बड़ी खबरें

हो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबितहो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबित 2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी मुख्यमंत्री का कार्यालय बिहार सरकार (जनसंपर्क कोपांग) से शिक्षकों के लिए प्रेस विज्ञप्ति जारी हो गई आखिरकार शिक्षकों को मिल ही गयामुख्यमंत्री का कार्यालय बिहार सरकार (जनसंपर्क कोपांग) से शिक्षकों के लिए प्रेस विज्ञप्ति जारी हो गई आखिरकार शिक्षकों को मिल ही गया शिक्षकों व प्रधानाध्यापकों के वेतन को 12.58 अरब जारी 15% वेतन बढ़ोतरी एरियर के साथ होगा भुगतानशिक्षकों व प्रधानाध्यापकों के वेतन को 12.58 अरब जारी 15% वेतन बढ़ोतरी एरियर के साथ होगा भुगतान शिक्षक नियुक्ति में फंसा पेच अब शिक्षकों को मिलेगी सीधा सेवा में प्रोन्नतिशिक्षक नियुक्ति में फंसा पेच अब शिक्षकों को मिलेगी सीधा सेवा में प्रोन्नति 72 हजार सरकारी स्कूलों के शिक्षकों को लिए शिक्षा निर्देशक  विशेष सामग्री की उपलब्धता कराई गई शिक्षक जान ले 72 हजार सरकारी स्कूलों के शिक्षकों को लिए शिक्षा निर्देशक विशेष सामग्री की उपलब्धता कराई गई शिक्षक जान ले

शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने शिक्षकों के लिए कर दिया ऐलान नहीं होने वाला है बंद शिक्षकों में खुशी की लहर।

शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने शिक्षकों के लिए कर दिया ऐलान नहीं होने वाला है बंद शिक्षकों में खुशी की लहर।

राज्य में शिक्षक पात्रता परीक्षा बंद कराने की खबरों के बीच शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने बुधवार को स्पष्ट किया कि राज्य सरकार ने शिक्षक पात्रता परीक्षा बंद कराने या नहीं कराने का कोई निर्णय नहीं लिया गया है। वर्तमान प्रावधान के मुताबिक शिक्षक नियुक्ति के लिए सीटीईटी और बीटीईटी दोनों में से किसी परीक्षा में उत्तीर्ण छात्र अभ्यर्थी बनने के पात्र हो जाते हैं और नियुक्ति के लिए अभ्यावेदन देते हैं। वर्तमान रिक्तियों के मद्देनजर पूर्व में हुई इन दोनों तरह की परीक्षाओं में उत्तीर्ण छत्र व अभ्यर्थी पर्याप्त संख्या में पहले से उपलब्ध हैं। साथ ही, सरकार छठे चरण की नियुक्ति को तत्काल पूरा अगले चरण की नियुक्ति की प्रक्रिया प्रारंभ करना चाहती है। राज्य सरकार के द्वारा पात्रता परीक्षा अभी आयोजित करने से अगले चरण की नियुक्ति की प्रक्रिया प्रभावित होगी और उसमें और विलंब होगा। इसी परिप्रेक्ष्य में शिक्षा विभाग ने अभी इस परीक्षा को स्थगित रखने का फैसला किया है। पूर्व की परीक्षाओं में उत्तीर्ण छात्र भी अगले चरण की नियुक्ति प्रक्रिया अविलंब प्रारंभ करने की मांग कर रहे हैं। ऐसी स्थिति में यह निर्णय लिया गया है कि अगले चरण की नियुक्ति प्रक्रिया पूरी करने के पश्चात उपलब्ध रिक्तियों एवं पात्रता रखनेवाले अभ्यर्थियों की संख्या की समीक्षा कर राज्य सरकार आवश्यकतानुसार पात्रता परीक्षा आयोजित करेगी। मंत्री ने कहा कि भविष्य में बिहार शिक्षक पात्रता परीक्षा पर रोक की कोई बात नहीं है।

यह भी पढ़ें - अपर मुख्य सचिव दीपक कुमार सिंह ने शिक्षकों को 31 जुलाई तक का समय दे दिया है जल्द करा ले।

7 वें चरण की शिक्षक नियुक्ति प्रभावित नहीं हो, इसलिए स्थगित रखने का निर्णय शिक्षा मंत्री बोले- बिहार में टीईटी पर रोक नहीं, भविष्य pरूरत के आधार पर होगी
शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने साफ किया कि भविष्य में टीईटी आवश्यकता के आधार पर आयोजित की जाएगी। राज्य सरकार द्वारा शिक्षक पात्रता परीक्षा अभी आयोजित करने से सातवें चरण की शिक्षक नियुक्ति प्रक्रिया प्रभावित होगी। शिक्षक पात्रता परीक्षा बंद कराने या नहीं कराने का कोई निर्णय नहीं लिया गया है। वर्तमान प्रावधान के अनुसार शिक्षक नियुक्ति के लिए सीटेट और बीटेट दोनों में से किसी परीक्षा में उत्तीर्ण छात्र अभ्यर्थी बनने के पात्र हैं। नियुक्ति के लिए दोनों आवेदन दे सकते हैं। वर्तमान रिक्ति के अनुसार पूर्व में हुई इन सीटेट और वीटेट  दोनों तरह की परीक्षाओं में उत्तीर्ण अभ्यर्थी की संख्या संतोषजनक है। सरकार छठे चरण की नियुक्ति को तत्काल पूरा कर सातवें चरण की नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू करना चाहती है।

यह भी पढ़ें - बिहार सरकार अब TET परीक्षा नहीं लेगी अब जान ले सरकार शिक्षकों को ऐसे नौकरी देने जा रही है।

7वें चरण के लिए पर्याप्त संख्या में सीटेट व बीटेट पास मौजूद
राज्य सरकार द्वारा पत्रता परीक्षा आयोजित करने से अगले चरण की नियुक्ति की प्रक्रिया प्रभावित होगी और इसमें और देरी होगी। इस कारण शिक्षा विभाग ने अभी इस परीक्षा को स्थगित रखने का फैसला किया है। मंत्री ने कहा कि पहले से सीटेट व वीटेट उत्तीर्ण अभ्यर्थी अगले चरण की नियुक्ति प्रक्रिया अविलंब शुरू करने की मांग कर रहे हैं। ऐसी स्थिति में यह निर्णय लिया गया है कि अगले चरण की नियुक्ति प्रक्रिया पूरी होने के बाद उपलब्ध रिक्तियों और पात्रता रखने वाले अभ्यर्थियों की संख्या की समीक्षा कर राज्य सरकार आवश्यकत नुसार पात्रता परीक्षा आयोजित करेगी। भविष्य में रोक की बात नहीं है।

यह भी पढ़ें - शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव ने सभी सरकारी स्कूलों के शिक्षकों को विद्यांजलि पोर्टल पर पंजीयन करना होगा पत्र हुआ जारी।

बिहार में आयोजित की जाएगी शिक्षक पात्रता परीक्षा : मंत्री
पटना। बिहार के शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने बुधवार को यह साफ करते हुए कहा कि राज्य सरकार की ओर से शिक्षक पात्रता परीक्षा पर रोक नहीं लगाई गई है। फिलहाल छठे चरण की नियुक्ति चल रही है और शीघ्र ही सातवें चरण की नियुक्ति शुरू की जाएगी। सातवें चरण की नियुक्ति के बाद शिक्षक पात्रता परीक्षा ली जाएगी। सिर्फ सातवें चरण की नियुक्ति होने तक ही शिक्षक पात्रता परीक्षा नहीं होगी। गौरतलब है कि मंगलवार को बिहार सरकार की ओर से घोषणा करते हुए कहा गया था कि राज्य में शिक्षक पात्रता परीक्षा नहीं आयोजित की जाएगी। इस संबंध में बिहार सरकार के प्राथमिक शिक्षा विभाग की ओर से अधिसूचना भी जारी की गई थी। अधिसूचना में बताया गया था कि केंद्र सरकार की ओर से केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी सीटेट का आयोजन नियमित रूप से किया जाता है। इस वजह से राज्य में शिक्षक पात्रता परीक्षा का आयोजन नहीं कराया जाएगा।


Buy Amazon Product