बड़ी खबरें

नए साल में शिक्षकों के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दिए सबसे बड़ा खुशखबरी।

नए साल में शिक्षकों के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दिए सबसे बड़ा खुशखबरी।

1) बहाल होंगे 1.61 लाख स्कूली शिक्षक

2) 4638 असिस्टेंट प्रोफेसर की होगी नियुक्ति

3) मिडिल स्कूलों में बहाल होंगे शारीरिक शिक्षा अनुदेशक

4) हाई स्कूलों में नियत वेतन पर होगी शिक्षकेतरकर्मियों की बहाली

5) माध्यमिक शिक्षकों के 39 हजार और नये पदों के सृजन का प्रस्ताव

पटना। राज्य में नया साल नियुक्तियों का वर्ष होगा। नये वर्ष में लाखों शिक्षक एवं शिक्षकेतर कर्मचारियों की बहाली होगी। ये नियुक्तियां प्राइमरी स्कूलों से लेकर विश्वविद्यालयों तक में होंगी।

केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने  बैठक में निर्णय लिया कि चार मई से 10 जून तक सीबीएसई बोर्ड परीक्षाएं होगी छात्रों के हाथ में बड़ा फैसला

वर्ष की शुरूआत उन अभ्यर्थियों की बहाली से होगी, जो प्राइमरी-मिडिल स्कूलों में शिक्षकों के तकरीबन 94 हजार पदों के लिए नियुक्ति-पत्र बंटने का इंतजार कर रहे हैं । इन पदों पर नियुक्ति के लिए औपबंधिक मेधा सूची जारी हो चुकी है । इस पर ऑनलाइन आपत्तियां मांगने की अंतिम तिथि दो जनवरी है। आपत्तियों के निराकरण के बाद अंतिम मेधा सूची 10 जनवरी तक जारी होगी। उसके बाद काउंसलिंग एवं नियुक्ति पत्र बंटने की तिथि तय होगी।

नये सत्र में नहीं खुले क्लासरूम के ताले

दूसरी ओर 30 हजार माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक शिक्षकों की बहाली पटना हाई कोर्ट के आदेश के बाद होगी। दरअसल, इन शिक्षकों की बहाली की प्रक्रिया विधान सभा चुनाव के पहले अंतिम दौर में थी । चयनित अभ्यर्थियों को सिर्फ नियुक्ति पत्र बांटने की औपचारिकता भर बाकी थी। इसी बीच दिव्यांग अभ्यर्थियों के आरक्षण के लिए अभ्यर्थी कोर्ट चले गये। कोर्ट ने अंतिम फैसले तक नियुक्ति पत्र बांटने पर रोक लगा दी है।कोर्ट का आदेश आते ही बहाली की अटकी प्रक्रिया शुरू हो जायेगी। इसके साथ ही मिडिल' से ' प्लस-टू' बने ऐसे स्कूलों में भी 37 हजार 440 माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक शिक्षकों की नियुक्ति होनी है । इनमें में 25 हजार 270 पद माध्यमिक शिक्षकों के हैं, जबकि 12 हजार 170 पद उच्च नियुक्तियों का वर्ष होगा 

 

में 5054, विज्ञान में 5054, सामाजिकविज्ञान में 5054, हिंदी में 3000, संस्कृत में 1054 एवं उर्दू में 1000 पद हैं ।रही बात उच्च माध्यमिक शिक्षकों के पदों की तो, अंग्रेजी में 2125, गणित में 2104, भौतिकी में 2384, रसायनशास्त्र में 2221, प्राणिशास्त्र में 723, वनस्पतिशास्त्र में 835, मैथिली में 105 एवं कम्प्यूटर साइंस में 1676 पद हैं। इसके लिए माध्यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा (एसटीईटी) हो चुकी है ।माध्यमिक शिक्षकों की ही बात करें, तो 39 हजार और नये पदों के सृजन के भी प्रस्ताव हैं। पदों के सृजन होगये, तो इन पदों पर नियुक्ति के लिए भी माध्यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा ( एसटीईटी) होगी।मिडिल स्कूलों में शारीरिक शिक्षा एवं स्वास्थ्य अनुदेशकों की बहाली भी होनी है।

शारीरिक शिक्षा एवं स्वास्थ्य अनुदेशक पदों के लिए अभ्यर्थियों के चयन हेतु हुई परीक्षा में तकरीबन साढ़े तीन हजार अभ्यर्थी सफल हुए थे। ऐसे सभी अभ्यर्थी नियुक्ति का इंतजार कर रहे हैं। माना जा रहा है कि नयी नियमावली के तहत प्लस-टूस्कूलों में लाइब्रेरियन की नियुक्ति के लिए पात्रता परीक्षा भी नये साल में होगी । नयी नियमावली केतहत राजकीयकृत एवं प्रोजेक्टहाई स्कूलों में 15 हजार मासिकवेतन पर ' विद्यालय सहायक एवं 12 हजार मासिक वेतन पर ' विद्यालय अनुसेवी ' की बहाली भी नये साल में होगी।विद्यालय सहायकको तीन सौ रुपये एवं विद्यालय अनुसेवी को दो सौ रुपये की वार्षिक वेतन वृद्धि होगी। स्कूलों से इतर यूनिवर्सिटी-कॉलेजों में भी असिस्टेंट प्रोफेसर की बहाली की तैयारी है। इसके तहत राज्य के सभी 13 पारंपरिक विश्वविद्यालयों में 52 विषयों में 4,638 असिस्टेंट प्रोफेसर की नियुक्ति बिहार राज्य विश्वविद्यालय सेवा आयोग की अनुशंसा पर होनी है।इसके लिए आयोगद्वारा आवेदन लिये जा चुके हैं।


Buy Amazon Product