बड़ी खबरें

शिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगाशिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगा 2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा खुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूचीखुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूची प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएंप्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएं शिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसलाशिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसला सभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतानसभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतान

शिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसला

शिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसला

पटना : पुरानी पेंशन योजना सरकार अविलंब लागू करे। पुरानी पेंशन योजना नहीं लागू होने से शिक्षकों में आक्रोश बढ़ेगा। ये बातें मंगलवार को बिहार राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ अध्यक्ष बृजनंदन शर्मा, वरीय उपाध्यक्ष नूनुमणि सिंह, कार्यकारी अध्यक्ष मनोज कुमार, उपाध्यक्ष घनश्याम यादव एवं महासचिव नागेंद्र नाथ शर्मा एवं प्रवक्ता प्रेमचंद ने संयुक्त रूप से कहीं। उन्होंने कहा कि पुरानी पेंशन व्यवस्था शिक्षकों के लिए एक मजबूत आधार थी। सरकार ने उसे समाप्त कर दिया है। इससे शिक्षकों में असंतोष बढ़ते जा रहा है। उन्होंने कहा कि यह शिक्षा व्यवस्था एवं सरकार दोनों के लिए ठीक नहीं है। शिक्षकों के प्रयास से ही प्रदेश में शिक्षा व्यवस्था बेहतर की जा सकती है।

यह भी पढ़ें - सभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतान

जातीय जनगणना में लगे दो शिक्षकों की ठंड से मौत
पटना। बिहार में पड़ रही कड़ाके की ठंड के बीच 7 जनवरी से जातीय जनगणना शुरू है। लोगों की गिनती के लिए राज्य के टीचरों को लगाया गया है। कड़ाके की ठंड का सीधा असर सरकारी शिक्षकों पर पड़ रहा है। ठंड के कारण अब तक दो शिक्षकों की असमय मौत हो गयी है। जबकि एक टीचर की मृत्यु प्रशिक्षण लेने के दौरान ही हो गई थी। बताया जा रहा है कि इनमें एक शिक्षक मधुबनी और एक शेखपुरा जिले के हैं । जानकारी के अनुसार शेखपुरा जिले के गवय पंचायत के लोदीपुर गांव निवासी अंजनी शर्मा की मौत जाति आधारित जनगणना के कार्य के समय हुई है।

 

यह भी पढ़ें - 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों के लिए इसी सत्र से नए नियम हो गए लागू आज से हो गया प्रभावी

शिक्षकों के रिक्त पदों को भरने के मामले में कर्मचारी चयन आयोग को भी प्रतिवादी बनाएं : हाईकोर्ट
 पटना:
 पटना हाईकोर्ट ने राज्य के निःशक्त बच्चों के लिए बने विशेष विद्यालयों में शिक्षकों के रिक्त पदों को भरने के मामले पर सुनवाई करते हुए स्टाफ सेलेक्शन कमीशन को प्रतिवादी बनाने का निर्देश दिया। चीफ जस्टिस संजय करोल एवं जस्टिस पार्थ सारथी की खंडपीठ ने राज कुमार रंजन की लोकहित याचिका पर सुनवाई करते हु उक्त आदेश दिया। याचिकाकर्ता के अधिवक्ता वृषकेतु शरण पांडेय ने कोर्ट को बताया कि 2014 में विज्ञापित पदों को अब तक नहीं भरा जा सका है, यह अपने आप में राज्य का उदासीन रवैया दर्शाता है। बता दें कि इस मामले में शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव ने हलफनामा दायर कर बताया था कि निःशक्त बच्चों से जुड़ी सभी परियोजनाएं तीन महीनों के भीतर कार्यरत हो जाएंगे। इसपर हाईकोर्ट ने शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव को हलफनामा दायर कर अपनी कार्य परियोजना बताने के लिए कहा है। इस मामले की अगली सुनवाई 14 फरवरी को होगी


Buy Amazon Product