बड़ी खबरें

शिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगाशिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगा 2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा खुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूचीखुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूची प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएंप्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएं शिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसलाशिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसला सभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतानसभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतान

बड़ी खुशखबरी: प्रारंभिक नियोजित शिक्षकों के वेतन को 836 करोड़ जारी, राशि मिली या नहीं पोर्टल से होगी मॉनिटरिंग।

बड़ी खुशखबरी: प्रारंभिक नियोजित शिक्षकों के वेतन को 836 करोड़ जारी, राशि मिली या नहीं पोर्टल से होगी मॉनिटरिंग।

पटना । राज्य में 66,104 पंचायतीराज एवं नगर निकाय प्रारंभिक शिक्षकों के वेतन के लिए 8,36,23,04,660 रुपये की राशि व्यय की स्वीकृति के साथ जारी हुई है । यह राशि वर्तमान वित्तीय वर्ष 2021-22 के द्वितीय चौमाही के लिए है। संविधान की धारा 21 (क) के तहत छह से चौदह आयु वर्ग के बच्चों के लिए मुफ्त प्रारंभिक शिक्षा उनका मौलिक अधिकार है। इसके मद्देनजर छह से चौदह आयु वर्ग के बच्चों को प्राथमिक शिक्षा उपलब्ध कराना राज्य की जिम्मेवारी है। राज्य सरकार द्वारा शिक्षक-छात्र अनुपात 1:40 करने तथा राज्य के सभी बच्चों को विद्यालय के अंदर लाने और उन्हें गुणवत्तापूर्ण शिक्षा उपलब्ध कराने के उद्येश्य से प्रारंभिक विद्यालयों में 3.23 लाख पंचायत, प्र खंड एवं नगर शिक्षकों का नियोजन किया गया है। इनके वेतन भुगतान के लिए विभिन्न नियोजन इकाइयों को राज्य सरकार एवं समग्र शिक्षा अभियान के अंतर्गत अनुदान की राशि दी जाती है । 3.23 लाख पंचायत, प्रखंड एवं नगर शिक्षकों मेंसे 66, 104 नगर, प्रखंड एवं पंचायत शिक्षकों का वेतनभुगतान राज्य सरकार की निधि से तथा शेष का वेतनभुगतान समग्र शिक्षा अभियान के मद से किये जाने का प्रावधान है।

यह भी पढ़ें - सूबे के 72 हजार प्रारंभिक विद्यालयों के लिए अपर मुख्य सचिव संजय कुमार ने जारी कर दिया निर्देश पत्र हुआ जारी।

राशि मिली या नहीं, पोर्टल से होगी मॉनीटरिंग

पटना । राज्य में सम्बद्ध डिग्री कॉलेजों के शिक्षक एवं शिक्षकेतर कर्मचारियों को राशि मिली या नहीं, इसकी पोर्टल से मॉनीटरिंग होगी। राज्य में तकरीबन 222 सम्बद्ध डिग्री कॉलेज हैं। सम्बद्ध डिग्री कॉलेजों को उसके छात्र-छात्राओं के श्रेणीवार रिजल्ट के आधार पर अनुदान राशि देने की व्यवस्था है। अनुदान राशि का भुगतान तय प्रावधानों के तहत शिक्षक कर्मियों को किया जाना है। इसके साथ ही आंतरिक स्त्रोत से प्राप्त होने वाली राशि का सत्तर फीसदी हिस्सा भी शिक्षक-कर्मियों के भुगतान पर खर्च किया जाना है। इसकी मॉनीटरिंग अब पोर्टल के माध्यम से होगी। शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी द्वारा हाल ही पोर्टल का शुभारंभ किया गया है। इसके साथ ही यह व्यवस्था की गयी है कि अनुदान की राशि सीधे संबंधित शिक्षक-कर्मियों के आधार लिंक बैंक खाते में हस्तांतरित की जाय। सरकार द्वारा मिलने वाली अनुदान राशि के लिए हर सम्बद्ध डिग्री कॉलेज का अलग खाता होगा।

यह भी पढ़ें - बिहार के इन स्कूलों में डेढ़ साल बाद रौनक दो अक्टूबर से खुलेंगे शिक्षक हो जाएं तैयार।

अनुदान राशि में से किन शिक्षक-कर्मी के खाते में कितनी राशि गयी, यह ब्योरा पोर्टल पर अपलोड करने की अनिवार्यता होगी अनुदान राशि का ऑडिट रिपोर्ट भी सम्बद्ध डिग्री कॉलेजों के लिए अनिवार्य किया गया है। इसके साथ ही कॉलेजों को घोषणा पत्र भी देना होगा कि अनुदान की राशि में आंतरिक स्त्रोत से प्राप्त आय का सत्तर फीसदी हिस्सा मिला कर शिक्षक कर्मियों को भुगतान किया गया है। उल्लेखनीय है कि सम्बद्ध डिग्री कॉलेज पाटलिपुत्र विश्वविद्यालय, मगध विश्वविद्यालय, वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय, जयप्रकाश मंडल विश्वविद्यालय, पूर्णिया विश्वविद्यालय, तिलका मांझी भागलपुर विश्वविद्यालय एवं मुंगेर विश्वविद्यालय के अधीन संचालित हैं। विश्वविद्यालय, बी. आर. ए. बिहार विश्वविद्यालय, ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय, कामेश्वर सिंह दरभंगा संस्कृत विश्वविद्यालय प्रबुद्ध जिला न्यायाधीश अदालत, बारासात,उत्तर 24 परगना, पश्चिम बंगाल राज्य प्रबुद्ध जिला न्यायाधीश अदालत, बारासात, उत्तर 24 परगना के समक्ष संदर्भ: वैवाहिक सूट संख्या 6312020 श्री मनीष कुमार पुत्र स्व. ओम प्रकाश, स्थायी पता: बीसी-81ए, द्वितीय तल, समरपल्ली, कृष्णापुर, थाना: बागुईहाटी, कोलकाता 700102, जिला: उत्तर 24 परगना

यह भी पढ़ें - शिक्षा विभाग ने निष्ठा प्रशिक्षण को लेकर प्रारंभिक स्कूलों के शिक्षकों के लिए कोषांग का गठन जान ले पूरी माजरा क्या है?

याचिकाकर्ता / पति - बनाम -श्रीमती पूनम कुमारी, पत्नी-मनीष कुमार, पुत्री स्व. रामोतर भगत, वर्तमान पता: एई 656, सेक्टर-1, साल्ट लेक, कोलकाता-700064, थानाः उत्तर बिधाननगर, जिला: उत्तर 24 परगना और स्थायी पता: सी/ओ: मनोज जायसवाल, चन्दन नगर, एनएच-31, बाईपास रोड, गुलाब बाग, पूर्णिया 854326, बिहार - ... प्रतिवादी / पत्नी ध्यान दें कि उपरोक्त नामित याचिकाकर्ता / पति मनीष कुमार ने आपके खिलाफ हिंदू विवाह अधिनियम, 1955की धारा 9 के तहत बारासात, उत्तर 24 परगना, पश्चिम बंगाल राज्य के प्रबुद्ध | जिला न्यायाधीश की अदालत में वैवाहिक अधिकारों की बहाली के लिए एक आवेदन दायर किया है। आप श्रीमती पूनम कुमारी को प्रतिवादी / पत्नी होने के नाते एतद्वारा निर्देश दिया जाता है कि आप बारासात, उत्तर 24 परगना, पश्चिम बंगाल राज्य के प्रबुद्ध जिला न्यायाधीश की अदालत में 20.12.2021 पूर्वाहन 10.30 बजे या तो व्यक्तिगत रूप से या आपके द्वारा नियुक्त अभिवक्ता / अधिवक्ता के माध्यम से उक्त तिथि को उपस्थित हों और याचिकाकर्ता / पति मनीष कुमार द्वारा की गई प्रार्थना पर यदि कोई हो तो अपनी आपत्ति दें


Buy Amazon Product