लाख पैंसठ हजार) रूपये को मानव संसाधन विकास मंत्रालय भारत सरकार के पत्रांक 12-2/2021-15-15 दिनांक 06.05 2022 के द्वारा पुनरवैदिकरण कराते हुए वित्तीय वर्ष 2022-23 में व्यय करने की स्वीकृति प्रदान की गयी है। समग्र शिक्षा अभियान केन्द्र प्रायोजित योजना है, जिसमें केन्द्र एवं राज्य के हिस्सेदारी 60:40 है। 

2. वित्तीय वर्ष 2021-22 में समग्र शिक्षा अभियान अंतर्गत केन्द्राश मद में द्वितीय किस्त कि रूप में प्राप्त ₹4,82,65,000/- (चार करोड़ बिरासी लाख पैसठ हजार) रूपये एवं राज्यांश मद में ₹6,58,16,000/- (छ: करोड़ अंठाबन लाख सोलह हजार) रूपये की वित्तीय वर्ष 2022-23 में सहायक अनुदान मद में व्यय की स्वीकृति एवं राशि की विमुक्ति का प्रस्ताव है।
वित्तीय वर्ष 2021-22 में समग्र शिक्षा अभियान अंतर्गत केन्द्राश मद मे द्वितीय किस्त कि रूप में प्राप्त ₹4,82,65,000/-(चार करोड़ बिरासी लाख पैसठ हजार) रूपये एवं राज्यांश मद में ₹6,58,16,000/- (छः करोड़ अंठावन लाख सोलह हजार) रूपये की वित्तीय वर्ष 2022-23 में सहायक अनुदान मद में व्यय की स्वीकृति एवं राशि की विमुक्ति प्रदान की जाती है। 

यह भी पढ़ें - शिक्षा विभाग के उप सचिव अरशद फिरोज ने जारी किया निर्देश कहां 24 घंटे में शिक्षकों को मिलेगी।

3. a. वित्तीय वर्ष 2022-23 में समग्र शिक्षा अभियान के लिए केन्द्रांश मद में ₹86,26,38,00,000/- (छियासी अरब छब्बीस करोड़ अड़तीस लाख रूपये) मात्र तथा राज्यांश मद में ₹16,15,00,00,000/- (सोलह अरब पन्द्रह करोड़ रूपये) मात्र का उदव्यय एवं उपबंध निर्धारित है। 

b. समग्र शिक्षा अभियान के अन्तर्गत केन्द्राश मद से ₹4,82,65,000/-(चार करोड बिरासी लाख पैंसठ हजार) राशि के व्यय का विकलन निम्न प्रकार से किया जायेगा :- 

मुख्य शीर्ष -2202- सामान्य शिक्षा, उप मुख्य शीर्ष - 01- प्रारंभिक शिक्षा, लघु शीर्ष - 796-जनजातीय क्षेत्र उप योजना, माँग संख्या-21, उपशीर्ष-0211- समग्र शिक्षा-प्राथमिक शिक्षा (सर्व शिक्षा अभियान ) विपत्र कोड-21-2202017960211 पी०एफ०एम०एस० कोड-3667 विषय शीर्ष-0211-31-04-सहायक अनुदान-वेतन अन्तर्गत उपबंधित राशि ₹44,68,00,000/- (चौवालीस करोड़ अड़सठ लाख) रूपये में से ₹4,82,65,000/-(चार करोड़ बिरासी लाख पैसठ हजार) मात्र का विकलन किया जायेगा। 

यह भी पढ़ें - शिक्षकों के वेतन एवं एरियर मध्य में 26 करोड़ 18 लाख ₹90000 हुए जारी जान ले अपने जिले में कितना आया।

c. समग्र शिक्षा अभियान अन्तर्गत राज्यांश मद से ₹6,58,16,000/- (छ: करोड़ अंठाबन लाख सोलह हजार) रूपये के व्यय का विकलन निम्न प्रकार से किया जायेगा:- 

मुख्य शीर्ष - 2202- सामान्य शिक्षा, उप मुख्य शीर्ष - 01- प्रारंभिक - शिक्षा, लघु शीर्ष 796-जनजातीय क्षेत्र उप योजना माँग संख्या-21, उपशीर्ष - 0309- सर्व शिक्षा अभियान (एस०एस०ए०), विपत्र कोड-21-2202017960309 पी०एफ०एम०एस० कोड-3867 विषय शीर्ष- 0309-31-04 - सहायक अनुदान वेतन अन्तर्गत उपबंधित राशि ₹48,45,00,000/- (अड़तालीस करोड़ पैंतालीस लाख) रूपये में से ₹6,58,16,000/- (छ: करोड़ अंठाबन लाख सोलह हजार) मात्र का विकलन किया जायेगा। 

4. स्वीकृत राशि निदेशक, प्राथमिक शिक्षा के निस्ताराधीन होगी। राशि की निकासी प्रशाखा पदाधिकारी-सह-निकासी एवं व्ययन पदाधिकारी, प्राथमिक शिक्षा, शिक्षा विभाग, बिहार पटना द्वारा बिहार ट्रेजरी कोड- 2011 के नियम 270 के अनुसार बी०टी०सी० फॉर्म 42 पर पूर्व प्राप्ति रसीद के आधार पर नया सचिवालय, विकास भवन, पटना कोषागार से किया जायेगा तथा निम्नलिखित विवरणी के अनुसार स्वीकृत राशि बिहार शिक्षा परियोजना परिषद् के संबंधित खाते में CFMS Mode द्वारा NEFT/RTGS के माध्यम से उपलब्ध कराया जायेगा:- 

यह भी पढ़ें - नियोजित शिक्षकों के लिए खुशखबरी ढाई सालों के बाद आखिरकार मिली सफलता न्यायालय ने दिया आदेश एकमुश्त ₹700000 मिलेगा

5. बिहार शिक्षा परियोजना परिषद के द्वारा उक्त राशि के व्यय से संबंधी उपयोगिता प्रमाण-पत्र विहित प्रपत्र (बी०टी०सी० फॉर्म 42 A पुनरीक्षित) में निर्धारित अवधि में विभाग के माध्यम से महालेखाकार (ले० एवं ह०) बिहार, पटना एवं निर्धारित प्रपत्र में भारत सरकार को उपलब्ध कराया जायेगा। 

6. वित्त विभाग, बिहार के पत्रांक 2561 दिनांक 17.04.1998 में उल्लेखित प्रावधानों के अनुसार राशि की निकासी की जाएगी। 

7. वित्त विभाग, बिहार के पत्रांक 7355 / वि० (2) दिनांक 05.10.2007 के आलोक में राशि की निकासी हेतु प्राधिकार पत्र की आवश्यकता नहीं है। 

8. यह स्वीकृत्यादेश वित्त विभाग के संकल्प 3758/ वि० दिनांक 31.05.2017 के कडिका 7 (क) के आलोक में निर्गत किया जा रहा है। 

9. राशि का विचलन अन्य मदों में नहीं किया जायेगा। 

10. प्रस्ताव पर विभागीय मंत्री का अनुमोदन प्राप्त है। 

11. स्वीकृत्यादेश प्रारूप पर आंतरिक वित्तीय सलाहकार की सहमति संचिका संख्या- 8 / विविध०3-05 / 2022 के पृष्ठ 05 / टि० पर प्राप्त है।


Buy Amazon Product