बड़ी खबरें

78 हजार केंद्रीय राज्य कर्मियों को 188 करोड़ से ज्यादा दिवाली बोनस के रूप में बड़ी धनराशि मिलेगी।78 हजार केंद्रीय राज्य कर्मियों को 188 करोड़ से ज्यादा दिवाली बोनस के रूप में बड़ी धनराशि मिलेगी। राज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दियाराज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दिया बेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहरबेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहर सरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धिसरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धि हो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबितहो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबित 2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी

वेतन निर्धारण के आदेश से नियोजित शिक्षकों को हो रहा सबसे बड़ा घाटा : संघ

वेतन निर्धारण के आदेश से  नियोजित शिक्षकों को हो रहा सबसे बड़ा घाटा : संघ

पटना/कार्यालय :बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष और विधान परिषद के सदस्य केदारनाथ पांडेय, संघ के महासचिव शत्रुघ्न प्रसाद सिंह प्रभारी महासचिव विनय मोहन ने कहा कि नियोजित शिक्षकों के 1 अप्रैल 21 से मूल वेतन में 15 प्रतिशत की वृद्धि करने का सरकार ने जो निर्णय लिया है। उसमें निदेशालय के विभिन्न पत्रों द्वारा कैलकुलेटर के माध्यम से वेतन निर्धारण का मामला चल रहा है। जिसमें कई विसंगतियां पैदा हो रही है। और शिक्षकों को तीन प्रतिशत वेतन वृद्धि का घाटा हो रहा है। जबकि सरकार का निर्णय मूल वेतन में 15 प्रतिशत बढ़ोतरी करने का है। सरकारी आदेश के मुताबिक मूल वेतन में 15 प्रतिशत का वृद्धि करना है। जबकि शिक्षा विभाग ने इसे वेतन सुधार मानते हुए वार्षिक वेतन वृद्धि के तारीख को 1 जनवरी 2022 करके शिक्षकों को घाटे में ला दिया है।

यह भी पढ़ें - नियोजित शिक्षक केलकुलेटर से बने वेतन निर्धारण को डाउनलोड कर गड़बड़ी होने पर आपत्ति दर्ज कर सकेंगे इस प्रकार।

इस बिंदु पर आज माध्यमिक शिक्षा निदेशक से बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष केदारनाथ पांडेय और विधान पार्षद संजय • कुमार सिंह मिले और इस ओर निदेशक  का ध्यान खींचा। निदेशक ने इसे गंभीरता से लेते हुए उपनिदेशक को संचिका बढ़ाने का निर्देश दिया। दोनो नेता ने निदेशक का ध्यान इस बिंदु की ओर आकृष्ट किया कि नियमित शिक्षकों को वरीय प्रवर कोठी और प्रवरण वेतनमान के निर्धारण में एफआर 22 का लाभ देने का निर्णय सरकार के द्वारा संसूचित था। सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के आलोक में जो लाभ मिला था। उसे कटौती नहीं करना था। लेकिन कतिपय मामलों में निदेशक ने कटौती का आदेश दे दिया है और महालेखाकार भी सेवानिवृत्त शिक्षकों के पेंशन में कटौती कर रहे हैं। दोनों सदस्यों ने उस पर रोक लगाने की मांग की है। निदेशक ने इस पर करवाई का आश्वासन दिया है। उधर जहानाबाद में विद्यालय के अनुश्रवण के मामले में जिला शिक्षा पदाधिकारी ने शिक्षकों का प्रतिनियोजन किया है। वहां मनमाने ढंग से विद्यालय का संचालन 9:30 के बजाए 9:00 बजे से कर दिया गया है। इस पर ध्यान आकृष्ट किए जाने पर तुरंत निदेशक में जिला शिक्षा पदाधिकारी को अपना गलत आदेश वापस लेने का निर्देश दिया।

यह भी पढ़ें - नियोजित शिक्षक केलकुलेटर से बने वेतन निर्धारण को डाउनलोड कर गड़बड़ी होने पर आपत्ति दर्ज कर सकेंगे इस प्रकार।

झारखंड में स्कूल कॉलेज, पार्क, जिम जू व स्टेडियम बंद।
रांची : राज्य में कोरोना वायरस के बढ़ रहे संक्रमण को देखते हुए कुछ सख्त पाबंदियां लागू की गई हैं। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की अध्यक्षता में सोमवार की शाम आपदा प्रबंधन प्राधिकार की उच्चस्तरीय बैठक इससे जुड़े फैसले लिए गए। निर्णय लिया गया कि राज्य में 15 जनवरी तक स्कूल, कॉलेज, कोचिंग इंस्टीच्यूट, पार्क, चिड़ियाघर, पर्यटन स्थल स्विमिंग पूल व खेल स्टेडियम बंद रहेंगे। राज्य सरकार का आदेश तत्काल प्रभाव से प्रभावी होगा। सभी सरकारी व निजी कार्यालय 50 फीसद कर्मियों के साथ चलेंगे, लेकिन यहां बायोमीट्रिक उपस्थिति पर प्रतिबंध रहेगा। स्कूलों में शिक्षण का कार्य बंद रहेगा, लेकिन प्रशासनिक कार्य के लिए 50 फीसद कर्मी आएंगे। सिनेमा हॉल, रेस्टोरेंट, बार एवं शॉपिंग मॉल 50 फीसद क्षमता के साथ खुलेंगे। रेस्टोरेंट, बार एवं दवा दुकानें अपने सामान्य दिनों की तरह बंद होंगी। इन्हें छोड़कर अन्य सभी दुकानें रात के आठ बजे तक खुली रहेंगी। आउटडोर आयोजन में अधिकतम 100 लोग शामिल हो सकेंगे। इंडोर आयोजन में कुल क्षमता का 50 फीसद या अधिकतम 100 लोग दोनों में से कम हो, उसके अनुसार दोनों में से जो


Buy Amazon Product