बड़ी खबरें

नियोजित शिक्षकों के चालू वित्तीय वर्ष एवं बकाया वेतन का भुगतान के लिए राशि हुआ आवंटन जान ले कितना मिलेगा ।नियोजित शिक्षकों के चालू वित्तीय वर्ष एवं बकाया वेतन का भुगतान के लिए राशि हुआ आवंटन जान ले कितना मिलेगा । नियोजित शिक्षकों के लिए सबसे बड़ी खुशखबरी बिहार सरकार ने वेतन के साथ एरिया का भी कर दिया आवंटन कौन सा महीना का मिलेगानियोजित शिक्षकों के लिए सबसे बड़ी खुशखबरी बिहार सरकार ने वेतन के साथ एरिया का भी कर दिया आवंटन कौन सा महीना का मिलेगा सरकारी स्कूलों में चल रहे वर्ग में बैठकर अफसर करेंगे निरीक्षण, शिक्षकों को मिलेगा 15 जून के बाद सेवांत लाभ का मौका। सरकारी स्कूलों में चल रहे वर्ग में बैठकर अफसर करेंगे निरीक्षण, शिक्षकों को मिलेगा 15 जून के बाद सेवांत लाभ का मौका। डीईओ कार्यालय में मची हड़कंप, 2006 के बाद वाले नियोजित शिक्षकों के दक्षता को लेकर सबसे बड़ी खुशखबरी ।डीईओ कार्यालय में मची हड़कंप, 2006 के बाद वाले नियोजित शिक्षकों के दक्षता को लेकर सबसे बड़ी खुशखबरी । प्रारंभिक विद्यालय में प्रधान शिक्षक की बीपीएससी से होने वाली परीक्षा जून के इस तारीख की हो गई घोषणा जान ले पूरा दिशा निर्देश।प्रारंभिक विद्यालय में प्रधान शिक्षक की बीपीएससी से होने वाली परीक्षा जून के इस तारीख की हो गई घोषणा जान ले पूरा दिशा निर्देश। नियोजित शिक्षकों के लिए इस वक्त बड़ी खुशखबरी स्कूलों को मिलेगा दूरी का प्रमाण पत्र अब बढ़ेगा DAनियोजित शिक्षकों के लिए इस वक्त बड़ी खुशखबरी स्कूलों को मिलेगा दूरी का प्रमाण पत्र अब बढ़ेगा DA

27 जनवरी से कक्षा 1 से 8 तक के बच्‍चे भी जा सकते हैं स्‍कूल, सरकार कर रही तैयारी.

27 जनवरी से कक्षा 1 से 8 तक के बच्‍चे भी जा सकते हैं स्‍कूल, सरकार कर रही तैयारी.

स्कूली बच्चों से जुड़ी बड़ी खबर यह है कि अब क्लास 1 से लेकर 8 तक के बच्चों को भी जल्द ही स्कूल जाने की अनुमति मिल सकती है. शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने बताया कि इस महीने के अंत तक क्लास 1 से 8 तक के लिए स्कूल खोले जाने का सरकार फैसला ले सकती है. इसको लेकर 25 जनवरी तक मुख्य सचिव की अध्यक्षता में क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप  की बैठक होगी. प्रधान सचिव ने कहा कि 4 जनवरी से क्लास 9 से 12 तक की कक्षाएं संचालित हो रही हैं, जिनमें 50 प्रतिशत में 30 प्रतिशत बच्चों की उपस्थिति देखी जा रही है. ऐसे में अब उसी पैटर्न पर क्लास 1 से 8 तक के बच्चों की भी पढ़ाई शुरू हो, इस पर जल्द फैसला होगा.

संजय कुमार ने साफ कहा कि अब तक कहीं से किसी प्रकार की अप्रिय खबरें नहीं आई हैं और सही फीडबैक मिल रहा है. ऐसे में 25 जनवरी को क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक होगी और 27 जनवरी से छोटे बच्चों के लिए शर्तों के साथ स्कूल खोले जा सकते हैं. बता दें कि राज्य में 4 जनवरी सरकार ने 9वीं कक्षा से लेकर 12वीं तक के लिए स्कूल खोलने का आदेश दिया था जिसके बाद मुंगेर, नवादा, पटना समेत कई जिलों में शिक्षक से लेकर छात्र तक कोरोना संक्रमण के शिकार हुए थे. मामला प्रकाश में आने के बाद शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने स्वास्थ्य विभाग को पत्र लिखकर अनुरोध किया था कि राज्य के सरकारी स्कूलों में रेंडमली छात्रों और शिक्षकों की कोरोना जांच की जाए.

स्वास्थ्य विभाग ने इस पर अमल करते हुए जांच की कार्रवाई भी तेज कर दी है और कई जिलों में सैम्पल जांच की प्रक्रिया भी जारी है. ऐसे में अब इंतजार करना होगा कि क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में क्या फैसला लिया जाता है. अगर स्कूल खोल दिये जाते हैं तो अभिभावक छोटे बच्चों को स्कूल भेजने पर सहमति जताते हैं या नही, यह भी एक बड़ा सवाल है.


Buy Amazon Product