बड़ी खबरें

नियोजित शिक्षकों के चालू वित्तीय वर्ष एवं बकाया वेतन का भुगतान के लिए राशि हुआ आवंटन जान ले कितना मिलेगा ।नियोजित शिक्षकों के चालू वित्तीय वर्ष एवं बकाया वेतन का भुगतान के लिए राशि हुआ आवंटन जान ले कितना मिलेगा । नियोजित शिक्षकों के लिए सबसे बड़ी खुशखबरी बिहार सरकार ने वेतन के साथ एरिया का भी कर दिया आवंटन कौन सा महीना का मिलेगानियोजित शिक्षकों के लिए सबसे बड़ी खुशखबरी बिहार सरकार ने वेतन के साथ एरिया का भी कर दिया आवंटन कौन सा महीना का मिलेगा सरकारी स्कूलों में चल रहे वर्ग में बैठकर अफसर करेंगे निरीक्षण, शिक्षकों को मिलेगा 15 जून के बाद सेवांत लाभ का मौका। सरकारी स्कूलों में चल रहे वर्ग में बैठकर अफसर करेंगे निरीक्षण, शिक्षकों को मिलेगा 15 जून के बाद सेवांत लाभ का मौका। डीईओ कार्यालय में मची हड़कंप, 2006 के बाद वाले नियोजित शिक्षकों के दक्षता को लेकर सबसे बड़ी खुशखबरी ।डीईओ कार्यालय में मची हड़कंप, 2006 के बाद वाले नियोजित शिक्षकों के दक्षता को लेकर सबसे बड़ी खुशखबरी । प्रारंभिक विद्यालय में प्रधान शिक्षक की बीपीएससी से होने वाली परीक्षा जून के इस तारीख की हो गई घोषणा जान ले पूरा दिशा निर्देश।प्रारंभिक विद्यालय में प्रधान शिक्षक की बीपीएससी से होने वाली परीक्षा जून के इस तारीख की हो गई घोषणा जान ले पूरा दिशा निर्देश। नियोजित शिक्षकों के लिए इस वक्त बड़ी खुशखबरी स्कूलों को मिलेगा दूरी का प्रमाण पत्र अब बढ़ेगा DAनियोजित शिक्षकों के लिए इस वक्त बड़ी खुशखबरी स्कूलों को मिलेगा दूरी का प्रमाण पत्र अब बढ़ेगा DA

शिक्षकों को 33 फीसदी उपस्थिति से मुक्ति : ब्रजनंदन शर्मा बिहार राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ अध्यक्ष।

शिक्षकों को 33 फीसदी उपस्थिति से मुक्ति : ब्रजनंदन शर्मा बिहार राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ अध्यक्ष।

पटना। बिहार राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ ने स्कूलों में 33 फीसदी उपस्थिति से मुक्त करने की मांग सरकार से की है।
संघ के राज्य अध्यक्ष ब्रजनंदन शर्मा, कार्यकारी अध्यक्ष मनोज कुमार, वरीय उपाध्यक्ष नूनूमणी सिंह, राम अवतार पांडेय, उपाध्यक्ष धनश्याम यादव ने संयुक्त विज्ञप्ति जारी कर बिहार सरकार और शिक्षा विभाग से कोरोना के बढ़ते संक्रमण के खतरे को देखते हुए 33 फीसदी शिक्षकों को स्कूल में उपस्थित होने की अनिवार्यता को समाप्त करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि सैकड़ों शिक्षक एवं उनके परिजन कोरोना पॉजिटिव हैं । पब्लिक ट्रांसपोर्ट से स्कूल आने-जाने में शिक्षकों को कोरोना संक्रमित होने का खतरा है । इस निर्णय से शिक्षकों की परेशानियां और बढ़ेंगी। उन्हें दिक्कत होगी ।

लाखों शिक्षकों को वेतन एवं बकाया एरियर के अभाव में भुखमरी की स्थिति,शिक्षकों ने चलाया

 

इसे भी पढ़ें।
ऑनलाइन शिक्षा पर भी भारी पड़ने लगा कोरोना
पटना |राज्य के स्कूली बच्चों का ऑनलाइन शिक्षण भी कोरोना संक्रमण की वजह से खासा प्रभावित हो गया है। बड़ी संख्या में शिक्षकों व कर्मियों के कोरोना संक्रमण की जद में आने से कई बड़े स्कूलों की ऑनलाइन शिक्षण की व्यवस्था दम तोड़ने लगी है तो कई स्कूलों ने फिलहाल इसे स्थगित कर दिया है। यह हाल राज्य के कई बड़े नामचीन निजी स्कूलों का भी है। वहीं सरकारी स्कूलों के शिक्षकों के भी लगातार कोरोना पाजिटिव होने के मामले सामने आ रहे हैं। 

इसकी वजह से कई सरकारी स्कूलों में ताला लगाने की नौबत आ गयी है। शिक्षा विभाग के मुख्यालय और जिलों में विभिन्न पदों पर कार्यरत पदाधिकारियों के भी संक्रमित हो जाने से अब कामकाज पर भी इसका असर पड़ने लगा है। गौरतलब है कि कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के कारण 5 अप्रैल से ही प्रदेश के सभी सरकारी व निजी स्कूल, कॉलेज तथा शिक्षण संस्थान बंद हैं। सरकारी स्कूलों में जहां 33 फीसदी शिक्षक रोज स्कूल खोलने पहुंच रहा लेकिन शिक्षण पूरी तरह बंद है। 

वहीं, सभी बड़े निजी स्कूल नए सत्र की पढ़ाई ऑनलाइन आरंभ कर चुके हैं। मंझोले और छोटे निजी स्कूलों का हाल सरकारी सरीखा ही है। बात राजधानी पटना की ही करें तो यहां जिन स्कूलों द्वारा बच्चों की ऑनलाइन कक्षाएं संचालित की जा रही थीं, उनमें से कइयों ने तत्काल इन्हें स्थगित कर दिया है। कारण कि उनके कई शिक्षक और कर्मी कोरोना संक्रमित हो गए हैं। बांकीपुर, पटना स्थित संत जोसेफ कान्वेंट हाईस्कूल ने 2 मई तक के लिए ऑनलाइन कक्षाएं ठप कर दी हैं। जानकारी है कि यहां 40 से अधिक शिक्षिकाएं कोरोना से जूझ रही हैं।


Buy Amazon Product