बड़ी खबरें

शिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगाशिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगा 2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा खुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूचीखुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूची प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएंप्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएं शिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसलाशिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसला सभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतानसभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतान

निर्देशक प्राथमिक शिक्षा अमरेंद्र प्रसाद सिंह उच्च न्यायालय के आरोप में शिक्षकों के लिए जारी किया निर्देश पत्र हुआ जारी।

निर्देशक प्राथमिक शिक्षा अमरेंद्र प्रसाद सिंह उच्च न्यायालय के आरोप में शिक्षकों के लिए जारी किया निर्देश पत्र हुआ जारी।

CWJC No. 16214 / 2019 मो० अताउर रहमान बनाम भारत सरकार एवं अन्य तथा अन्य संलग्न वाद के संबंध में माननीय उच्च न्यायालय, पटना द्वारा दिनांक 09.08.2019 को पारित न्यायादेश के आलोक में अंकित करना है कि माननीय न्यायालय द्वारा विषयांकित वाद एवं संलग्न वादों के वादियों की सेवा समाप्ति की कार्रवाई पर तत्काल रोक लगाने का आदेश है। साथ ही कतिपय बाद में माननीय उच्च न्यायालय द्वारा विषयांकित वाद में दिनांक 09.08.2019 को पारित अंतरिम आदेश से आच्छादित रहने का आदेश पारित किया गया है। उल्लेखनीय है कि उक्त वादों में पूरक प्रतिशपथ पत्र दायर किया जाना है।

यह भी पढ़ें - राज्य मंत्री परिषद ने किया फैसला नीतीश कुमार की अध्यक्षता में कैबिनेट से 17 एजेंटों पर मिली मंजूरी।

इस संबंध में आप अवगत है कि बच्चों की मुफ्त एवं अनिवार्य शिक्षा (संशोधन) अधिनियम 2017 की धारा 23 में विनिर्दिष्ट प्रावधान के तहत सभी अप्रशिक्षित शिक्षकों को दिनांक 31.03.2019 तक निर्धारित अर्हता यथा शिक्षक प्रशिक्षण प्राप्त करना अनिवार्य था। इस हेतु भारत सरकार के तत्वाधान में NIOS के द्वारा 18 माह का D.El.Ed पाठयक्रम संचालित किया गया ताकि अप्रशिक्षित शिक्षकों का सेवाकालीन शिक्षण सम्पन्न हो सके। आप इससे भी अवगत हैं कि कतिपय शिक्षकों के द्वारा अन्य प्रशिक्षण संस्थान से स्वयं भी प्रशिक्षण प्राप्त किया गया है। अतः उक्त आलोक में निदेश है कि विषयांकित वाद एवं संलग्न सभी वाद के वादियों के संबंध में आवश्यक सूचना निम्नलिखित प्रपत्र में अधोहस्ताक्षरी को तीन दिनों के अंदर उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें ताकि इस संबंध में अग्रतर कार्रवाई किया जा सके।

यह भी पढ़ें - सरकारी एवं मानदेय के कर्मचारियों के लिए खुशखबरी दिवाली से पहले मिलने वाली है बड़ी तोहफा।

पटना राज्य के उच्च माध्यमिक विद्यालयों में बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) से बहाल होने वाले प्रधानाध्यापकों का मूल वेतन 35 हजार रुपये होगा। मूल वेतन में महंगाई भत्ता एवं आवास भत्ता सहित अन्य भत्ते की राशि जुड़ेगी। राज्य सरकार द्वारा प्रधानाध्यापकों के सृजित किए गए 5334 पद नए वेतन संरचना के हैं। इसी प्रकार प्राथमिक विद्यालयों के प्रधान शिक्षकों के 40518 पद भी नई वेतन संरचना के हैं। प्रधान शिक्षकों का मूल वेतन 30 हजार रुपये होगा। मूल वेतन में महंगाई भत्ता एवं आवास भत्ता सहित अन्य भत्ते कीराशि जुड़ेगी। शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी के मुताबिक प्राथमिक विद्यालयों में प्रधान शिक्षकों और उच्च माध्यमिक विद्यालयों में प्रधानाध्यापकों के कुल 45,852 सृजित किए हैं, जिस पर मंत्रिपरिषद की मंजूरी मिल चुकी है। अब विधिसम्मत प्रक्रिया के तहत विभाग के स्तर से आयोग को सृजित पदों पर पर नियुक्ति करने हेतु अधियाचना शीघ्र भेजी जाएगी।

यह भी पढ़ें - कैबिनेट से मिली मंजूरी अब शिक्षकों की मूल वेतन 35000 होगी, महंगाई भत्ता आवास भत्ता एवं अन्य भत्ता अलग से जुड़ेंगे।


Buy Amazon Product