बड़ी खबरें

78 हजार केंद्रीय राज्य कर्मियों को 188 करोड़ से ज्यादा दिवाली बोनस के रूप में बड़ी धनराशि मिलेगी।78 हजार केंद्रीय राज्य कर्मियों को 188 करोड़ से ज्यादा दिवाली बोनस के रूप में बड़ी धनराशि मिलेगी। राज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दियाराज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दिया बेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहरबेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहर सरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धिसरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धि हो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबितहो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबित 2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी

शिक्षा विभाग ने जारी किया आदेश रातों-रात वेतन भुगतान का बदला नियम इस पोर्टल से मिलेगा वेतन

शिक्षा विभाग ने जारी किया आदेश रातों-रात वेतन भुगतान का बदला नियम इस पोर्टल से मिलेगा वेतन

पटना। राज्य में शिक्षा विभाग के तमाम कार्यालयों में मानव संसाधन प्रबंधन प्रणाली (एचआरएमएस) के फेज एक के तहत चालू अगस्त माह का वेतन विपत्र एचआरएमएस के प्लेटफॉर्म पर तैयार कर निकासी करने हेतु पे रोल मॉड्यूल लागू हो रहा है। इस बाबत शिक्षा विभाग के विशेष सचिव मनोज कुमार, जो एचआरएमएस के विभागीय एडमिन भी हैं, द्वारा सभी निदेशकों, क्षेत्रीय शिक्षा उप निदेशकों, सरकारी टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेजों के प्राचार्यों, बिहार राष्ट्रभाषा परिषद के निदेशक, राजकीय महिला कॉलेजों के प्राचार्यों, जगजीवन राम संस्थान एवं काशी प्रसाद जायसवाल संस्थान के निदेशक, संस्कृत के सहायक निदेशक, पी. जी. शोध एवं प्रशिक्षण अरबी एवं फारसी के निदेशक, राजकीय उर्दू पुस्तकालय के अध्यक्ष, बिहार आर. आर. एस. कमेटी केसचिव, आर. आई. ऑफपी. जे. एंडए. के निदेशक, मिथिला शोध संस्थान के निदेशक, मदरसा इस्लामिया शमशूल होदा के प्रधानाचार्य तथा बिरौली इंस्टीच्यूट के निदेशक को निर्देश दिये गये हैं।

यह भी पढ़ें - नीतीश सरकार की नई मंत्रिमंडल का हुआ विस्तार नियोजित शब्द हटेगा नियमित की तरह मिलेगा सभी सुविधा 5 सितंबर तक हो जाएगा लागू।

निर्देश के मुताबिक वेतन विपत्र बनाने में कोई त्रुटि नहीं हो, इसके लिए प्रत्येक कर्मी का पे इनटाइटलमेंट जांच कर एचआरएमएस पर सही कर लेने की जवाबदेही संबंधित निकासी एवं व्ययन पदाधिकारी की होगी। पेइनटाइटलमेंट संबंधी डाटा की जांच कर अनुमान्यता के आधार पर आवश्यक सुधार की कारवाई की जायेगी। यह सुविधा सिर्फएक समय (वन टाइम) के लिए होगी । अगस्त माह के वेतन की निकासी के साथ इसे समाप्त कर दिया जायेगा। उसके बाद कर्मियों के अनुमान्य सभी मासिक संशोधन के लिए पे इनटाइटलमेंट में कार्य किये जायेंगे। निर्देश में कहा गया है कि एचआरएमएस पोर्टल से जुलाई का पे बिल तैयार कर सीएफएमएस से तैयार किये गये विपत्र के साथ मिलान किये जायेंगे। किसी प्रकार की विसंगति पाये जाने की स्थिति में उसका विश्लेषण कर उसे पुन: संबंधित कर्मियों के संदर्भ में त्रुटि निराकरण हेल्प डेस्क के माध्यम से किया जायेगा। बहरहाल, नयी व्यवस्था लागू करने से जुड़ी तैयारियों की मियाद तीन दिन पहले पूरी हो चुकी है। अब, इसके कार्यान्वयन की तैयारी है।

यह भी पढ़ें - नई सरकार राज्य के लगभग साढे चार लाख नियोजित शिक्षकों के लिए होगा वरदान साबित मंत्रिमंडल की गठन होते ही उपमुख्यमंत्री ने दे दिया।

 

चम्पारण के इतिहास मे पहली बार एक महिला शिक्षिका बैठी आमरण अनशन पर

नवप्रशिक्षित शिक्षकों के एरियर सहित अन्य मांगो को लेकर 16 अगस्त से शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के बैनर तले अनिश्चितकालीन धरना-सह-आमरण अनशन चरखा पार्क पर शुरू मोतिहारी शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के संयोजक प्रमोद कुमार यादव के आह्वान पर शिक्षकों का विशाल समूह स्थानीय बंग्ला मध्य विद्यालय,मोतिहारी से चलकर जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय के समक्ष प्रदर्शन किया।

शिक्षकों का समूह डीईओ कार्यालय से पुनः प्रदर्शन करते हुए चरखा पार्क के समीप धरना-सह-आमरण अनशन मे तब्दील हो गई।

यह भी पढ़ें - सरकारी कर्मी के साथ शिक्षकों के लिए खुशखबरी 18 महीने के DA Arrears ₹150000 एकमुश्त हो सकेगा भुगतान इंतजार की घड़ी खत्म।

धरना को संबोधित करते हुए श्री प्रमोद कुमार यादव ने कहा कि निरंकुश,भ्रष्ट व हिटलरशाह जिला शिक्षा पदाधिकारी के कारण जिले मे पूरा शिक्षा व्यवस्था चौपट हो गया है।

जिला शिक्षा पदाधिकारी शिक्षकों के समस्या के निराकरण मे कम लेकिन राजनीति मे ज्यादा रूची ले रहे है।फलस्वरूप बार-बार शिक्षकों के समस्या समाधान हेतु मांग पत्र देने के बावजूद अठाइस सूत्री मांग मे से अबतक एक भी मांग का निराकरण डीईओ द्वारा नही किया जा सका है।

अध्यक्ष मण्डल सदस्य सूर्यकांत पाठक ने संबोधित करते हुए कहा कि जिला शिक्षा पदाधिकारी के अड़ियल रवैया एवं हठधर्मिता के कारण वेतन मद मे पर्याप्त राशि रहते हुए भी नवप्रशिक्षित शिक्षकों का साढ़े तीन साल पुराना एरियर भुगतान रोक कर रखा गया है जो उनकी निरंकुशता को दर्शाता है।

यह भी पढ़ें - सभी राज्य कर्मी एवं शिक्षकों को पुरानी पेंशन योजना लागू हो जाएगी इंतजार की घड़ी होगी खत्म

सारण जिला से चलकर चम्पारण की धरती पर पहुंचे श्री समरेन्द्र बहादुर सिंह ने हुंकार भरते हुए डीईओ को चेतावनी दिया कि अगर यथाशीघ्र सभी मांग पूरा नही हुआ तो हम चम्पारण की धरती से आपको खदेड़ने का काम करेंगे।

अध्यक्ष मण्डल सदस्य अबूल कमर,मो.कैश,मनीष कुमार,पंकज कुमार सिंह,पिंकू कुमार,नईमुद्दीन सलफी,अभिषेक कुमार,दुर्गा पासवान ने संयुक्त रूप से कहा कि हमारी सभी मांगे जायज है लेकिन इस भ्रष्ट और तानाशाह डीईओ द्वारा के अबतक हमारे मांग को टालमटोल कर दरकिनार किया जा रहा जो शिक्षक विरोधी होने का संकेतक है।

यह भी पढ़ें - 7th Pay कर्मचारियों व शिक्षकों को दोहरी खुशी, DA के साथ Fitment Factor में होगी बढ़ोतरी 2.57 से बढ़ाकर 3.68 फीसदी सैलरी में होगी बढ़ोतरी।

मीडिया प्रभारी विनोद कुमार पाण्डेय,श्रीनिवास प्रसाद,मृत्युंजय ठाकुर,विवेक भूषण एवं अरूण ठाकुर ने कहा कि जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय भ्रष्टाचार के आतंक मे डूबा है।जब से यह जिला शिक्षा पदाधिकारी मोतिहारी मे पदस्थापित हुए है,पूरे कार्यालय के विधि व्यवस्था को चौपट कर दिए है।पूरे कार्यालय का विकेन्द्रीकरण अपने पर किए हुए है।इनका खौफ इतना है कि कोई भी जिला कार्यक्रम पदाधिकारी बिना इनके अनुमति से शिक्षको का कोई भी कार्य नही कर सकते।

अठाईस सूत्री मांगो के समाधान एवं जिला शिक्षा पदाधिकारी द्वारा कोई रूची नही लेने के कारण शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के छह सदस्य श्री सूर्यकांत पाठक,श्रीमति रीता गुप्ता,मो.कैश,संदीप सिंह एवं पंकज कुमार सिंह ने मांगे पूरी होने तक अनिश्चितकालीन अनशन पर बैठने की घोषणा की।

कार्यक्रम मे मुख्य रूप से श्रीनिवास प्रसाद,धर्मेन्द्र कुमार सिंह,महफुजूर रहमान,शशिभूषण प्रसाद,राजू कुमार,राजेश रजक,कमलाकांत सिंह,सरोज रजक,ओमप्रकाश यादव,अरबिन्द तिवारी,मो.अबरार,कैशर खान,अरबिन्द कुमार पाण्डेय,रामएकबाल सहनी,मो.तुफैल,दीपक यादव,सुनील यादव,मो.नौशाद,जौवाद हुसैन,संतोष तिवारी,नवनीत प्रकाश भारती,अजय सिंह,प्रभुशंकर यादव,भारतभूषण यादव,संजीव कुमार सिंह आदि सामिल हुए।


Buy Amazon Product