बड़ी खबरें

शिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगाशिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगा 2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा खुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूचीखुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूची प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएंप्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएं शिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसलाशिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसला सभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतानसभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतान

कैबिनेट से मिली मंजूरी प्रारंभिक शिक्षकों को 10 साल 20 साल 30 साल वित्तीय उन्नयन का लाभ वेतन में होगी वृद्धि।

कैबिनेट से मिली मंजूरी प्रारंभिक शिक्षकों को 10 साल 20 साल 30 साल वित्तीय उन्नयन का लाभ वेतन में होगी वृद्धि।

स्कूलों के 62 हजार शिक्षकों को वेतन वृद्धि का मिलेगा लाभ।राजकीयकृत प्रारंभिक स्कूलों के कार्यरत सहायक शिक्षकों और प्रधानाध्यापकों को एमएसीपीएस 2010 के तहत 1 जनवरी 2009 के प्रभाव से वित्तीय लाभ शुक्रवार को राज्य कैबिनेट ने यह निर्णय लिया। इससे प्रारंभिक स्कूलों के लगभग 62 हजार नियमित सहायक शिक्षकों और प्रधानाध्यापकों को लाभ मिलेगा। इससे प्रारंभिक शिक्षकों को भी 10 साल, 20 साल और 30 साल में वित्तीय उन्नयन (वेतन वृद्धि) का लाभ मिलेगा।

यह भी पढ़ें - अब नहीं बंद होगा शिक्षकों का वेतन शिक्षा विभाग ने लिया अहम फैसला ऐसे मिलेंगे वेतन।

फिर अटक रही स्कूलों में 90762 शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया।
शिक्षक बहाली: विभाग ने निर्वाचन आयोग से पूछा तो मिला जवाब- कोर्ट का कोई आदेश है?
पटना:प्रारंभिक स्कूलों में 90762 शिक्षकों की बहाली एक बार फिर अटकती दिख रही 24 अगस्त से पंचायत चुनाव को लेकर आदर्श आचार संहिता लागू हो गई। दूसरे चरण के लगभग 1100 नियोजन इकाइयों की लगभग 10 हजार पदों के लिए एक लाख से अधिक अभ्यर्थियों के काउंसिलिंग का मामला अब भी उलझा हुआ है। शिक्षा विभाग ने राज्य निर्वाचन आयोग से अनुमति मांगी तो इस पर आयोग ने शिक्षा विभाग से जानकारी मांगी कि बहाली मामले पर न्यायालय का कोई आदेश है क्या? अब शिक्षा विभाग आयोग को जवाब भेज रहा है कि शिक्षक बहाली की प्रक्रिया 2019 से चल रही है।

यह भी पढ़ें - सरकारी कर्मचारियों को मिला बड़ा तोहफा, 45 हजार रुपये से बढ़कर 1.25 लाख हुई राशि।

चिट्ठी-पत्री में उलझी भर्ती
संभावना शिक्षा विभाग से पंचायती राज और अब निर्वाचन आयोग में घूम रहे सहमति मामले पर पत्राचार से संभावना है कि पंचायत चुनाव के बाद ही काउंसिलिंग प्रक्रिया पूरी हो ।
हकीकत सरकारी अधिकारी और कर्मचारी 8 पंचायत चुनाव में फंसे हैं। शिक्षा विभाग में ने पिछले दो चरणों में चयनित 38 हजार अभ्यर्थियों के प्रमाण पत्र की जांच 30 अक्टूबर तक पूरा करने का डेटलाइन तय कर दिया


Buy Amazon Product