बड़ी खबरें

हो जाएं सावधान नियोजित शिक्षकों को अनुपस्थित बताकर बर्खास्तगी की कार्रवाई की जा रही है।

हो जाएं सावधान नियोजित शिक्षकों को अनुपस्थित बताकर बर्खास्तगी की कार्रवाई की जा रही है।

1) छह का बगैर सूचना के अनुपस्थित रहने का बनाया गया आधार
2) बीडीओ ने की कार्रवाई

प्रशासन ने प्रखंड क्षेत्र के आठ नियोजित शिक्षकों को सेवा से मुक्त कर दिया है. प्रखंड विकास पदाधिकारी के कार्रवाई से नियोजित शिक्षकों में हड़कंप मचा हुआ है. सेवा मुक्त होने वाले शिक्षकों में मध्य विद्यालय कुशहीं की चंदा कुमारी, मध्य विद्यालय भूमि के राहुल कुमार सिंह, मध्य विद्यालय कोईरिया के ब्रजेश कुमार सिंह, मध्य विद्यालय तेनुअज के दीपक कुमार, मध्य विद्यालय जगदीशपुर के मिथिलेश कुमार, मध्य विद्यालय बलिया की आरती कुमारी, मध्य विद्यालय चिल्हरुआं की सीमा प्रसाद व प्राथमिक विद्यालय भैंसड़ा की अनारकली देवी शामिल हैं.

सावधान हो जाएं नियोजित शिक्षकों को नोटिस भेजना जारी हो गया।

इस संबंध में बीडीओ संजय कुमार दास में बताया कि मध्य विद्यालय कुशहीं की शिक्षिका चंदा कुमारी का इंटरमीडिएट प्रमाणपत्र व प्राथमिक विद्यालय भैंसड़ा की शिक्षिका अनारकली देवी का इंटर अंकपत्र की जांच करने के बाद फर्जी पाया गया, इसके आधार पर इन दोनों शिक्षिकाओं को सेवा मुक्त कर दिया गया है.

स्पष्टीकरण का नहीं दिया जवाब

अनारकली देवी को पंचायत नियोजन समिति ने बर्खास्त किया है. उन्होंने बताया कि शेष सभी शिक्षक 2015 से ही बगैर कोई सूचना के अनुपस्थित रह रहे थे. फोन पर अनुपस्थित रहे शिक्षकों से बार-बार स्पष्टीकरण मांगने के बाद भी जवाब नहीं दिया जा रहा था. बीडीओ ने बताया कि प्रखंड नियोजन समिति ने गत आठ जनवरी 21 को बैठक में लिये गये निर्णय के आलोक में सचिव प्रखंड नियोजन समिति के द्वारा पत्र जारी कर 11 जनवरी 2021 को सेवा समाप्त कर दिया गया. बर्खास्त किये गये शिक्षकों से वेतनमद में ली गयी राशि की भी वसूली की जायेगी. उक्त कार्रवाई को शिक्षकों पर की गयी सबसे बड़ी कार्रवाई मानी जा रही है.


Buy Amazon Product