बड़ी खबरें

78 हजार केंद्रीय राज्य कर्मियों को 188 करोड़ से ज्यादा दिवाली बोनस के रूप में बड़ी धनराशि मिलेगी।78 हजार केंद्रीय राज्य कर्मियों को 188 करोड़ से ज्यादा दिवाली बोनस के रूप में बड़ी धनराशि मिलेगी। राज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दियाराज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दिया बेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहरबेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहर सरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धिसरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धि हो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबितहो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबित 2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी

समान काम समान वेतन के साथ पुरानी पेंशन एवं राज्य कर्मी का दर्जा मिलेगा सीएम डिप्टी सीएम व शिक्षा मंत्री

समान काम समान वेतन के साथ पुरानी पेंशन एवं राज्य कर्मी का दर्जा मिलेगा सीएम डिप्टी सीएम व शिक्षा मंत्री

1) जिले के सैकड़ों नियोजित शिक्षकों ने सीएम, डिप्टी सीएम व शिक्षा मंत्री को भेजा ईमेल।

2) बिहार राज्य प्रारंभिक शिक्षक संघ गोपालगंज के आह्वान पर ईमेल भेजकर किया आग्रह। 

गोपालगंज। जिले के नियोजित शिक्षकों ने एक बार फिर से समान काम के लिए समान वेतन को लेकर आवाज उठायी है। इस संबंध में बिहार राज्य प्रारंभिक शिक्षक संघ गोपालगंज के आह्वान पर जिले के सैकड़ों शिक्षकों ने सूबे के सीएम, डिप्टी सीएम व शिक्षा मंत्री को ईमेल भेजा है। 

ईमेल में नियोजित शिक्षकों के लिए समान काम का समान वेतन, राज्य कर्मी का दर्जा, पुरानी पेंशन लागू करने सहित सभी मांगों को पूरा करने का आग्रह किया है। संघ के जिलाध्यक्ष रतिकांत साह ने बताया कि डिप्टी सीएम ने वादा किया था कि महागठबंधन की सरकार बनने पर राज्य के नियोजित शिक्षकों को राज्य कर्मी का दर्जा पुरानी पेंशन योजना, समान काम का समान वेतन सहित सारी सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी। 

शिक्षा मंत्री ने कहा है कि बिहार के शिक्षक शैक्षणिक माहौल को बेहतर बनाएं तो राज्य सरकार उनकी सभी मांगों को पूरा कर देगी। इसको लेकर नियोजित शिक्षक बिहार में बेहतर शैक्षणिक माहौल बनाने के लिए कमर कस चुके हैं। अब सरकार को वादा पूरा करने के लिए ईमेल के माध्यम आग्रह पत्र भेजा गया है। 

यह भी पढ़ें - 7th pay commission DA Hike: केंद्रीय कर्मचारियों के साथ राज्य कर्मी व शिक्षकों की बल्ले-बल्ले, महंगाई भत्ता बढ़ने की तारीख हुई तय, 4% पर लगी मुहर

उम्मीद है कि सरकार भी जल्द उनकी मांगों पर सकारात्मक पहल करेगी। ईमेल भेजेनवालों में अशोक कुमार तिवारी, जय नारायण सिंह, मो. कौसर अली, अभिषेक कुमार, जय कुमार, आनंद कुमार, नागेन्द्र राम, जितेंद्र यादव, जलेश्वर कुमार प्रसाद, विपिन प्रसाद, संजय त्रिपाठी, वीरेंद्र प्रसाद, आनंद पांडे, मनोज कुमार सिंह, मंजू कुमारी, सुनीता कुमारी सुनीता सिंह, अभिषेक कुमार मनोज कुमार आदि शिक्षक शामिल हैं। 

शिक्षकों की बर्खास्तगी के बाद अब सचिव व मुखिया पर होगी कार्रवाई। 

1) अररिया प्रखंड के मदनपुर पश्चिम का मामला, जिले में मचा।हड़कंप

2) सभी पंचायत सचिवों के नियोजन से जुड़े कार्यकलापों की होगी जांच।

अररिया। गलत तरीके से नियोजित सदर प्रखंड के मदनपुर पश्चिम पंचयत के 19 शिक्षकों की बर्खास्तगी के बाद अब आरोपी पंचायत सचिव, मुखिया सहित नियोजन इकाई में शामिल अन्य लोगों पर भी कार्रवाई की तलवार लटक गई है। 

यह भी पढ़ें - नियोजित शिक्षकों के पुरानी पेंशन योजना के साथ-साथ वेतनमान हो सकेगा लागू

बहुत जल्द न केवल पंचायत सचिव निलंबित होंगे बल्कि प्राथमिकी दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जाएगी। मुखिया सहित अन्य पर भी प्राथमिक दर्ज की जाएगी। इस मामले में डीएम पूरी तरह गंभीर दिख रही हैं। डीएम इनायत खान ने स्पष्ट शब्दों में कहा है कि शिक्षक नियोजन गड़बड़ी मामले में जो भी संलिप्त पाये गये हैं उन पर हर हाल में कार्रवाई होगी। आवश्यक निर्देश जारी कर दिया गया है। इधर जिला पंचायती राज पदाधिकारी किशोर कुमार ने बताया कि 2011 के बाद मदपुर पश्चिम पंचायत में जितने भी पंचायत सचिव व मुखिया हैं शिक्षक नियोजन के मामले में उनके कार्यकलाप की जांच की जाएगी। बताया कि इस संबंध में बीडीओ से आवश्यक हिदायत दी गई है कि वे नियोजन इकाई में शामिल पंचायत सचिव सहित अन्य लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराएं। डीएम ने अपने आदेश में स्पष्ट रूप से लिखा है कि मदनपुर पश्चिम के मुखिया व पंचायत सचिव ने अपने स्पष्टीकरण में लगाये गये आरोपों के संदर्भ में कुछ ऐसा नहीं लिखा जो विचारणीय है। दोनों के विरुद्ध जालसाजी व पक्षपात करने के कारण प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया जाता है। 2011 से अब तक के मुखिया व सचिव पर होगी कार्रवाई: अररिया बीडीओ पुनर्काउंसिलिंग का स्थल प्रखंड मुख्यालय के उवि में निर्धारित करेंगे। इसके लिए सारी व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे। जिला पंचायत राज पदाधिकारी मदनपुर पश्चित पंचायत में वर्ष 2011 से कार्यरत पंचायत सचिव व मुखिया (वर्तमान को छोड़कर) के विरूद्ध कार्रवाई करना सुनिश्चित करेंगे। 

यह भी पढ़ें - 80 हजार सरकारी स्कूलों को राज्य परियोजना निदेशक असंगबा चुबा आओ ने शिक्षकों एवं पदाधिकारियों के लिए जारी कर दिया निर्देश

नियमानुसार पुनर्काउंसिलिंग करने का निर्देश। 

डीएम ने कार्यालय आदेश में बताया कि मदनपुर पश्चिम पंचायत में शिक्षकों की बर्खास्तगी के बाद रिक्त पदों पर नियमानुसार पुनर्काउंसिलिंग कराना सुनिश्चित करेंगे। पुनर्काउंसिलिंग के लिए मेधा सूची, स्थल, तिथि एवं समय आदि की सूचना जिला के बेबवाइट पर तथा स्थानीय समाचार पत्र में प्रकाशित कराएंगे। मुखिया व सचिव। पर पुनर्काउंसिलिंग कर रिक्त हुए पदों पर 2006 के नियोजन में प्राप्त आवेदनों से। काउंसिलिंग कराकर 30 दिनों के अंदर सभी को सूचना देंगे। सभी अभ्यर्थियों,।आपत्तिकर्ताओं एंव प्रभावित शिक्षकों को पुनर्काउंसिलिंग में भाग लेने की स्वतंत्रता होगी।

जिला मुख्यालय में होगी नगर निकाय चुनाव की मतगणना। 

पटना। राज्य निर्वाचन आयोग की ओर से नगर निकाय चुनाव में मतदान के बाद मतगणना सिर्फ जिला मुख्यालयों में ही कराने की तैयारी है। मतगणना में सभी प्रत्याशियों और उनके काउंटिंग एजेंटों को जिला मुख्यालय में ही आकर काउंटिंग में भाग लेना होगा। इसके लिए हर जिला में तीन-तीन काउंटिंग हाल स्थापित किए जाएंगे। हर जिले के वार्ड पार्षद, मेयर और डिप्टी मेयर पद के इवीएम मतदान के बाद सीधे जिला मुख्यालयों के स्ट्रांग रूप में आकर संग्रहित किए जाएंगे। मेयर पद की मतगणना जिस हाल में होगी उसमें डिप्टी मेयर और वार्ड पार्षद के मतों की गिनती नहीं होगी। इसी प्रकार पार्षद व डिप्टी मेयर के काउंटिंग हाल अलग अलग होंगे। मतगणना दल के लिए मतगणना पर्यवेक्षक, मतगणना सहायक और माइक्रो आब्जर्वर की तैनाती की जाएगी। मतगणना में हर टेबल पर एक महिला कर्मी को मतगणना सहायक के रूप में प्रतिनियुक्त किया जाना


Buy Amazon Product