बड़ी खबरें

 राज्य के नियोजित शिक्षकों को वरीयता को लेकर शिक्षा मंत्री मुख्यमंत्री अपर मुख्य सचिव का संयुक्त बयान जारी राज्य के नियोजित शिक्षकों को वरीयता को लेकर शिक्षा मंत्री मुख्यमंत्री अपर मुख्य सचिव का संयुक्त बयान जारी सुबे के लाखों शिक्षकों को मिलेगी बड़ी राहत शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव दीपक कुमार सिंह को मिलीसुबे के लाखों शिक्षकों को मिलेगी बड़ी राहत शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव दीपक कुमार सिंह को मिली शिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगाशिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगा 2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा खुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूचीखुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूची प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएंप्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएं

सरकारी विद्यालय में प्रवेश अथवा उपस्थिति पंजी में हस्ताक्षर दर्ज करने को लेकर शिक्षा विभाग के अधिकारी ने जारी किए नए निर्देश जरूर जान ले।

सरकारी विद्यालय में प्रवेश अथवा उपस्थिति पंजी में हस्ताक्षर दर्ज करने को लेकर शिक्षा विभाग के अधिकारी ने जारी किए नए निर्देश जरूर जान ले।

1) शिक्षकों के कार्यरत अवधि के वेतन को शिक्षा विभाग सख्त।

2) 26 तक लिये जायेंगे सर्टिफिकेट कि एक भी मामला लंबित नहीं।

3) हर जिले में स्थापना - डीपीओ बनाये गये नोडल अफसर।

पटना। राज्य में शिक्षकों को कार्यरत अवधि का वेतन भुगतान हर हाल में सुनिश्चित करने को लेकर शिक्षा विभाग द्वारा जिला शिक्षा पदाधिकारियों एवं जिला कार्यक्रम पदाधिकारियों (स्थापना) को सख्त हिदायत दी गयी है । इसके लिए हर जिले में जिला कार्यक्रम पदाधिकारी (स्थापना) नोडल अफसर बनाये गये हैं। हर जिले के नोडल अफसर 26 जुलाई तक शिक्षा  विभाग को सर्टिफिकेट देंगे कि एक भी शिक्षक का कार्यरत अवधि का वेतन बकाया नहीं है। यह निर्देश शिक्षा विभाग के अपर मुख्यसचिव दीपक कुमार सिंह द्वारा 22 जून को सीडब्ल्यूजेसी नंबर 7648/2020 में पटना उच्च न्यायालय द्वारा पारित अंतरिम आदेश के अनुपालन में जिला शिक्षा पदाधिकारियों एवं जिला कार्यक्रम पदाधिकारियों (स्थापना) को दिये गये हैं।

यह भी पढ़ें - 16 साल के बाद राज्य के सभी सरकारी स्कूलों में आ गया अब सबसे बड़ा मामला शिक्षक करे तो क्या करें सर सरकारी स्कूलों में मच गया हड़कंप।

निर्देश में जिला शिक्षा पदाधिकारियों एवं जिला कार्यक्रम पदाधिकारियों (स्थापना) से कहा गया है कि उच्च न्यायालय द्वारा पारित आदेश के अनुपालन में शिक्षकों के कार्यरत अवधि का वेतन भुगतान सुनिश्चित किया जाय। किसी भी कर्मी से कार्य लेने पर उसका वेतन भुगतान आवंटन के अभाव के अतिरिक्त किसी भी परिस्थिति में नहीं रोका जा सकता है। इसके लिए जिलान्तर्गत शिक्षकों के वेतन भुगतान अथवा सेवा संबंधी मामले के निष्पादन हेतु जिला कार्यक्रम पदाधिकारी (स्थापना) नोडल पदाधिकारी होंगे।

यह भी पढ़ें - सरकार ने सभी कर्मचारियों के साथ-साथ शिक्षकों को दिया खुशखबरी अब DA 3% की जगह 5.5% का DA में होगा बढ़ोतरी लिया गया बड़ा फैसला।

नोडल पदाधिकारी का यह दायित्व होगा कि जिला में कैंप के लिए निर्धारित तिथि (प्रत्येक माह के प्रथम शनिवार) के अतिरिक्त भी किसी शिक्षक के वेतन भुगतान से संबंधित मामला प्रकाश में आता है, तो त्वरित संज्ञान लेते हुए निष्पादित किया जायेगा। जिला शिक्षा पदाधिकारियों एवं जिला कार्यक्रम पदाधिकारियों (स्थापना) को दिये गये निर्देश में अपर मुख्यसचिव दीपक कुमार सिंह ने कहा है कि कतिपय ऐसे मामले संज्ञान में आ रहे हैं कि शिक्षकों को प्राधिकार या उच्च न्यायालय द्वारा पारित आदेश के बावजूद विद्यालय में प्रवेश अथवा उपस्थिति पंजी में हस्ताक्षर दर्ज करने पर रोक लगायी जा रही है।

जब तक प्राधिकार या उच्च न्यायालय द्वारा पारित आदेश के विरुद्ध सक्षम स्तर से स्टे या मोडिफिकेशन प्राप्त नहीं हो, तब तक किसी भी स्थिति में शिक्षकों को उपस्थिति बनाने अथवा कार्य करने से नहीं रोका जाय। इसके अलावा भी बिना कोई नियमानुसार अनुशासनिक काररवाई, निलंबन, अन्य विधिसम्मत लिखित आदेश के किसी भी शिक्षक को मौखिक आदेश के आधार पर विद्यालय में प्रवेश अथवा उपस्थिति पंजी में हस्ताक्षर दर्ज करने से नहीं रोका जा सकता है । यह अवैधानिक होगा।

यह भी पढ़ें - 12 वर्षों के बाद बेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नति वेतन वृद्धि के साथ शिक्षकों में खुशी की लहर।

सीटीइटी दिसंबर 2022 के लिए 20 जुलाई से आवेदन।

1)सीबीएसइ ने जारी की नोटिस, 19 अगस्त तक आवेदन लिया जायेगा।

2)परीक्षा 15 नवंबर से 16 दिसंबर तक होगी आयोजित।

सीबीएसइ ने सीटीइटी (सेंट्रल टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट) दिसंबर-2022 के लिए नोटिस जारी कर दी है. आवेदन की प्रक्रिया 20 जुलाई से शुरू होगी. यह परीक्षा सीबीटी (कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट) मोड में नवंबर और दिसंबर में आयोजित की जायेगी. सीबीएसइ की ओर से सीटीइटी के लिए जारी कार्यक्रम के अनुसार 20 जुलाई से 19 अगस्त तक ऑनलाइन आवेदन किया जा सकेगा. वहीं 21 अगस्त को शाम 5.30 बजे तक फीस जमा करने के लिए समय दिया गया है. जनरल व ओबीसी कैटेगरी के अभ्यर्थियों को एक पेपर के लिए एक हजार और दोनों पेपर के लिए 1200 रुपये जमा करने होंगे.. वहीं एससी, एसटी व दिव्यांग के लिए एक पेपर का 500 रुपये और दोनों पेपर का 600 रुपये फीस निर्धारित की गयी है. परीक्षा का आयोजन 15 नवंबर से 16 दिसंबर तक होगा।

बोर्ड की ओर से कहा गया है कि 20 जुलाई को परीक्षा से संबंधित सारी जानकारी सीटीइटी के आधिकारिक वेबसाइट पर अपलोड कर दी जाएगी. अभ्यर्थी आवेदन करने से पहले सभी विवरण को ठीक से पढ़ लेंगे.


Buy Amazon Product