बड़ी खबरें

शिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगाशिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगा 2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा खुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूचीखुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूची प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएंप्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएं शिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसलाशिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसला सभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतानसभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतान

राज्य में एचएम पद पर नियोजित शिक्षकों के प्रोन्नति से ही हो नियुक्ति।

राज्य में एचएम पद पर नियोजित शिक्षकों के प्रोन्नति से ही हो नियुक्ति।

बिहार राज्य प्रारंभिक शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष श्री प्रदीप कुमार पप्पू के आह्वान पर नियोजित शिक्षकों की विभिन्न मांगों को लेकर जिला मुख्यालय में शनिवार को धरना दिया। धरना को संबोधित करते हुए संघ के जिलाध्यक्ष संजय कुमार यादव ने कहा कि प्रधानाध्यापक पद पर प्रोन्नति नियुक्त की जाम सरकार शिक्षकों के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है परीक्षा के आधार पर प्रधानाध्यापक पद पर नियुक्ति किया जाना शिक्षकों के साथ वादा खिलाफी है। जिला सचिव मोहम्मद अशफाक खान ने कहा कि शिक्षकों की ज्वलंत समस्याओं सर्वाधिक ससमय वेतन नहीं मिलने कारण शिक्षकों के समक्ष पारिवारिक भूखमरी छा गई है। वहीं धरना को संबोधित करते हुए संयुक्त सचिव विजय कुमारसिंह व संगीता कुमारी ने अपने संबोधन में अप्रशिक्षित शिक्षिकाओं का मेनप्रैल 2021 मे 15 प्रतिशत बढ़ोत्तरी के साथ देने तथा प्रधानाध्यापक पद पर नियुक्ति के लिए परीक्षा की अधिसूचना वापस लेने की मांग जिलाधिकारी के माध्यम से सरकार से की गई।

 

 

यह भी पढ़ें - शिक्षकों ने अवकाश में परिवर्तन के लिए विभाग से किया मांग जाने कब मिलेगा अवकाश,एक्शन में दिखे शिक्षा मंत्री।

 इस क्रम में मुख्यमंत्री बिहार सरकार पटना को अग्रसारण के लिए जिला अधिकारी खगड़िया को मांग पत्र समर्पित किया गया। घटना में सदर प्रखंड अध्यक्ष चंद्रशेखर यादव, प्रखंड अध्यक्ष अलौली कमल किशोर संयुक्त सचिव प्रखंड सचिव गोगरी र आनंद, मदन मोहन कुमार, सुधाकर बिहार राज्य प्रारंभिक शिक्षक सम पटेल, हीराकुमार, ललन कुमार, सुमन धर्मवीर कुमार, सुनील कुमार, किशोर भारती, कुमार कृष्णकांत, रामविलास पासवान, भंजय कुमार, प्रशांत सिंह, राजेश कुमार, सीमा कुमारी, सुभद्रा कुमारी, किशोर कुमार सुमन कुमार संदेश, मोहम्मद रियाज मुरारी कुमार, बेबी कुमारी, अरुण कुमार यादव कुमार, संजीव कुमार, उज्य शर्मा, मनोज सिंह मुकेश कुमार, गजाधर कुमार, सुनील कुमार, नगीन कुमार, विनय कुमार, राकेश कुमार और अरुण यादव सहित सैकड़ों शिक्षक शिक्षिकाएं उपस्थित थीं।

सरकार के खिलाफ शिक्षक ने निकाला सत्याग्रह मार्च। 
खगड़िया :
प्रदेश इकाई के आस्थान पर जिला एसटीईटी इकाई द्वारा शनिवार को समार्च निकाला गया। जिसमें सरकार की दोहरी नीति और शिक्षक विरोधी नीति के खिलाफ शिक्षकों ने आक्रोश प्रकट किया। कार्यक्रम के अध्यक्षीय संबोधन में टीईटी/एसटीइटी उत्तीर्ण नियोजित शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष हरी मोहन प्रसाद निराला ने कि प्रधानाध्यापक और प्रधान शिक्षक बनने के लिए जो सरकार द्वारा मापदंड निर्धारित किया गया वह ही गलत है। उन्होंने कहा कि 20 शिक्षक नियोजित हुए है वह एनसीटीई के सारे नियमों के साथ शिक्षक बने हैं। यह पीटी परीक्षा पास करके शिक्षक बने तो उनका एग्जाम प्रधानाध्यापक या प्रधान के लिए लेना बहुत ही साफ है। अगर शिक्षक और प्रधानाध्यापक की ।। परीक्षा के माध्यम से भी ली जा उसमें जो साल की सेवा शर्त करने की है समाप्त जाए। मौके पर जिला सचिव कुमार, वरीय उपाध्यक्ष कुमा अनुशासन समिति अध्यक्ष कुमार, बेलदौर प्रखंड अध्यक्ष प उमेश पासवान जितेंद्र कुमार कुमार, आशुतोष कुमा की रोशन, राजीव आदि थे।


Buy Amazon Product