बड़ी खबरें

बड़ी खबर: नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति में पढ़ाई के साथ कमाई भी होगी: धर्मेंद्र प्रधानबड़ी खबर: नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति में पढ़ाई के साथ कमाई भी होगी: धर्मेंद्र प्रधान दिवाली से पहले कर्मचारियों ब शिक्षकों को मिल सकता है बंपर तोहफा 3 जगह से आएगा पैसा जान ले कैसे?दिवाली से पहले कर्मचारियों ब शिक्षकों को मिल सकता है बंपर तोहफा 3 जगह से आएगा पैसा जान ले कैसे? कैचअप कोर्स से बच्चों और शिक्षकों का 3 ग्रेड में होगा मूल्यांकन जाने विस्तार से उसके बाद शिक्षकों का क्या होने वाला है? कैचअप कोर्स से बच्चों और शिक्षकों का 3 ग्रेड में होगा मूल्यांकन जाने विस्तार से उसके बाद शिक्षकों का क्या होने वाला है? 3.57 लाख शिक्षकों को 15% वेतन वृद्धि का लाभ वित्त विभाग से आने के बाद अब नए साल में मिलने की उम्मीद: अपर मुख्य सचिव3.57 लाख शिक्षकों को 15% वेतन वृद्धि का लाभ वित्त विभाग से आने के बाद अब नए साल में मिलने की उम्मीद: अपर मुख्य सचिव प्रारंभिक विद्यालयों में प्रधान शिक्षक प्रधानाध्यापक पद का जिला भार हुआ आवंटन पत्र हुआ जारी।:प्राथमिक शिक्षा निर्देशकप्रारंभिक विद्यालयों में प्रधान शिक्षक प्रधानाध्यापक पद का जिला भार हुआ आवंटन पत्र हुआ जारी।:प्राथमिक शिक्षा निर्देशक शिक्षकों को बरगला रही सरकार 15 प्रतिशत की वेतन बढ़ोतरी स्थानांतरण एवं प्रोन्नति का भी मामला लटका। शिक्षकों को बरगला रही सरकार 15 प्रतिशत की वेतन बढ़ोतरी स्थानांतरण एवं प्रोन्नति का भी मामला लटका।

कैचअप कोर्स से बच्चों और शिक्षकों का 3 ग्रेड में होगा मूल्यांकन जाने विस्तार से उसके बाद शिक्षकों का क्या होने वाला है?

कैचअप कोर्स से बच्चों और शिक्षकों का 3 ग्रेड में होगा मूल्यांकन जाने विस्तार से उसके बाद शिक्षकों का क्या होने वाला है?

बच्चों ने क्या सीखा व शिक्षकों ने क्या सिखाया, तय करेगा परीक्षा का रिजल्ट।
1) नवम्बर में सरकारी स्कूल के बच्चों का इसके तहत किया जाना है मूल्यांकन।
2)बच्चों के रिजल्ट के आधार पर स्कूल की भी तय की जाएगी ग्रेडिंग।
3)तीन स्तर की होगी स्कूल और शिक्षकों की ग्रेडिंग।
डीईओ ने बताया कि बच्चों के मूल्यांकन के आधार पर स्कूल और शिक्षकों की भी तीन स्तर की ग्रेडिंग होगी। ए, बी और सी ग्रेड में इसे बांटा गया है। इससे यह तय होगा कि संबंधित स्कूल और शिक्षकों ने कैचअप कोर्स को लेकर किस तरह से जवाबदेही निभाई है। बच्चों के मूल्यांकन की मॉनिटरिंग डीपीओ सर्व शिक्षा अभियान करेंगे।
कैचअप कोर्स से बच्चों ने क्या सीखा और शिक्षकों ने क्या सिखाया, यह परीक्षा का रिजल्ट तय करेगा। इस रिजल्ट से न केवल बच्चों का मूल्यांकन होगा बल्कि इसके आधार पर शिक्षकों और स्कूल की भी ग्रेडिंग होगी।

यह भी पढ़ें - 3.57 लाख शिक्षकों को 15% वेतन वृद्धि का लाभ वित्त विभाग से आने के बाद अब नए साल में मिलने की उम्मीद: अपर मुख्य सचिव

सरकारी स्कूल के कक्षा दो से लेकर 10वीं तक के बच्चों के लिए सरकार ने तीन महीने का कैचअप कोर्स तैयार कराया है। कोरोना के कारण पढ़ाई में आए ब्रेक को पाटने के लिए यह कोर्स कराया जा रहा है। कैचअप कोर्स के आधार पर सरकारी स्कूल के बच्चों का मूल्यांकन कराने का आदेश दिया गया है। नवम्बर में बच्चों का इसके तहत मूल्यांकन होना है। बिहार शिक्षा परियोजना ने राज्यस्तरीय समीक्षा में इसको लेकर मुजफ्फरपुर समेत सभी जिले के डीईओ और डीपीओ समग्र शिक्षा अभियान को निर्देश जारी किया गया।
डीईओ अब्दुस्सलाम अंसारी ने बताया कि कैचअप कोर्स पिछली कक्षा में बच्चों की पढ़ाई के नुकसान की भरपाई के लिए बनाया गया है। सभी स्कूल को इससे संबंधित किताब
उपलब्ध कराई गई थी और शिक्षकों को इसे लेकर ट्रेनिंग भी दी गई थी। तीन महीने के कैचअप कोर्स से बच्चों ने क्या सीखा, इसका मूल्यांकन किया जाना है।

यू

यह भी पढ़ें - प्रारंभिक विद्यालयों में प्रधान शिक्षक प्रधानाध्यापक पद का जिला भार हुआ आवंटन पत्र हुआ जारी।:प्राथमिक शिक्षा निर्देशक

कृषि क्षेत्र में शोध को आइआइटी का न्यूकैसल विवि से समझौता।
पटना: भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आइआइटी), पटना अपने शोध क्षेत्र को और विस्तार देते हुए कृषि, विज्ञान एवं इंजीनियरिंग के लिए यूके के न्यूकैसल विवि के साथ समझौता किया है। इसके तहत दोनों विवि स्नातक के अपने-अपने विद्यार्थियों को एक्सचेंज कर शोध गतिविधियों की बारीकी को साझा करेंगे। आइआइटी ने यूनिवर्सिटी आफ न्यूकैसल अपॉन टाइन, यूके के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर कर दिया। इस समझौता का उद्देश्य उभरते क्षेत्रों में अत्याधुनिक अनुसंधान को बढ़ावा देने के लिए दोनों संस्थानों से जुड़े शोधकर्ताओं के भविष्य के जुड़ाव का समर्थन करना है। न्यूकैसल विश्वविद्यालय से, विज्ञान, कृषि और इंजीनियरिंग के संकाय इस समझौता ज्ञापन के तहत शामिल हैं। यह समझौता अनुसंधान कार्यक्रमों के आदान-प्रदान को बढ़ावा देगा। विभिन्न विषयों में नवीनतम विकास के माध्यम से छात्र और संकाय लाभान्वित होंगे। दोनों संस्थान अपने संकाय और प्रशासनिक कर्मचारियों, विभागों और अनुसंधान संस्थानों के बीच सीधे संपर्क और सहयोग को प्रोत्साहित करेंगे।


Buy Amazon Product