बड़ी खबरें

शिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगाशिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगा 2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा खुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूचीखुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूची प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएंप्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएं शिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसलाशिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसला सभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतानसभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतान

नियोजित शिक्षकों के लिए शिक्षा विभाग ने लिया बड़ा फैसला अब हेड मास्टर पदों के लिए करेंगे इस फॉर्म को भर आवेदन

नियोजित शिक्षकों के लिए शिक्षा विभाग ने लिया बड़ा फैसला अब हेड मास्टर पदों के लिए करेंगे इस फॉर्म को भर आवेदन

राज्य के प्राथमिक और हाइ स्कूलों में 40518 प्रधान शिक्षक व 6421 हेडमास्टरों की नियुक्ति का रास्ता साफ हो गया है. इसी महीने शिक्षा विभाग बिहार लोक सेवा आयोग को प्रस्ताव भेज देगा. महीने के अंत तक विज्ञापन भी जारी हो जाने की संभावना है, माध्यमिक और उच्च माध्यमिक 6421 स्कूलों में प्रधानाध्यापक पद पर नियुक्ति प्रक्रिया शुरू करने के लिए रोस्टर क्लियरेंस पूरा हो चुका है. वहीं 40518 प्रारंभिक स्कूलों के लिए प्रधान अध्यापक पद के लिए रोस्टर क्लियरेंस 32 जिलों में हो चुका है, बाकी जिलों के रोस्टर क्लियरेंस इसी सप्ताह में पूरा होने की उम्मीद है. सूत्रों के मुताबिक प्रधानाध्यापक का संवर्ग प्रमंडलीय होने की वजह से रोस्टर क्लियरेंस प्रमंडलीय आयुक्त के जरिये हुआ है.

लिखित परीक्षा से दोनों पदों का होगा चयन: जहां तक प्रधान अध्यापक के रोस्टर क्लियरेंस का सवाल है, 32 जिला पदाधिकारी कार्यालयों ने यह क्लियरेंस कर दिया है. केवल पटना, सीवान, गोपालगंज, मधुबनी, किशनगंज और मुंगेर जिलों के डीएम कार्यालयों से अभी क्लियरेंस रिपोर्ट हासिल नहीं हुई है.

बड़ों की तुलना में बच्चे तेजी से में फैला सकते हैं कोरोना वायरस

• वंद सार्वजनिक स्थलों पर बच्चों को ले जाने से बढ़ता खतरा

• अधिकतर बच्चों में नहीं दिखते लक्षण, दूसरों को कर सकते रोगी

कोरोना संक्रमितों की संख्या कम हुई है, लेकिन वायरस आसपास मौजूद है। वायरस की प्रकृति के अनुसार तीसरी लहर आनी तय है। एक ओर ओमिक्रोन का खतरा मंडरा रहा है. तो दूसरी ओर ब्रिटेन व स्पेन जैसे देशों में बच्चों में संक्रमण के मामले बढ़े हैं। पूर्व की लहरों में पाया गया है कि अधिकतर संक्रमित बच्चों में लक्षण नहीं दिखते हैं। ऐसे में सुपर स्प्रेडर बनकर संक्रमण के मामले बढ़ा सकते हैं। बच्चों को कोरोना अनुकूल व्यवहार का पालन करने की आदत डलवाएं बंद सार्वजनिक स्थलों पर नहीं ले जाएं। ऐसा नहीं करने पर उनसे घर के बुजुर्गों, बीमार लोगों और कमजोर इम्युनिटी वाले सदस्यों को संक्रमण हो सकता है। ये बातें एम्स पटना में शिशु रोग के विभागाध्यक्ष डा. लोकेश तिवारी ने कहीं।

डा. लोकेश के अनुसार डेल्टा हो या ओमिक्रोन उम्र देखकर संक्रमित नहीं करता है। बच्चों को भीड़भाड़ वाली जगहों पर जाना जरूरी है तो दो गज की दूरी, मास्क व अंजान सतह को छूने के बाद हाथ से नाक-मुंह नहीं छूने की आदत डलवानी चाहिए।

बूस्टर डोज पर निर्णय अध्ययन के बाद

नई दिल्ली: कोरोना महामारी से और अधिक सुरक्षा प्रदान करने के लिए लोगों को बूस्टर डोज देने का निर्णय ओमिक्रोन वैरिएंट पर मौजूदा वैक्सीन के प्रभाव का पता चलने के बाद ही किया जाएगा। सोमवार को एनटागी (नेशनल टेक्निकल एडवाइजरी ग्रुप आन इम्युनाइजेशन) की बैठक में यह तय किया गया।


Buy Amazon Product