बड़ी खबरें

शिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगाशिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगा 2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा खुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूचीखुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूची प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएंप्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएं शिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसलाशिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसला सभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतानसभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतान

नियोजित शिक्षकों को नियमित शिक्षकों की तरह स्थानांतरण के साथ अब मिलेगी सभी सुविधाएं तैयार हो गया प्रस्ताव

नियोजित शिक्षकों को नियमित शिक्षकों की तरह स्थानांतरण के साथ अब मिलेगी सभी सुविधाएं तैयार हो गया प्रस्ताव

1) पंचायत, प्रखंड, जिला परिषद व नगर निगम की अलग-अलग नियोजन इकाइयों की बाध्यता होगी खत्म
2)नियोजित शिक्षकों का होगा एक ही जिला कैडर। 
3) विभाग ने बनाया प्रस्ताव, अंतिम मुहर के बाद जा जाएगा सभी जिलों को
4) नियोजित शिक्षकों को स्थानांतरण समेत अन्य सुविधाओं का मिलेगा लाभ
मुजफ्फरपुर । नियोजित शिक्षकों का अब एक ही जिला कैडर होगा। पंचायत, प्रखंड, जिला परिषद व नगर निगम की अलग-अलग नियोजन इकाइयों की बाध्यता इससे खत्म हो जाएगी। शिक्षा विभाग ने इसको लेकर प्रस्ताव तैयार कर लिया है।

यह भी पढ़ें - पंचायती एवं नगर निकाय नियोजित शिक्षकों के स्थानांतरण एवं प्रमोशन को लेकर शिक्षा विभाग के संयुक्त सचिव ने जारी किया पत्र

अंतिम मुहर के बाद इसे सभी जिलों को भेज दिया जाएगा। जिला कैडर होने से नियोजित शिक्षकों के स्थानांतरण समेत अन्य सुविधाओं का लाभ पूर्व के नियमित शिक्षकों की तरह मिलेगा। जिला कैडर प्राइमरी, मिडिल के साथ ही हाईस्कूल और प्लस 2 स्कूलों के लिए भी होगा। इस प्रस्ताव में सभी तरह के नियोजित शिक्षकों की बहाली से लेकर उनके स्थानांतरण समेत अन्य सुविधाओं के लिए अलग-अलग आवेदन अपने-अपने नियोजन इकाई में देने की जरूरत नहीं पड़ेगी। प्रखंड से लेकर पंचायत समेत सभी तरह के नियोजन इकाई की भूमिका इसमें नहीं होगी। सेवा शर्त को लेकर यह विशेष तैयारी की गई है। इसके साथ ही बहाली में भी
केन्द्रीयकृत प्रक्रिया के साथ ही जिला स्तर पर ही अधिकारी नियोक्ता होंगे। इस प्रस्ताव पर मुहर लगने के साथ ही न केवल नए बहाल नियोजित शिक्षकों को इसका लाभ मिलेगा बल्कि पूर्व के नियोजित शिक्षक भी इसके दायरे में आएंगे।

यह भी पढ़ें - लाखों नियोजित शिक्षकों के वेतन के साथ अंतर वेतन का भुगतान 48 घंटे में होगा शिक्षा विभाग के अधिकारी ने जारी किया निर्देश


आयोग के माध्यम से होगी बहाली की प्रक्रिया :
आगे होने वाली बहाली प्रक्रिया आयोग के माध्यम से कराई जाएगी। कर्मचारी चयन आयोग या बिहार लोक सेवा आयोग में से किसी माध्यम से शिक्षकों की बहाली कराने का विचार किया जा रहा है। उप माध्यमिक शिक्षा निदेशक अब्दुस सलाम अंसारी ने बताया कि शिक्षकों के हित में इस पर विचार किया जा रहा है। जिला कैडर होने से शिक्षकों का स्थानांतरण कहीं भी हो सकता है। इसमें प्रखंड या पंचायत की बाध्यता नहीं होगी।


Buy Amazon Product