बड़ी खबरें

शिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगाशिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगा 2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा खुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूचीखुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूची प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएंप्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएं शिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसलाशिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसला सभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतानसभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतान

डीईओ-डीपीओ को शिक्षा निदेशक मनोज कुमार ने तीन दिन की मोहलत दी, जान ले पूरी माजरा क्या है?

डीईओ-डीपीओ को शिक्षा निदेशक मनोज कुमार ने तीन दिन की मोहलत दी, जान ले पूरी माजरा क्या है?

पटना। राज्य में छठे चरण के तहत माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक शिक्षकों की होने वाली नियुक्ति से संबंधित शिड्यूल से जुड़ी गतिविधियों को 13 जिलों ने गूगल शीट पर अपडेट नहीं किया है । इसे गंभीरता से लेते हुए माध्यमिक शिक्षा निदेशक मनोज कुमार ने संबंधित 13 जिलों के जिला शिक्षा • पदाधिकारियों एवं जिला कार्यक्रम पदाधिकारियों को निर्देश दिया है कि नियोजन गतिविधि तीन दिन के अंदर गूगल शीट पर अपडेट करें। इसे सर्वोच्च प्राथमिकता देने को कहा गया है संबंधित 13 जिलों में पूर्वी चंपारण, लखीसराय, मधुबनी, मुंगेर, मुजफ्फरपुर, पूर्णिया, सहरसा, सारण, शेखपुरा, शिवहर, सुपौल, वैशाली एवं पश्चिम चंपारण शामिल हैं। दरअसल, छठे चरण के तहत माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक शिक्षकों की होने वाली नियुक्ति से संबंधित शिड्यूल से जुड़ी गतिविधियों की मॉनीटरिंग के लिए माध्यमिक शिक्षा निदेशालय स्तर पर अनुश्रवण कोषांग का गठन किया गया है।

यह भी पढ़ें - मामला एसडीओ एवं एसडीपीओ तक पहुंचा शिक्षा विभाग में मच गई खलबली क्या होगा अब ?

इसके साथ ही जिलों के आदेश दिया गया था कि शिड्यूल से जुड़ी गतिविधियों को गूगल शीट पर अपडेट करें। लेकिन, संबंधित 13 जिलों द्वारा शिड्यूल से जुड़ी गतिविधियों को गूगल शीट पर अपडेट नहीं किया गया। इसके मद्देनजर माध्यमिक शिक्षा निदेशक द्वारा संबंधित जिलों के जिला शिक्षा पदाधिकारियों एवं जिला कार्यक्रम पदाधिकारियों को निर्देश दिये गये हैं।

कोषांग का प्रभार शाश्वतानंद झा को।

पटना। राज्य में 94 हजार प्रारंभिक शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया में शिकायतों की जांच के लिए प्राथमिक शिक्षा निदेशालय में गठित कोषांग का प्रभारी प्राथमिक शिक्षा के संयुक्त निदेशक शाश्वतानंद झा को प्रभारी बनाया गया है। पहले कोषांग का प्रभार उपनिदेशक प्रभात कुमार पंकज के जिम्मे था ।

यह भी पढ़ें - शिक्षकों के लिए सबसे बड़ी खुशखबरी: नई शिक्षा नीति के तहत शिक्षकों को प्रोन्नति के साथ-साथ आईएएस के रूप में पदोन्नति देने की सिफारिश

1 अक्तूबर से बदल जायेंगे पेंशन पेंशन के नियम !

पेंशन पाने वालों के लिए जरूरी खबर है। दरअसल, 1 अक्तूबर, 2021 से पेंशन का नया नियम लागू होने जा रहा है। पेंशनर्स इस नियम को मानना बेहद जरूरी होगा। अब डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट देश के सभी हेड पोस्ट ऑफिस के जीवन प्रमाण सेंटर यानी कि जेपीसी में जमा कराये जा सकेंगे। ऐसे पेंशनर्स जिनकी उम्र 80 साल या उससे ज्यादा है, वे 1 अक्तूबर से 30 नवंबर 2021 तक जीवन प्रमाण पत्र जमा करा सकते हैं । 80 साल से नीचे के पेंशनर्स 1 नवंबर से 30 नवंबर तक लाइफ सर्टिफिकेट जमा कर सकेंगे। आपको बता दें कि पोस्ट ऑफिस में अब जीवन प्रमाण पत्र जमा किया जा रहा है । भारतीय डाक विभाग ने सभी पेंशनर्स से ये आग्रह किया है कि अगर जीवन प्रमाण सेंटर की आईडी बंद हो तो समय से एक्टिवेट कर लें।

यह भी पढ़ें - पंचायत चुनाव से पहले महिला शिक्षकों के लिए आ गई बड़ी खबर, जिससे डरते थे वही बात हो गई।

सरकार की तरफ से जिन हेड पोस्ट ऑफिस में जीवन प्रमाण सेंटर नहीं हैं, वहां फौरन यह सेंटर बनाने का आदेश जारी किया गया है। सरकार के अनुसार, जीवन प्रमाण सेंटर बनाने के बाद आईडी एक्टिवेट करनी होगी। यही काम पोस्ट ऑफिस में कॉमन सर्विस सेंटर के लिए भी होना है ।इंडिया पोस्ट ने ट्विट करते हुए जानकारी दी और कहा, वरिष्ठ नागरिक अब आसानी से निकटतम डाकघर सीएससी काउंटर पर जीवन प्रमाण सेवाओं का लाभ उठा सकते हैं। जीवन प्रमाण की आधिकारिक वेबसाइट - jeevanpra- maan.gov.in के अनुसार, इस जीवन प्रमाण पत्र को प्राप्त करने के लिए पेंशन प्राप्त करने वाले व्यक्ति को या तो व्यक्तिगत रूप से पेंशन वितरण एजेंसी जाना होगा या प्राधिकरण द्वारा जारी जीवन प्रमाण पत्र प्राप्त करना होगा।

यह भी पढ़ें - शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव ने आरडीडीई, डीईओ व डीपीओ को भेजा पत्र लेनी होगी अनुमति।

जहां वे पहले सेवा दे चुके हैं और इसे संवितरण एजेंसी को सौंप दिया है। विभाग के आधिकारिक वेबसाइट के अनुसार, भारत सरकार की पेंशनभोगी योजना के लिए डिजिटल जीवन प्रमाणपत्र जीवन प्रमाण पत्र हासिल करने की पूरी प्रक्रिया को डिजिटाइज करके इस समस्या का समाधान करना चाहता है। इसका उद्देश्य इस प्रमाण पत्र को प्राप्त करने की प्रक्रिया को आसान बनाना है। इसी क्रम में इंडिया पोस्ट ने ये सुविधा दी है। आवेदन के लिए आप सबसे पहले अपने मोबाइल नंबर 7738299899 पर एसएमएस भेजकर निकटतम जीवन प्रमाण केंद्र का अपडेट ले सकते हैं। एसएमएस के लिए टेक्स्ट 'जेपीएल पिन कोड ' होगा। पेंशनर्स को दिये गये पिन कोड से आसपास जीवन प्रमाण केंद्रों की एक सूची मिलेगी। ये सूची मिलने के बाद आप अपने नजदीकी सेंटर को चुन सकते हैं। वहां जाकर अपना डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र प्राप्त कर सकते हैं ।


Buy Amazon Product