बड़ी खबरें

बड़ी खबर: नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति में पढ़ाई के साथ कमाई भी होगी: धर्मेंद्र प्रधानबड़ी खबर: नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति में पढ़ाई के साथ कमाई भी होगी: धर्मेंद्र प्रधान दिवाली से पहले कर्मचारियों ब शिक्षकों को मिल सकता है बंपर तोहफा 3 जगह से आएगा पैसा जान ले कैसे?दिवाली से पहले कर्मचारियों ब शिक्षकों को मिल सकता है बंपर तोहफा 3 जगह से आएगा पैसा जान ले कैसे? कैचअप कोर्स से बच्चों और शिक्षकों का 3 ग्रेड में होगा मूल्यांकन जाने विस्तार से उसके बाद शिक्षकों का क्या होने वाला है? कैचअप कोर्स से बच्चों और शिक्षकों का 3 ग्रेड में होगा मूल्यांकन जाने विस्तार से उसके बाद शिक्षकों का क्या होने वाला है? 3.57 लाख शिक्षकों को 15% वेतन वृद्धि का लाभ वित्त विभाग से आने के बाद अब नए साल में मिलने की उम्मीद: अपर मुख्य सचिव3.57 लाख शिक्षकों को 15% वेतन वृद्धि का लाभ वित्त विभाग से आने के बाद अब नए साल में मिलने की उम्मीद: अपर मुख्य सचिव प्रारंभिक विद्यालयों में प्रधान शिक्षक प्रधानाध्यापक पद का जिला भार हुआ आवंटन पत्र हुआ जारी।:प्राथमिक शिक्षा निर्देशकप्रारंभिक विद्यालयों में प्रधान शिक्षक प्रधानाध्यापक पद का जिला भार हुआ आवंटन पत्र हुआ जारी।:प्राथमिक शिक्षा निर्देशक शिक्षकों को बरगला रही सरकार 15 प्रतिशत की वेतन बढ़ोतरी स्थानांतरण एवं प्रोन्नति का भी मामला लटका। शिक्षकों को बरगला रही सरकार 15 प्रतिशत की वेतन बढ़ोतरी स्थानांतरण एवं प्रोन्नति का भी मामला लटका।

बिहार में शीतलहर से जनजीवन अस्त-व्यस्त, 23 तक कोल्ड डे का अलर्ट

बिहार में शीतलहर से जनजीवन अस्त-व्यस्त, 23 तक कोल्ड डे का अलर्ट

शीतलहर से सूबे में जनजीवन अस्त-व्यस्त है। अगले 48 घंटे तक यही स्थिति बनी रहेगी। मौसम विज्ञान केंद्र पटना ने अगले 24 घंटे तक राज्य के सभी शहरों में कोल्ड डे या कोल्ड वेव का अलर्ट जारी किया है। उसके बाद के 24 घंटे भी स्थिति में ज्यादा सुधार के आसार नहीं हैं। यानि अगले दो दिनों तक शीतलहर का प्रकोप राज्य के अधिकतर जिलों में दिखेगा। 

कहीं दिन का तापमान सामान्य से काफी नीचे रहेगा तो कहीं रात का तापमान सामान्य से काफी नीचे दर्ज किया जाएगा। सोमवार की सुबह से कोहरे का कहर भी सभी जिलों में दिख रहा है। मौसम की मौजूदा स्थिति को देखते हुए मंगलवार के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है जबकि बुधवार के लिए येलो अलर्ट जारी किया है। ऑरेंज अलर्ट का मतलब ठंड की खतरनाक स्थिति की ओर अग्रसर होना है जबकि येलो अलर्ट ठंड को लेकर सतर्क रहने के लिए जारी किया जाता है।

 

गया और भागलपुर कोल्ड वेव की चपेट में
मौसम विज्ञान विभाग ने सोमवार की शाम बुलेटिन जारी कर कहा कि पिछले 24 घंटों में गया और भागलपुर में कोल्ड वेव का कहर देखा गया जबकि पूर्णिया, मुजफ्फरपुर, फारबिसगंज और छपरा में कोल्ड डे के हालात रहे। कमोवेश राज्य के बाकी शहरों की स्थिति भी यही रही। कहीं अधिकतम तापमान में सामान्य से चार से पांच डिग्री की गिरावट देखी गई तो कहीं न्यूनतम पारा सामान्य से काफी नीचे रहा। अधिकतम तापमान में कमी की वजह से दिन में भी ठंड की ठिठुरन बनी रही। 

ढाई डिग्री लुढ़का पटना का अधिकतम पारा
पटना के लोगों ने सोमवार को दिन में भी काफी कनकनी महसूस की। एक तो कोहरे की वजह से सूरज देर से निकला, दूसरा दिन में आंशिक बादलों के छाने और धुंध की स्थिति होने से धूप निष्प्रभावी रही। पटना का अधिकतम तापमान 17.8 डिग्री दर्ज किया गया। गया का अधिकतम 20.6, भागलपुर का 21.2 जबकि पूर्णिया का 22.1 डिग्री सेल्सियस रहा। 

 

सुबह शाम घना कोहरा छाने से दृश्यता घटी
पटना सहित पूरे सूबे में कोहरा छाया रहा। दिन में सूरज देर से निकला। आसमान में आंशिक बादल छाए रहे। घने कोहरे और धुंध की स्थिति बनी रहने से विजिबिलिटी का स्तर काफी नीचे आ गया। पटना में विमान सेवाओं पर इसका असर देखा गया। दिन में दस बजे के बाद एयरपोर्ट पर पहला विमान उतरा। सुबह और शाम में सड़कों पर फॉग लाइट जलाकर अधिकतर वाहन गुजरते रहे। मौसमविदों का कहना है कि यह स्थिति अगले 48 घंटों तक बनी रहने वाली है।

क्या होता है कोल्ड वेव और कोल्ड डे
कोल्ड वेव भारी शीतलहर की स्थिति में घोषित होता है। जब किसी भी जिले का न्यूनतम तापमान सामान्य  (दस डिग्री) से साढ़े चार डिग्री नीचे चला जाता है तो मौसम विभाग की ओर से इस बाबत अलर्ट जारी होता है। लेकिन ऐसा तापमान लगातार दो दिनों में किसी दो स्टेशनों में दर्ज होना चाहिए। कोल्ड डे की स्थिति अधिकतम तापमान पर ही निर्भर करती है। लेकिन इसके लिए सामान्य तापमान का दस डिग्री होना जरूरी नहीं है। जब भी किसी दो शहरों का पारा दो लगातार दिनों में सामान्य से साढ़े चार डिग्री नीचे चला जाता है तो उन शहरों में कोल्ड डे घोषित कर दिया जाता है।

अगले दो दिनों तक सूबे में ठंड को लेकर अलर्ट जारी किया गया है। कहीं कोल्ड वेव तो कहीं कोल्ड डे की स्थिति बनी रहेगी। -विवेक सिन्हा, निदेशक, मौसम विज्ञान केंद्र, पटना

सूबे में कंपकंपी का हाल

शहर न्यूनतम पारा
गया 4.2
डेहरी 6.0
दरभंगा 7.6
पटना 8.2
भागलपुर 8.1
पूर्णिया 8.6
मुजफ्फरपुर 9.2
छपरा 9.1
सुपौल 8.9
फारबिसगंज 10
सबौर 9.0
मधुबनी 8.0
शेखपुरा 7.7
नालंदा 7.9
जमुई 8.0
बक्सर 8.1

 


Buy Amazon Product