बड़ी खबरें

हो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबितहो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबित 2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी मुख्यमंत्री का कार्यालय बिहार सरकार (जनसंपर्क कोपांग) से शिक्षकों के लिए प्रेस विज्ञप्ति जारी हो गई आखिरकार शिक्षकों को मिल ही गयामुख्यमंत्री का कार्यालय बिहार सरकार (जनसंपर्क कोपांग) से शिक्षकों के लिए प्रेस विज्ञप्ति जारी हो गई आखिरकार शिक्षकों को मिल ही गया शिक्षकों व प्रधानाध्यापकों के वेतन को 12.58 अरब जारी 15% वेतन बढ़ोतरी एरियर के साथ होगा भुगतानशिक्षकों व प्रधानाध्यापकों के वेतन को 12.58 अरब जारी 15% वेतन बढ़ोतरी एरियर के साथ होगा भुगतान शिक्षक नियुक्ति में फंसा पेच अब शिक्षकों को मिलेगी सीधा सेवा में प्रोन्नतिशिक्षक नियुक्ति में फंसा पेच अब शिक्षकों को मिलेगी सीधा सेवा में प्रोन्नति 72 हजार सरकारी स्कूलों के शिक्षकों को लिए शिक्षा निर्देशक  विशेष सामग्री की उपलब्धता कराई गई शिक्षक जान ले 72 हजार सरकारी स्कूलों के शिक्षकों को लिए शिक्षा निर्देशक विशेष सामग्री की उपलब्धता कराई गई शिक्षक जान ले

अपर मुख्य सचिव दीपक कुमार सिंह ने शिक्षकों को 31 जुलाई तक का समय दे दिया है जल्द करा ले।

अपर मुख्य सचिव दीपक कुमार सिंह ने शिक्षकों को 31 जुलाई तक का समय दे दिया है जल्द करा ले।

पटना। नयी राष्ट्रीय शिक्षा नीति के प्रावधानों के अनुपालन के लिए राज्य के सभी सरकारी एवं सरकारी सहायता प्राप्त स्कूल 'विद्यांजलि' से जुड़ेंगे। केंद्र की इस नयी पहल से स्कूलों समुदायिकएवं स्वैच्छिक भागीदारी बढ़ेगी।

शिक्षा विभाग के अपर मुख्यसचिव दीपक कुमार सिंह ने सभी सरकारी एवं सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों को केंद्र सरकार द्वारा विकसित 'विद्यांजलि' पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराने का निर्देश राज्य के सभी जिलों के जिला शिक्षा पदाधिकारियों को दिया है। इस बीच शिक्षा विभाग के अपर मुख्यसचिव दीपक कुमार सिंह ने बताया कि अब तक तकरीबन नौ हजार स्कूलों का 'विद्यांजलि' पर रजिस्ट्रेशन हो चुका है। अपर मुख्यसचिव दीपक कुमार सिंह के निर्देश के मुताबिक जिला शिक्षा पदाधिकारी शिक्षा विभाग के पदाधिकारियों के साथ विषय-वस्तु पर व्यापक समीक्षा के उपरांत सभी सरकारी एवं सरकारी सहायता प्राप्त विद्यालय 31 जुलाई तक 'विद्यांजलि' पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करायेंगे। यह सुनिश्चित करने के लिए जिला शिक्षा पदाधिकारियों द्वारा प्रखंड शिक्षा पदाधिकारियों एवं प्रखंड साधन सेवियों के बीच विद्यालयों का बंटबारा करते हुए न्यूनतम लक्ष्य निर्धारित किया जायेगा।

यह भी पढ़ें - बिहार सरकार अब TET परीक्षा नहीं लेगी अब जान ले सरकार शिक्षकों को ऐसे नौकरी देने जा रही है।

अपर मुख्यसचिव द्वारा जिला शिक्षा पदाधिकारियों को दिये गये निर्देश में कहा गया है कि 'विद्यांजलि' कार्यक्रम का व्यापक प्रचार - प्रसार कराया जाय। जिला शिक्षा पदाधिकारियों से यह भी कहा गया है कि जिला स्तर पर आहूत बैठकों एवं प्रखंड स्तर पर आहूत गुरुगोष्ठियों में एक एजेंडा के रूप में इस पर चर्चा की जाय, ताकि अधिक से अधिक हितधारकों की सहभागिता सुनिश्चित हो सके।

अपर मुख्यसचिव द्वारा जिला शिक्षा पदाधिकारियों को दिये गये निर्देश के मुताबिक सभी सरकारी एवं सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों की विद्यालय शिक्षा समिति अथवा स्कूल प्रबंधन एवं विकास समिति की बैठक में प्रत्येक स्कूल के द्वारा अपनी आवश्यकताओं का आगामी 31 अगस्त तक आकलन किया जायेगा एवं उसे हर हाल में आगामी पांच सितंबर या उसके पहले 'विद्यांजलि' पोर्टल पर अपलोड किया जायेगा।

यह भी पढ़ें - शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव ने सभी सरकारी स्कूलों के शिक्षकों को विद्यांजलि पोर्टल पर पंजीयन करना होगा पत्र हुआ जारी।

इसके साथ ही जिला स्तर पर इच्छुक व्यक्तियों, स्वयंसेवकों, स्वयंसेवी संस्थानों एवं संस्थानों को आमंत्रित कर उन्हें स्कूलों की आवश्यकताओं के आधार पर अपने योगदान के लिए पोर्टल पर प्रस्ताव अपलोड करने हेतु प्रोत्साहित किया जायेगा। योगदान के लिए प्राप्त प्रस्ताव पर संबंधित विद्यालय शिक्षा समिति अथवा स्कूल प्रबंधन एवं विकास समिति द्वारा त्वरित निर्णय लेते हुए उनका योगदान प्राप्त किया जायेगा।

आपको बता दूं कि ' विद्यांजलि' एक स्वयंसेवी प्रबंधन कार्यक्रम है, जो देश के नागरिकों, गैर आवासीय भारतीय, भारतीय मूल के व्यक्ति या देश में पंजीकृत कोई संगठन, संस्था, कंपनी या समूह को सरकारी और गैर सरकारी सहायता प्राप्त विद्यालयों में सुझायी गयी गतिविधियों में भाग लेकर सेवाएं प्रदान करने तथा निःशुल्क परिसम्पत्ति, सामग्री या उपकरण प्रदान करने को प्रोत्साहित करता है।

यह भी पढ़ें - अधिक गर्मी पड़ने के कारण बुधवार से सरकारी विद्यालय संचालन में हो गया परिवर्तन अब इतने बजे विद्यालय हो जाएंगे बंद।

एसटीईटी अभ्यर्थी को नौकरी दे सरकार

पटना। जाप के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादवने गर्दनीबागमें एसटीईटी अभ्यर्थी द्वारा आयोजित धरनेमें शामिल हुए। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार नौजवान विरोधी है । नोटबंदीके बाद युवाओं की स्थिति दयनीय हो गयी है । धर्मके आधारपर समाजको बांटा जा रहा है।

पप्पू यादवने कहा कि इतनी भीषण गर्मीमें एसटीईटी के छात्र धरने पर हैं । जन अधिकार पार्टी इन अभ्यर्थियों के साथ खड़ी है । हमारी मांग है कि एसटीईटी २०१९ के अभ्यर्थियों द्वारा अंकके आधार पर ३०६७५ मेरिट अभ्यर्थियों का नियोजन करें । माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिकमें केन्द्रीकृत तरीकेसे ऑनलाइन नियोजन किया जाए। जून २०२२ तक की रिक्तियों को जोड़ा जाए । बिहार के छात्रों को ही नियोजनमें मौका दिया जाए।


Buy Amazon Product