बड़ी खबरें

राज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दियाराज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दिया बेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहरबेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहर सरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धिसरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धि हो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबितहो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबित 2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी मुख्यमंत्री का कार्यालय बिहार सरकार (जनसंपर्क कोपांग) से शिक्षकों के लिए प्रेस विज्ञप्ति जारी हो गई आखिरकार शिक्षकों को मिल ही गयामुख्यमंत्री का कार्यालय बिहार सरकार (जनसंपर्क कोपांग) से शिक्षकों के लिए प्रेस विज्ञप्ति जारी हो गई आखिरकार शिक्षकों को मिल ही गया

आपत्तियों के निराकरण के बाद नियोजित शिक्षकों को मिलेंगे पे स्लिप डाटा अपलोड करने की समय-सीमा मैं हुआ परिवर्तन।

आपत्तियों के निराकरण के बाद नियोजित शिक्षकों को मिलेंगे पे स्लिप डाटा अपलोड करने की समय-सीमा मैं हुआ परिवर्तन।

पटना। पंचायतीराज एवं नगर निकाय शिक्षकों एवं पुस्तकालयाध्यक्षों के वेतन पुनरीक्षण के लिए हर जिले के जिला कार्यक्रम पदाधिकारी (स्थापना) द्वारा जिले में पदस्थापित शिक्षक एवं पुस्तकालयाध्यक्षों से संबंधित सूचनाएं पुनरीक्षण सॉफ्टवेयर में 14 जनवरी तक अपलोड किया जाना है।शिक्षा विभाग ने कहा है कि विभाग द्वारा पंचायतीराज ••एवं नगर निकाय शिक्षकों को 15 प्रतिशत वेतनवृद्धि दिये जाने के निर्णय के आलोक में शिक्षकों एवं पुस्तकालयाध्यक्षों के संशोधित वेतन निर्धारण के लिए एनआईसी के माध्यम से वेतन पुनरीक्षण सॉफ्टवेयवर का निर्माण किया गया है। जिला कार्यक्रम पदाधिकारी (स्थापना) द्वारा जिले में पदस्थापित शिक्षक एवं पुस्तकालयाध्यक्षों से संबंधित सूचनाएं पुनरीक्षण
सॉफ्टवेयर में अपलोड किये गये।

यह भी पढ़ें - नियोजित शिक्षक केलकुलेटर से बने वेतन निर्धारण को डाउनलोड कर गड़बड़ी होने पर आपत्ति दर्ज कर सकेंगे इस प्रकार।

विवरणी को शिक्षकों एवं पुस्तकालयाध्यक्षों के अवलोकन तथा उनसे आपत्ति या दावा प्राप्त करने हेतु उपलब्ध कराया जायेगा। शिक्षकों एवं पुस्तकालयाध्यक्षों से प्राप्त आपत्ति या दावा के निराकरण के उपरांत जिला शिक्षा पदाधिकारी द्वारा सॉफ्टवेयर के माध्यम से डिजीटली सिग्नड वेतन पुनरीक्षण प्रमाण पत्र जारी किया जायेगा, जिसे संबंधित शिक्षक पुस्तकालयाध्यक्ष डाउनलोड कर सकेंगे। यह सुविधा शिक्षकों के वेतन पुनरीक्षण में पारदर्शिता एवं एकरूपता लाने के लिए दी गयी है। इस सुविधा के माध्यम से उन्हें ससमय वेतन पुनरीक्षण प्रमाण पत्र उपलब्ध कराने तथा पुनरीक्षित वेतन भुगतान करने के लिए विभाग द्वारा यह प्रयास किया जा रहा है। चूंकि, 14 जनवरी तक कार्यालय द्वारा डाटा अपलोड किया जा रहा है, ऐसे में किसी भी जिले में डिजीटली सिग्नड वेतन पुनरीक्षण प्रमाण पत्र उपलब्ध नहीं कराया गया है।

यह भी पढ़ें - नियोजित शिक्षक केलकुलेटर से बने वेतन निर्धारण को डाउनलोड कर गड़बड़ी होने पर आपत्ति दर्ज कर सकेंगे इस प्रकार।

ग्रेड के अनुसार सूचना पट्ट पर लगाएं फोटो व सूचना।
बगहा | सभी सरकारी विद्यालय में शिक्षकों का चित्र होगा साथ ही उनके बारे जानकारी भी। ताकि विद्यालय में आने वाले अभिभावकों को शिक्षकों के बारे में विस्तृत जानकारी प्राप्त हो सके। इसमें फिसड्डी एचएम और शिक्षकों पर कार्रवाई की तलवार लटक गई है। शिक्षा विभाग के तरफ से इसको लेकर कवायद शुरू कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें - नियोजित शिक्षक केलकुलेटर से बने वेतन निर्धारण को डाउनलोड कर गड़बड़ी होने पर आपत्ति दर्ज कर सकेंगे इस प्रकार।

जिला कार्यक्रम पदाधिकारी समग्र शिक्षा राघवेन्द्र मणि त्रिपाठी ने सभी प्रखंड विकास पदाधिकारियो को पत्र भेजकर 24 घंटे के अंदर सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया है। उन्होंने अपने पत्र में स्पष्ट किया है कि जिला में मात्र 53 फीसदी ही विद्यालयों में शिक्षकों की तस्वीर और परिचय को सूचनापट्ट पर लगाया गया है। बाकी के 47 फीसदी ने यह काम नहीं किया है। इसलिए सभी को समय से भ्रमण कर फोटो और परिचय लगवाने का निर्देश दिया है। उन्होंने किया है कि जिले के 2663 विद्यालयों में से महज 1409 में ही फोटो व परिचय लगाया जा सका है। बाकी विद्यालयों को 24 घंटे का समय दिया गया है। बगहा दो प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी फणीश चन्द्र पाठक और बीआरपी शैलेन्द्र कुमार ने बताया कि बगहा दो प्रखंड में करीब करीब काम पूरा हो चुका है। जो बाकी है उसको हर हाल में समय पूरा कर लेने का निर्देश दिया गया है।


Buy Amazon Product