बड़ी खबरें

बड़ी खबर: नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति में पढ़ाई के साथ कमाई भी होगी: धर्मेंद्र प्रधान

बड़ी खबर: नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति में पढ़ाई के साथ कमाई भी होगी: धर्मेंद्र प्रधान

केंद्रीय शिक्षा, कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्री धमरेंद्र प्रधान ने कहा कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति से पढ़ाई के साथ कमाई भी होगी । कक्षा छह से 12 तक गणित, अंग्रेजी, हिंदी, भूगोल, विज्ञान, नागरिक शास्त्र के साथ ही व्यवसायिक शिक्षा भी दी जाएगी। इसके जरिये छात्र कमाई भी कर सकेंगे। उन्होंने यह बात रामपुर में हुनर हाट के शुभारंभ समारोह में कही। 16 अक्टूबर से 25 अक्टूबर के बीच चलने वाली हुनर हाट में देशभर के 700 दस्तकारों का हुनर देखने को मिलेगा। समारोह में केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि देश के अल्पसंख्यकों की स्थिति जानने के लिए सच्चर कमेटी का गठन किया गया था, जिसकी रिपोर्ट में उनकी हालत खराब पाई गई। इसके लिए वे लोग जिम्मेदार हैं, जिन्होंने पहले शासन किया। भाजपा सरकार ने तो अल्पसंख्यकों की बेहतरी के लिए बहुत कुछ किया है। हुनर हाट के जरिये तमाम हुनरमंदो को रोजगार के अवसर मुहैया कराए जा रहे हैं। उच्जवला योजना के तहत देशभर में आठ करोड़ से ज्यादा लोगों को गैस कनेक्शन दिए गए हैं। अकेले उत्तर प्रदेश में ही दो करोड़ से ज्यादा लोगों को लाभान्वित किया गया। इनमें 40 फीसदी अनुसूचित जाति के लोग हैं, जबकि 30 से 35 फीसद अल्पसंख्यक हैं। भाजपा सरकार ने बिना किसी भेदभाव के हर गरीब और कमजोर इंसान का भला किया है।

यह भी पढ़ें - 3.57 लाख शिक्षकों को 15% वेतन वृद्धि का लाभ वित्त विभाग से आने के बाद अब नए साल में मिलने की उम्मीद: अपर मुख्य सचिव

प्रशिक्षण के दो साल बाद भी 66 हजार शिक्षकों को प्रशिक्षित शिक्षक का नहीं मिल रहा वेतन।
पटना प्रशिक्षण पूरा होने के दो साल बाद भी राज्य के 66 हजार शिक्षकों को प्रशिक्षित का वेतन नहीं मिल रहा है। इस मामले पर शिक्षक संघों ने मुख्यमंत्री, शिक्षा मंत्री सहित अधिकारियों को पत्र भेजा है। शिक्षक संघों ने जिला स्तर के शिक्षा अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग भी की है, जिनके कारण शिक्षकों को दुर्गापूजा के पहले वेतन का भुगतान नहीं हो सका। परिवर्तनकारी शिक्षक महासंघ के प्रदेश कार्यकारी संयोजक नवनीत कुमार एवं प्रदेश संगठन महामंत्री शिशिर कुमार पांडेय ने कहा कि दुर्गापूजा में शिक्षकों को वेतन से वंचित रखना अधिकारियों की साजिश है। शिक्षक अस्मिता बचाओ अभियान समिति ने मुख्यमंत्री, शिक्षा मंत्री सहित विभागी अधिकारियों को पत्र भेज कर लगभग 66 हजार नव प्रशिक्षित शिक्षकों का बकाया राशि एरियर के साथ भुगतान करने की मांग की है। समिति के प्रदेश प्रतिनिधि शशि रंजन सुमन और आनंद कुमार मिश्रा ने पत्र में कहा है कि अप्रशिक्षित वहाल शिक्षकों ने 19 जनवरी 2019, 31 मार्च 2019 और 22 मई 2019 को ही प्रशिक्षण पूरा कर लिया है। इन शिक्षकों का वेतन निर्धारण भी प्रशिक्षित शिक्षक के रूप में हो चुका है। लेकिन प्रशिक्षित वेतनमान के हिसाब से बढ़ी राशि का भुगतान दो साल से अधिक समय से लंबित है। इस मद में जिलों से राशि का आकलन भी 22 फरवरी 2020 तक उपलब्ध करा दिया गया है।


Buy Amazon Product