बड़ी खबरें

महाराष्ट्र के बाद अब राजस्थान और कर्नाटक में भी न्यू ईयर पर रहेगा नाइट कर्फ्यू; पार्टी करने पर रोक

महाराष्ट्र के बाद अब राजस्थान और कर्नाटक में भी न्यू ईयर पर रहेगा नाइट कर्फ्यू; पार्टी करने पर रोक

महाराष्ट्र के बाद अब राजस्थान और कर्नाटक में भी न्यू ईयर की पार्टी पर रोक लग गई है। इस दौरान तीनों राज्यों में नाइट कर्फ्यू लगा रहेगा। महाराष्ट्र में मंगलवार रात से ही नाइट कर्फ्यू लागू है। कर्नाटक में आज रात 10 बजे से लग जाएगा। राजस्थान में 31 दिसंबर की रात से एक जनवरी की सुबह 6 बजे तक सबकुछ बंद रहेगा।

राजस्थान सरकार ने कहा, 31 दिसंबर की रात 8 बजे से एक जनवरी की सुबह 6 बजे तक राज्य के सभी बड़े शहरों में नाइट कर्फ्यू लगा रहेगा। ये कर्फ्यू राज्य के सभी नगर निगम, नगर परिषद और एक लाख से अधिक आबादी वाले शहरों में लगेगा। इस दौरान किसी भी होटल, रेस्टोरेंट, रिसोर्ट, फार्म हाउस पर किसी भी तरह के कार्यक्रम या पार्टी का आयोजन नहीं होगा। आतिशबाजी करने और पटाखे बेचने पर भी रोक रहेगी। उधर, कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने कहा की नाइट कर्फ्यू बुधवार की रात से शुरू होकर 2 जनवरी तक जारी रहेगा। इसके बाद हालात का जायजा लेकर आगे के लिए फैसला लिया जाएगा। नाइट कर्फ्यू रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक लागू रहेगा।

महाराष्ट्र में फिर से खुलेंगे टूरिस्ट प्लेस

महाराष्ट्र सरकार ने राज्य में एक बार फिर से टूरिस्ट प्लेस खोलने का आदेश जारी कर दिया है। सभी जगहों पर कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पालन करना होगा। हालांकि ये टूरिस्ट प्लेस कंटेनमेंट जोन के बाहर ही खुलेंगे। इसके साथ वाटर स्पोर्ट्स, नौका विहार, पार्क, इंडोर एंटरटेनमेंट एक्टिविटी की भी मंजूरी मिल गई है।

केरल में हालात बिगड़ी

देश में कोरोना संक्रमण के मामले में अब केरल की हालत चिंता बढ़ा रही है। यहां हर दिन 5-6 हजार केस आ रहे हैं। यहां मंगलवार को भी 6049 मरीजों की पहचान हुई। यह कुछ दिन पहले तक टॉप पर चल रहे महाराष्ट्र के मामलों से लगभग दोगुना है। यहां मंगलवार को 3106 केस आए। केरल में अब 61 हजार एक्टिव केस हैं, जबकि महाराष्ट्र में 58 हजार। देश में मंगलवार को 23 हजार 880 केस आए और 27 हजार 32 मरीज ठीक हो गए। 329 की मौत हुई। इस तरह एक्टिव केस में 3498 की कमी आई। देश में अब तक 1 करोड़ 99 हजार केस आ चुके हैं। 96.62 लाख मरीज ठीक हो चुके हैं, जबकि 1.46 लाख की मौत हो चुकी है। कुल 2.87 लाख मरीजों का इलाज चल रहा है।


Buy Amazon Product