बड़ी खबरें

छठ एवं दिवाली से पहले SSA एवं GOB मद के शिक्षकों की वेतन को लेकर आ गई बड़ी खबर

छठ एवं दिवाली से पहले SSA एवं GOB मद के शिक्षकों की वेतन को लेकर आ गई बड़ी खबर

बिहार प्रदेश प्रारंभिक शिक्षक संघ जिला इकाई मधुवनी के जिला अध्यक्ष मशकूर आलम ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सरकार से मांग कि के दीपावली और छठ पूजा से पहले सरकार वेतन भुगतान हेतु आवंटन सभी जिलों को यथा शिघ्र मोहैया कराये ताकि स समय शिक्षकों का वेतन भुगतान हो सके। उन्होंने कहा के नवम्बर के पहले सप्ताह में दीपावली और दूसरे सप्ताह में लोक आस्था का महापर्व छठ पूजा है। इन महत्वपूर्ण त्योहारों के देखते हुए वेतन के साथ डीपीई ऐरीयर का भुगतान दीपावली से पहले करने की मांग सरकार से की है, ताकि शिक्षक और उनके आश्रित दीपावली और छठ पर्व हर्षोल्लास के साथ मना सकें। दुगार्पूजा में अधिकांश जिलों में वेतन भुगतान नहीं हो सका जिससे शिक्षकों और उनके आश्रितों में निराशा व्याप्त रही। 

यह भी पढ़ें - 3.57 लाख शिक्षकों को 15% वेतन वृद्धि का लाभ वित्त विभाग से आने के बाद अब नए साल में मिलने की उम्मीद: अपर मुख्य सचिव

जिला प्रवक्ता सह जिला सचिव श्री अरविन्द नाथ झा ने कहा के मधुबनी जिले में दुगार्पूजा में SSA से आच्छादित शिक्षकों का वेतन भुगतान तो हुआ लेकिन GOB से आच्छादित शिक्षकों का वेतन भुगतान ट्रेजरी से पैसा हस्तांतरित नहीं होने के कारण नहीं हो सका जिससे शिक्षकों में पदाधिकारी के प्रति नाराजगी दिखाई दे रही है और नाराजगी भी स्वाभाविक है। जिला उपाध्यक्ष तकी अख्तर और जिला सचिव मो० एहसान ने कहा के डीपीई से प्रशिक्षित शिक्षक को प्रशिक्षित हुए करीब चार वर्ष होगए लेकिन अभी तक उनके अंतर वेतन का भुगतान नहीं हो सका, संघ के द्वारा डीपीई ऐरीयर भुगतान हेतु कई बार जिला शिक्षा पदाधिकारी मधुबनी को पत्र के माध्यम से लिखा गया है लेकिन पदाधिकारी के द्वारा कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया है। 

यह भी पढ़ें - 3.57 लाख शिक्षकों को 15% वेतन वृद्धि का लाभ वित्त विभाग से आने के बाद अब नए साल में मिलने की उम्मीद: अपर मुख्य सचिव

वहीं बेनीपट्टी प्रखण्ड अध्यक्ष श्री अखिलेश कुमार झा एवं रहिका प्रखण्ड अध्यक्ष श्री श्रवण कुमार राय ने कहा है के नव प्रशिक्षित शिक्षकों ने जनवरी-2019,31 मार्च 2019 और 22 मई 2019 में ही प्रशिक्षण प्राप्त कर लिया है लेकिन दो सालों से विभाग के द्वारा अंतर राशि का भुगतान नहीं किया गया है जो खेद का विषय है। रहिका प्रखण्ड के प्रधान सचिव मो० सदरे आलम ने कहा के वेतन में 15% की वृद्धि की घोषणा का भी एक वर्ष होने जा रहा है लेकिन सरकार अभी तक कोई ठोस कदम नहीं उठायी है, सरकार हमेशा नियोजित शिक्षकों के साथ सौतेला व्यवहार करती रही है । सभी ने एक स्वर में सरकार से मांग के दीपावली और छठ पूजा को देखते हुए बकाया वेतन भुगतान हेतु सभी जिलों को आवंटन यथा शिघ्र मोहैया कराये ताकि स समय वेतन भुगतान हो सके।ॉं


Buy Amazon Product