बड़ी खबरें

शिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगाशिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगा 2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा खुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूचीखुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूची प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएंप्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएं शिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसलाशिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसला सभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतानसभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतान

नियोजित शिक्षकों को आज से मिल सकेगा 2 महीने का वेतन जान ले आपको कितना मिलेगा।

नियोजित शिक्षकों को आज से मिल सकेगा 2 महीने का वेतन जान ले आपको कितना मिलेगा।

समग्र शिक्षा गों अंतर्गत कार्यरत प्रारंभिक शिक्षकों य को जून एवं जुलाई वेतन भुगतान य को लेकर प्रक्रिया तेज कर दी गई है। शनिवार को सभी शिक्षकों के खाते ॥ में वेतन की राशि भुगतान होने की द संभावना जताई गई है। इसको लेकर र स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में नया ब, खाता खोला गया है। शिक्षक संघ रा, के नेता रजनीश कुमार ने बताया कि एसएसए मद से भुगतान होने वाले शिक्षक वेतन से संबंधित जीओबी व, शिक्षकों का जून एवं जुलाई का ज वेतन भुगतान की प्रक्रिया प्रारंभ कर क दी गई है। प्रखंडवार वेतन भुगतान व की जा रही है। वैसे 40 एडवाइस होने के वजह से बैंक पर काफी दबाव है। परंतु कोशिश की जा रही है कि शनिवार तक सभी शिक्षकों का वेतन भुगतान कर दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें - शिक्षकों ने अवकाश में परिवर्तन के लिए विभाग से किया मांग जाने कब मिलेगा अवकाश,एक्शन में दिखे शिक्षा मंत्री।

 विदित हो कि  शुक्रवार को वेतन भुगतान के लिए नया खाता खोलने को लिखा पत्र संबंधित शीर्षक से खबर प्रमुखता से प्रकाशित की थी। इसके बाद शिक्षा विभाग हड़कत में आ गया था। इसमें स्पष्ट किया गया था कि खाता बंद रहने के कारण निर्गत राशि वापस लौट गई। ऐसे में जिला कार्यक्रम पदाधिकारी (प्राथमिक शिक्षा एवं सर्व शिक्षा अभियान) राशि वापस लौटने पर जिला कार्यक्रम पदाधिकारी (स्थापना) को पत्र लिखकर नया बैंक खात जीओबी मद के लिए खोलकर खाता संख्या उपलब्ध कराने कह था, ताकि राशि शिक्षक वेतन बैंक खाता में भेजी जा सके। राज्य परियोजना निदेशक ने समस्तीपुर जिले के लिए 75 करोड़ 42 लाख 30 हजार 450 रुपये आवंटित कर दिया था। डीपीओ को स्पष्ट निर्देश दिया गया है कि मुख्यालय स्तर निर्गत पूर्व के निर्देशों का अनुपालन करते हुए दो दिनों के अंदर शिक्षको का वेतन भुगतान करने के उपरांत राज्य कार्यालय की रिपोर्ट भेज जाना है।

यह भी पढ़ें - शिक्षकों ने अवकाश में परिवर्तन के लिए विभाग से किया मांग जाने कब मिलेगा अवकाश,एक्शन में दिखे शिक्षा मंत्री।

टीईटी-एसटीईटी शिक्षकों के खिलाफ साजिश: संघ
कमेटी की बैठक में शामिल हुए शिक्षक टीईटी एसटीईटी उत्तीर्ण नियोजित शिक्षक संघ की जिला कमेटी की बैठक नरसिंह बाबा मंदिर प्रांगण में की गयी। इसमें राज्य के प्रारंभिक विद्यालयों में प्रधान शिक्षक और उच्च विद्यालयों में प्रधानाध्यापक बहाली को लेकर राज्य सरकार की नयी नियमावली पर नाराजगी व्यक्त की गयी। टीइटी-एसटीइटी शिक्षकों में इसको लेकर आक्रोश देखा गया। बताते चलें कि सरकार ने प्राथमिक, मध्य एवं उच्च विद्यालयों में प्रधान शिक्षक एवं प्रधानाध्यापक बहाली को लेकर बीपीएससी के जरिए परीक्षा लेने का निर्णय लिया है। प्रधान शिक्षक एवं प्रधानाध्यापक बहाली नियमावली में परीक्षा में बैठने के लिए कार्यरत बेसिक ग्रेड शिक्षकों को आठ साल सेवा अवधि की वाध्यता एवं माध्यमिक व उच्च माध्यमिक के शिक्षकों के लिए 10 और आठ साल सेवा अवधि की वाध्यता निर्धारित कर दी गई है। दूसरी तरफ शिक्षा अधिकार कानून और नयी शिक्षा नीति 20 को दरकिनार करते हुए टीइटी-एसटीइटी अनिवार्यता की बाध्यता को समाप्त कर दिया गया है। बैठक की अध्यक्षता संघ के महासचिव ओम प्रकाश सिंह ने की।

यह भी पढ़ें - कर्मचारियों ने महंगाई भत्ते की मांग एक बैनर तले कि है वेतन के साथ एरियल का हो भुगतान।

 उन्होंने कहा कि प्रधान शिक्षक प्रधानाध्यापक बहाली नियमावली असंवैधानिक और षड्यंत्रपूर्ण साजिशों का पुलिंदा है। राज्य सरकार खुलेआम शिक्षा अधिकार अधिनियम और नयी शिक्षा नीति की धज्जियां उड़ा रही है। संघ के उपाध्यक्ष मणिभूषण यादव, तरुण पासवान, रोहण पांडेय, नमिता किरण चेतन आनंद आदि ने कहा कि जब शिक्षक बहाली के लिए टीइटी-एसटीइटी अनिवार्य है तो प्रधानाध्यापक की बहाली के लिए इसकी अनिवार्यता को समाप्त करने का क्या आधार है। इस नियमावली के जरिए सरकार टीइटी-एसटीइटी शिक्षकों को दरकिनार करने की साजिश कर रही है। शिक्षक चुप नहीं बैठनेवाले हैं। इस मुद्दे पर सड़क से लेकर न्यायालय तक पुरजोर विरोध किया जाएगा। पांच सितंबर को शिक्षक दिवस पर शहर के चरखा पार्क के समीप सत्याग्रह किया जाएगा। संगठन के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य रूमित रौशन, संतोष कुशवाहा, सर्वेश शर्मा, दीपेंद्र कुमार, राम विनय शमां सैफुल्लाह अंसारी, रंजीत यादव, रौशन कुमार आदि ने शिक्षकों की विभिन्न समस्याओं पर चर्चा की। बैठक में जिला प्रवक्ता सुधाकर पांडेय, सुरेश गुप्ता, कार्तिक कुमार, देव कुमार यादव, हारून रशीद आदि मौजूद थे।


Buy Amazon Product