बड़ी खबरें

78 हजार केंद्रीय राज्य कर्मियों को 188 करोड़ से ज्यादा दिवाली बोनस के रूप में बड़ी धनराशि मिलेगी।78 हजार केंद्रीय राज्य कर्मियों को 188 करोड़ से ज्यादा दिवाली बोनस के रूप में बड़ी धनराशि मिलेगी। राज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दियाराज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दिया बेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहरबेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहर सरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धिसरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धि हो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबितहो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबित 2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी

डीएम ने पत्र जारी कर आदेश किया के आप सरकारी व निजी स्कूल इस समय से इस समय तक ही चलेंगे

डीएम ने पत्र जारी कर आदेश किया के आप सरकारी व निजी स्कूल इस समय से इस समय तक ही चलेंगे

वर्तमान में मौसम में बढ़ती हुई गर्मी एवं विशेष रूप से दोपहर के समय अत्यधिक गर्मी एवं लू के कारण बच्चों में स्वास्थ्य एवं जीवन पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ने की प्रबल आशंका है।

 

अतः मैं प्रणव कुमार, जिला दण्डाधिकारी, मुजफ्फरपुर दंड प्रक्रिया संहिता, 1973 की धारा 144 के तहत् इस न्यायालय के ज्ञापांक- 1471 / न्या0 दिनांक 24.04.2022 में आंशिक संशोधन करते हुए जिले के सभी विद्यालयों (प्री-स्कूल एवं आँगनबाड़ी केन्द्रों सहित) में 10:30 बजे पूर्वाहन के बाद सभी कक्षाओं के लिए शैक्षणिक गतिविधियों पर प्रतिबंध लगाता हूँ।

यह भी पढ़ें - राज्य के सभी सरकारी स्कूलों में नए नियमों के साथ होगा निरीक्षण शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने जारी किया निर्देश जरूर जान ले।

 

विद्यालय प्रबंधन को एतद् द्वारा निदेश दिया जाता है कि वे उपर उल्लेखित आदेश के अनुरूप शैक्षणिक गतिविधियों को तद्नुसार पुर्ननिर्धारित करेंगे।

 

उक्त आदेश दिनांक 28.04.2022 से लागू होगा।

 

यह आदेश दिनांक 27.04.2022 को मेरे हस्ताक्षर एवं न्यायालय के मुहर से निर्गत किया जाता है।

यह भी पढ़ें - न्यायालय में याचिका दायर हुआ नियोजित शिक्षकों के हक में एक महत्वपूर्ण और ऐतिहासिक फैसला साबित होगा।


यह भी पढ़ें - भीषण गर्मी को देखते हुए स्कूलों के संचालन हेतु समय में हुआ भारी परिवर्तन पत्र हुआ जारी

 

आप अवगत है कि राज्य के सभी विद्यालयों में मुख्यमंत्री विद्यालय सुरक्षा कार्यक्रम (सुरक्षित शनिवार) का क्रियान्वयन किया जा रहा है। इस कार्यक्रम के तहत बच्चों को विभिन्न आपदाओं से बचने उसके प्रभाव को न्यून करने तथा पूर्व तैयारियों के संदर्भ में निरंतर अभ्यास कराये जा रहे है एवं जानकारियां दी जा रही है। गर्मी के मौसम की शुरुआत हो चुकी है जिसके कारण मौसम शुष्क रहने एवं गर्म हवाएँ / लू चलने की पूरी संभावना है। ऐसे में बच्चों के साथ बहुत ही सावधानी बरतने की आवश्यकता है।

 

इस संदर्भ में बिहार राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण द्वारा "Heat Action Plan of Bihar" विकसित किया गया है। इस परिपेक्ष्य में शिक्षा विभाग के भी कार्य एवं दायित्व निर्धारित किये गये है जो निम्न प्रकार है :-

यह भी पढ़ें - नियोजित शिक्षकों को ईद से पहले वेतन के साथ एरिया का होगा भुगतान 991 करोड़ का हुआ आवंटन।

 

1. राज्य में गर्मियों की स्थिति को ध्यान में रखते हुए यह सुनिश्चित किया जाना है कि राज्य के सभी विद्यालयों में पेयजल की सुविधा अवश्य उपलब्ध हो एवं चापाकल चालू स्थिति में हो यदि मरम्मति की आवश्यकता हो तो इसे ससमय करा लिया जाय। साथ ही अगर आवश्यकता हो तो नये चापाकलों को भी स्थापित किया जाय।

 

2. उक्त Action Plan के संदर्भ में यह आवश्यक होगा कि गर्म हवाऐं / लू चलने की स्थिति में स्थानीय मौसम के रूख को देखते हुये विद्यालय के संचालन समय अवधि में परिवर्तन किया जा सकता है।

 

3. Heat Action Plan के संबंध में यह अपेक्षा की जाती है कि पत्र के साथ संलग्न दिशानिर्देशों एवं "क्या करें क्या ना करें संबंधी जानकारी विद्यालय के बच्चों को नियमित रूप से दिया जाय।

 

4. विद्यालयों में गर्मी से बचाव हेतु यथासंभव स्थानीय उपलब्ध संसाधनों से प्रत्येक वर्ग कक्ष में बिजली के पंखे एवं मिट्टी के घड़े में पानी भरकर रखा जाय।

यह भी पढ़ें - मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कर दिया आदेश ईद से पहले नया वेतन नियोजित शिक्षकों को मिलेगा लेकिन शिक्षक प्रधानाध्यापक से इस पर हस्ताक्षर जरूर करवा लें।

 

उक्त के आलोक में निदेश है कि आपदा जोखिम न्यूनीकरण से संबंधित विभिन्न कार्यक्रमों को गंभीरता पूर्वक सभी निर्देशों का अनुपालन कराना सुनिश्चित करें। उपरोक्त के संदर्भ में कृत कार्रवाई से संलग्न विहित प्रपत्र में बिहार शिक्षा परियोजना परिषद् को ससमय अवगत कराया जाय।

 

गर्म हवाऐं / लू चलने के दौरान बचाव संबंधी विद्यालयों के लिए निदेश:-

 

गर्मी के महीनों में जब सामान्य से अधिक तापमान कई दिनों तक बना रहता है तो ऐसी स्थिति में सू/ गर्म हवा का चलना शुरू हो जाता है। इस समय में तापमान औसत उच्च तापमान से अधिक हो जाता है। ऐसी स्थितियां अब भारत के कई राज्यों में तेजी से बढ़ रही है एवं बिहार में इसका प्रभाव देखने को मिल रहा है। गर्म हवा के कारण लू लगने की संभावना होती है। अधिक गर्मी से शरीर में पानी की कमी हो जाती है और उसके कारण अचानक शरीर में बदलाव होने लगता है. यहां तक कि कभी-कभी मौत भी हो जाती है। तापमान बढ़ने के साथ-साथ उसके चपेट में आने वाले लोगों की भरने की संख्या भी बढ़ती जाती है।

यह भी पढ़ें - राज्य कार्यक्रम पदाधिकारी ने जारी किया पत्र पूर्व के शिक्षकों की भाँती इन सभी नियोजित शिक्षकों के वेतन होंगे समान शिक्षकों ने लगाया अबीर गुलाल।

 

गरम हवा / लू से बचने के उपाय:-

 

• दोपहर में यदि अतिआवश्यक न हो तो घर से बाहर न निकले, यथासंभव घर में रहे एवं कठिन व श्रम करने वाले कामों से बचें।

• यथासंभव सूती, हल्का और हल्के रंग का कपड़ा पहने।

• थोड़े-थोडे अंतराल पर पानी पीते रहे, यथासंभव हो सके तो पानी में
ग्लूकोज / नींबू मिलाकर पीये।

• हल्का व थोडा भोजन करे, भोजन को कई बार में खायें।

यह भी पढ़ें - आखिरकार नियोजित शिक्षकों के लिए शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने लगा दिया मुहर इस तारीख से यह सब लागू होने लगेंगे.


• गर्मी के मौसम में मौसम विभाग का टॉल फी नम्बर- 18001801717 से समन्वय बनाकर क्षेत्र के मौसम के बारे में पूर्व सूचना प्राप्त करें।

• अधिक तापमान की स्थिति में विद्यालयों को सुबह संचालित करने का निर्देश दिया जाय।

• यह सुनिश्चित किया जाय कि प्रत्येक विद्यालय में पीने का पानी पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हो, जो बच्चों को लू लगने पर दिया जा सके।

• गर्मी के दिनों में गरम हवाओं के चलने के दौरान पेड़ों के नीचे पढ़ाई ना करें यह सुनिश्चित किया जाये कि पढ़ाई कमरे में ही हो।

 

यह भी पढ़ें - लाखों नियोजित शिक्षकों के लिए खुशखबरी केवाईसी जमा करें और जल्द भुगतान पाएं जान ले पूरी विस्तार से UTI सरकार कैसे देगी


• विद्यालय के बंद होने का समय ऐसा हो कि बच्चे 12:00 बजे के पहले पर पहुंच जाए।

• बच्चों को जानकारी दी जाय कि यह घर से सिर पर टोपी, गमछा या छाता से कर अवश्य आयें।

• लू से बचाव के दिशा-निर्देश या पोस्टर के रूप में विद्यालय के सूचना पट्ट पर लगाया जाय।

• तेज धूप में कोई भी खेल अथवा अन्य कार्यक्रम का आयोजन नहीं किया जाय।

• ताजा पका हुआ भोजन करें एवं बासी भोजन कदापी ना करें।

 

यह भी पढ़ें - सरकार ने किया बड़ा आदेश अब ग्रीष्मा अवकाश या गर्मी छुट्टी मात्र 10 दिनों का ही होगा

 

लू लगने का लक्षण एवं बचाव के उपाय:

 

• लू लगने पर तेज बुखार होता है, व उन्दी एवं पैखाना होता है या दोनों होता है।

• तौलिया / गमछा ठंडे पानी में भिगोकर सिर पर रखे और पूरे शरीर को गिले कपड़े से बार-बार पोछते रहे।

• लू लगने पर आम का पन्ना सतू का घोल एवं नारियल का पानी पीये।

• ओआरएस का घोल एवं ग्लूकोज भी नियमित रूप से पीये।

• गंभीर स्थिति होने पर तुरंत नजदीक के अस्पताल में भर्ती कराये एवं चिकित्सक की सलाह लें।

 

यह भी पढ़ें - राज्य के सरकारी स्कूलों में अब नए कार्यक्रम होंगे संचालित शिक्षकों के लिए लागू होंगे नियम जरूर जान ले।

स्थानीय स्तर पर O.R.S बनाने की विधि :- 

एक ग्लास साफ पानी में एक चुटकी नमक एवं एक चम्मच चीनी मिलाकर O.R.S का घोल तैयार किया जा सकता है। 


Buy Amazon Product