बड़ी खबरें

 राज्य के नियोजित शिक्षकों को वरीयता को लेकर शिक्षा मंत्री मुख्यमंत्री अपर मुख्य सचिव का संयुक्त बयान जारी राज्य के नियोजित शिक्षकों को वरीयता को लेकर शिक्षा मंत्री मुख्यमंत्री अपर मुख्य सचिव का संयुक्त बयान जारी सुबे के लाखों शिक्षकों को मिलेगी बड़ी राहत शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव दीपक कुमार सिंह को मिलीसुबे के लाखों शिक्षकों को मिलेगी बड़ी राहत शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव दीपक कुमार सिंह को मिली शिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगाशिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगा 2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा खुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूचीखुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूची प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएंप्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएं

सरकारी स्कूलों के शिक्षकों और प्रधानाध्यापकों को कम से कम 2 कलास अनिवार्य मानक सूचकांक हुए लागू।

सरकारी स्कूलों के शिक्षकों और प्रधानाध्यापकों को कम से कम 2 कलास अनिवार्य मानक सूचकांक हुए लागू।

राज्य के सरकारी विद्यालयों के लिए शिक्षा विभाग ने जारी किया निर्देश कहा अब स्कूलों में शिक्षक व एचएम यानी प्रधानाध्यापक भी कम से कम दो क्लास अवश्य रूप से करेंगे

मानक सूचकांक निम्नलिखित है।

1) स्कूल का समय से खुलना और बंद होना सुनिश्चित होगा।

2) हर बच्चा व शिक्षक स्कूल अवधि में विद्यालय में उपस्थित हों मूल्यांकन निश्चित हो।

3) स्कूलों के चेतना सत्र में हर रोज बिहार राज्य प्रार्थना गीत, अभियान गीत, प्रेरक कहानियां सुनाई जाए।

4) सभी स्टूडेंट्स यूनिफॉर्म में ही स्कूल पहुंचे।

5) हर शिक्षक को कम से कम दो क्लास मिले।

6) हर रोज बच्चों को होमवर्क दिया जाए और अगले दिन इसका।

7) बच्चों के शैक्षिक स्तर की जानकारी व उसका रिकॉर्ड रखा जाए।

8) स्कूल के हर शिक्षक ब्लैकबोर्ड का इस्तेमाल करें।

यह भी पढ़ें - शिक्षा विभाग के अधिकारी ने जारी किया निर्देश सरकारी स्कूल बनेंगे मॉडल स्कूल,सौंपी गई सूची।

अब सरकारी स्कूलों में शिक्षक से लेकर प्रधानाध्यापक तक को कम से कम दो क्लास लेना अनिवार्य होगा। स्कूल आने वाले बच्चों को रोज होमवर्क दिया जाएगा और अगले दिन इसका मूल्यांकन होगा। हर सप्ताह या महीने में बच्चों की प्रगति की समीक्षा भी की जाएगी। पहली कक्षा के बच्चों की पढ़ाई विशेष रूप से कराई जाएगी। इसमें विशेष शिक्षक को ही पूर्ण रूप से इसकी जिम्मेदारी दी जाएगी। जिले के 3 हजार से अधिक स्कूलों में गुणवत्ता शिक्षा कार्यक्रम के तहत मानक सूचकांक तैयार किया गया है।

यह भी पढ़ें - नियोजित शिक्षकों के लिए खुशखबरी इसी माह में 15% बढ़े हुए वेतन एवं एरियर के साथ 75,000 से 1,50,000 तक का होगा भुगतान

इसका पालन हर स्कूल को करना अनिवार्य होगा। शिक्षकों को भी हर रोज पाठ टीका बनाना होगा, इसे स्कूल में भी रखा जाएगा। बीईपी के गुणवत्ता शिक्षा संभाग प्रभारी सुजीत कुमार ने बताया कि गुणवत्ता शिक्षा कार्यक्रम के तहत तैयार सभी इंडिकेटर का पालन स्कूलों में करना अनिवार्य है। नियमित रूप से अब जिला शिक्षा विभाग के अधिकारियों के साथ-साथ बीईओ समेत संभाग प्रभारी स्कूलों का निरीक्षण करेंगे। लापरवाही बरतने पर एचएम के खिलाफ विभागीय कार्रवाई होगी।

यह भी पढ़ें - शिक्षा विभाग ने प्राथमिक मध्य माध्यमिक विद्यालय के लिए जारी किया दिशा निर्देश 20 बिंदुओं के अनुसार विद्यालयों का होगा संचालन।

 

केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा में नहीं होगी निगेटिव मार्किंग।

सीटीईटी परीक्षा की तैयारी में जुटे अभ्यर्थियों के लिए बड़ी राहत की खबर है। 16 दिसंबर से शुरू हो रही केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा 2021 में निगेटिव मार्किंग नहीं होगी। ऐसे में अभ्यर्थी सभी प्रश्नों को हल कर सकते हैं। हालांकि, अगर उनका जवाब गलत भी होता है तो इसके लिए परीक्षा में कोई अंक काटे नहीं जाएंगे। ऐसे में स्टूडेंट्स को गलत जवाब देने से उन्हें कोई नुकसान नहीं उठाना पड़ेगा, इसलिए छात्र छात्राओं को सलाह दी जाती है कि वह परीक्षा में किसी भी प्रश्न को छोड़े नहीं, बल्कि सभी प्रश्नों को ध्यान से पढ़कर उनका आंसर दें दे। हर एक सवाल के लिए 01 अंक निर्धारित है। काशी गौरव इंस्टीट्यूट के निदेशक आकाश सर ने बताया कि बताया कि सीटीईटी परीक्षा दिसंबर से 13 जनवरी 2022 तक दो पालियों में आयोजित होनी है। पहली शिफ्ट सुबह 9.30 बजे से दोपहर 12 बजे तक और दूसरी शिफ्ट दोपहर 2.30 बजे से शाम 5 बजे तक आयोजित की जाएगी। सीबीएसई 20 भाषाओं में सीटीईटी एग्जाम आयोजित करेगा। परीक्षा में मल्टीपल चॉइस क्वेश्चन होंगे। उन्होंने बताया कि सीटीईटी एग्जाम 2021 ऑनलाइन मोड में आयोजित किया जाएगा और प्रश्न पत्र हिंदी और अंग्रेजी में दोनों मीडियम में होंगे। एडमिट कार्ड जारी होने के बाद उसकी प्रिंटआउट के साथ-साथ एक पहचान पत्र जैसे वोटर आईडी कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस सहित अन्य डॉक्यूमेंट्स को साथ लेकर जाना होगा। इसके साथ ही परीक्षा में कोविड-19 प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन किया जाएगा।


Buy Amazon Product