बड़ी खबरें

सभी स्कूल के शिक्षक सतर्क हो जाएं क्योंकि स्कूलों पर शिक्षा विभाग के पदाधिकारियों द्वारा प्राथमिकी दर्ज होना शुरू हो गया है।

सभी  स्कूल के शिक्षक  सतर्क हो जाएं  क्योंकि  स्कूलों पर शिक्षा विभाग के पदाधिकारियों द्वारा प्राथमिकी दर्ज होना शुरू हो गया है।

दाउदनगर/औरंगाबाद/सं.। निजी स्कूलों के खिलाफ प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी रविंद्र कुमार सिंह द्वारा दाउदनगर थाना में प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है।दर्ज प्राथमिकी में बीईओ ने कहा है कि शनिवार को ज्ञान गंगा इंटर स्कूल अमृत बिगहा और पारामाउंट साइंस इंटर स्कूल पचकठवा का औचक निरीक्षण क्रमशः 10 बजे और 10:30 बजे किया गया निरीक्षण के क्रम में पांचवी से आठवीं कक्षा तक संचालन हो रहा था। एक कमरे में 60 से 70 छात्रों को बैठाया गया था। मास्क का उपयोग नहीं किया जा रहा था।

नियोजित व संविदा कर्मियों को मिलेगी अब और बेहतर सुविधाएं पाठ्यक्रम में परिवर्तन उपमुख्यमंत्री : तारकिशोर प्रसाद।

 

साफ- सफाई एवं सेनीटाइजर नहीं था। कक्षा संचालन के दौरान सभी वर्गों के खिडकिया एवं दरवाजे बंद थे। प्राथमिकी में कहा गया है कि जांच के क्रम में निम्न वर्ग के बच्चों से पूछने पर नवीं कक्षा का छत्र बताया गया, जो शिक्षकों के द्वारा झूठ बोलने के लिये प्रेरित किया हुआ पाया मया है। प्राथमिकी में कहा गया है कि दोनों निजी शिक्षण संस्थानों ने कोविड-19 के प्रावधानों का उल्लंघन किया है। पुलिस द्वारा भादवि की विभिन्न धाराओं के अलावे तीन महामारी नियंत्रण अधिनियम 1897 के तहत प्राथमिकी दर्ज की गयी है। थानाध्यक्ष अरविंद कुमार गौतम ने बताया कि प्राथमिकी दर्ज कर मामले की छानबीन की जा रही है।

37 दिन हड़ताल अवधि के वेतन भुगतान पर लगे संकट के बादल हटे एकमुश्त वेतन का होगा भुगतान।

प्रायोगिक परीक्षा सामग्री आज जमा नहीं करने वाले केंद्राधीक्षक नपेंगे

पटना। इंटरमीडिएट प्रायोगिक परीक्षा की गोपनीय सामग्री सोमवार को नहीं सौंपने वाले प्रायोगिक परीक्षा केंद्रों के केंद्राधीक्षकों काररवाई होगी। राज्य में इंटरमीडिएट की प्रायोगिक परीक्षा नौ जनवरी से शुरू होकर 18 जनवरी को समाप्त हो चुकी है। प्रायोगिक परीक्षा केंद्रों के केंद्राधीक्षकों द्वारा प्रायोगिक परीक्षा की गोपनीय सामग्री 21 जनवरी से 22 जनवरी तक की अवधि में हर जिले के जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय में बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के कर्मियों को उपलब्ध करानी थी।

 

बावजूद, कतिपय प्रायोगिक परीक्षा केंद्रों द्वारा उपलब्ध नहीं करायी गयी है। इसे गंभीरता से लेते हुए बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने 25 जनवरी तक अनिवार्य रूप से प्रायोगिक परीक्षा की गोपनीय सामग्री जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय में समिति के कर्मियों को उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है। ऐसा नहीं करने वाले प्रायोगिक परीक्षा केंद्रों के केंद्राधीक्षकों पर अनुशासनिक काररवाई होगी। इस बाबत समिति द्वारा जिला शिक्षा पदाधिकारियों को निर्देश दिये गये हैं ।

पंचायतीराज व नगर निकाय नियोजित शिक्षकों ने नियुक्ति की तिथि से ईपीएफ का मिलेगा लाभ।

 

च्वाइस फिलिंग की प्रक्रिया समाप्त

पटना । औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान प्रतियोगिता प्रवेश परीक्षा 2020 में सफल स्टूडेंट्स ने 24 जनवरी तक अपना च्वाइस फिलिंग किया। बिहार संयुक्त प्रवेश प्रतियोगिता परीक्षा पर्षद (बीसीइसीइबी) की ओर से रजिस्ट्रेशन व च्वाइस फिलिंग की प्रक्रिया समाप्त हो गयी। आईटीआई के 25235 सीटों पर एडमिशन के लिए फर्स्ट राउंड का प्रोविजनल सीट एलॉटमेंट 29 जनवरी को जारी कर दिया जायेगा ।


Buy Amazon Product