बड़ी खबरें

राज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दियाराज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दिया बेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहरबेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहर सरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धिसरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धि हो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबितहो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबित 2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी मुख्यमंत्री का कार्यालय बिहार सरकार (जनसंपर्क कोपांग) से शिक्षकों के लिए प्रेस विज्ञप्ति जारी हो गई आखिरकार शिक्षकों को मिल ही गयामुख्यमंत्री का कार्यालय बिहार सरकार (जनसंपर्क कोपांग) से शिक्षकों के लिए प्रेस विज्ञप्ति जारी हो गई आखिरकार शिक्षकों को मिल ही गया

नियोजित शिक्षकों के वेतन के लिए 94 अरब की स्वीकृति सभी तरह के एरियर 70, 000 से 120, 000 तक होगा भुगतान

नियोजित शिक्षकों के वेतन के लिए 94 अरब की स्वीकृति सभी तरह के एरियर 70, 000 से 120, 000 तक होगा भुगतान

पटना ।कैबिनेट की बैठक में समग्र शिक्षा अभियान के तहत सरकार ने नियोजित शिक्षकों के वेतनमान मद में वित्तीय वर्ष 2022-23 राज्य योजना मद से 94 अरब 40 लाख की राशि स्वीकृत की गयी. इससे पंचायती राज संस्थाओं और नगर निकाय संस्थाओं में कार्यरत शिक्षकों, उत्क्रमित मध्य विद्यालय में जिला शिक्षा संवर्ग के स्नातक प्रशिक्षित वेतनमान के शिक्षकों और प्रधानाध्यापकों के पद पर कार्यरत दो लाख • 64 हजार 620 शिक्षकों को वेतनमान दिया जायेगा. एस सिद्धार्थ ने बताया कि केंद्रांश मद में पीएबी की बैठक में स्वीकृत राशि के अनुरूप राशि नहीं जारी होने से राज्य योजना मद में यह राशि मंजूर की गयी है।

पिछड़ा वर्ग कन्या आवासीय स्कूल के लिए 1365 पद मंजूर
कैबिनेट ने पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग के तहत संचालित 12 और प्रस्तावित 27 कुल 39 अन्य पिछड़ा वर्ग कन्या आवासीय प्लस टू उच्च विद्यालय के लिए 1092 शैक्षणिक पद और 273 गैर शैक्षणिक पद कुल 1365 पदों के सृजन की स्वीकृति दी गयी।

यह भी पढ़ें - सरकारी कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर, 8वां वेतन आयोग होगा लागू! सैलरी में होगा इजाफा जान ले कितना होगा

नियम को ताक पर रख बीईओ को मिला अतिरिक्त प्रभार।

1)जिला शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति ने कहा पड़ोस बीईओ को मिलना था प्रभार।

2)अररिया प्रखंड का प्रभार नियमतः सीमावर्ती प्रखंड जोकीहाट या रानीगंज के बीईओ को मिलना था।

अररिया। जिला शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के संयोजक अब्दुल कद्दूस ने प्रेस कांफ्रेंस कर आरोप लगाया कि नियमों को ताक पर रखकर बीईओ को अतिरिक्त प्रभार मिला है। नियम ये है कि बगल वाले बीईओ को ही अतिरिक्त प्रभार दिया जाय लेकिन ऐसा नहीं किया गया है। अररिया प्रखंड का प्रभार नियमतः सीमावर्ती प्रखंड जोकीहाट या रानीगंज बीईओ को मिलना था। मगर नियम को ताक पर रखकर नरपतगंज के बीईओ को दूसरे अनुमंडल से अररिया प्रखंड का बी ई ओ का अतिरिक्त प्रभार दिया जाना कहां तक सही है।

यह भी पढ़ें - राज्य के लाखों शिक्षकों ने हस्ताक्षर अभियान कर दिया शुरू समान वेतन पुरानी पेंशन राज्य कर्मी दर्जा को लेकर

अन्य प्रखंडों में इसी तरह की अनियमितता बरती गई है। नरपतगंज के प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी को एक प्रखंड पारकर अररिया प्रखंड प्रभार दिया गया है एवं जोकीहाट के बीईओ को एक प्रखंड पलासी को पारकर सिकटी और कुर्साकांटा का प्रभार दिया गया है। फारबिसगंज बीईओ का प्रभार पास के रानीगंज बीईओ को ना देकर भरगामा बीईओ को दिया गया है जो विभागीय नियमों व आदेशों का खुल्लम-खुल्ला उल्लंघन है। जिला शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के अध्यक्ष मंडल सदस्य प्रशांत कुमार, जाफर रहमानी, साबिर आलम, आशिष कुमार, आफताब फिरोज, अब्दुल गनी, पिंटू कुमार सिंह आदि ने भी शिक्षा विभाग के आदेश को गलत ठहराया है। वहीं डीईओ राज कुमार ने बताया कि बहुत सोच समझकर अतिरिक्त प्रभार दिया गया है। आरोप निराधार है।

यह भी पढ़ें - 19 वर्षों के बाद नई सरकार में पुराने शिक्षकों की तरह नियोजित शिक्षकों को मिलेगी शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहर

12 से होगी 8वीं तक की अर्द्धवार्षिक परीक्षा।

1) शिक्षा विभाग ने बढ़ाई परीक्षा की तारीख, पहले 19 सितंबर से होनी थी

2)अर्द्धवार्षिक परीक्षा को लेकर शुरू की तैयारी, दो पालियों में होगी परीक्षा।

बेतिया, बेतिया कार्यालय सरकारी विद्यालयों में पहली से आठवीं तक के छात्र छात्राओं की अर्द्धवार्षिक परीक्षा (मूल्यांकन) 12 अक्टूबर से शुरू होगी। बिहार शिक्षा परियोजना परिषद के निदेशक असंगबा चुबां आओ ने परीक्षा का रुटिन जारी कर दिया है।
यह परीक्षा 12 अक्टूबर से लेकर 18 अक्टूबर तक दो पालियों में होगी। पहले यह परीक्षा 19 सितंबर से निर्धारित थी, लेकिन विभाग ने पर्व त्योहार के कारण अवकाश को देखते हुए बदलाव कर दिया है। पहली पाली की परीक्षा सुबह 10 से 12 बजे तक और दूसरी पाली की परीक्षा एक से तीन बजे तक होगी।

यह भी पढ़ें - शिक्षा विभाग के सचिव असंगबा चुबा आओ 80 हजार सरकारी स्कूलों के लिए अर्धवार्षिक परीक्षा से पहले जारी किया निर्देश

हर दिन एक विषय की परीक्षा ली जाएगी। पहले दिन प्रथम पाली में कक्षा तीन से आठवीं की सामाजिक विज्ञान और दूसरी पाली में छठी से आठवीं तक की विज्ञान की परीक्षा होगी। वहीं दूसरे दिन 13 अक्टूबर को तीन से आठवीं की राष्ट्रभाषा हिन्दी और दूसरी पाली में छठी से आठवीं तक संस्कृत विषय की परीक्षा होगी।
15 अक्टूबर को एक से पांचवी की भाषा विषय प्रथम पाली में और दूसरी पाली में छठी से आठवीं कक्षा तक भाषा विषय की परीक्षा होगी। 17 अक्टूबर को दोनो पाली में अंग्रेजी 18 अक्टूबर को दोनों पाली में गणित विषय की परीक्षा ली जायेगी। 19 से 22 अक्टूबर तक उत्तर पुस्तिका की जांच होगी। सात नवंबर को छात्र की प्रगति रिपोर्ट अभिभावक शिक्षक बैठक में बतायी जाएगी।

पहली कक्षा के छात्रों का होगा मौखिक मूल्यांकन : पहली कक्षा के छात्रों के लिए पांच सेट में मॉडल प्रश्न पत्र तैयार किये गये हैं। इनमें से किसी एक सेट का चयन वर्ग शिक्षक करेंगे। इन विद्यार्थियों का मौखिक मूल्यांकन होगा।


Buy Amazon Product