बड़ी खबरें

शिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगाशिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगा 2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा खुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूचीखुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूची प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएंप्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएं शिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसलाशिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसला सभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतानसभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतान

खुशखबरी : दिवाली से पहले पीएफ खाते में जमा होगी ब्याज की राशि ।

खुशखबरी : दिवाली से पहले पीएफ खाते में जमा होगी ब्याज की राशि ।

त्योहारी सीजन से पहले कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) अपने छह करोड़ अंशधारकों (सदस्यों) को खुश होने का मौका देने वाला है। दरअसल, ईपीएफओ दिवाली से पहले वित्त वर्ष 2020-21 का ब्याज अंशधारकों के खाते में जमा करने की तैयारी में है। सरकार के दो शीर्ष अधिकारियों ने यह जानकारी दी है अधिकारियों ने कहा कि केंद्रीय कर्मचारियों को महंगाई भत्ता और पेंशनर्स को महंगाई राहत राशि से काफी पैसा मिल जाएगा। एक अधिकारी ने कहा कि ईपीएफओ के केंद्रीय बोर्ड ने ब्याज में बढ़ोत्तरी को मंजूरी दे दी है और रिटायरमेंट फंड मैनेजर ने वित्त मंत्रालय की मंजूरी मांगी है।

यह भी पढ़ें - खबर सीधे सचिवालय से BPNPSS और अपर मुख्य सचिव से वार्ता हुई संपन्न 15 % वेतन वृद्धि के साथ 4 माह का वेतन हुआ अवंतन।

जल्द ही इसे मंजूरी मिलने की उम्मीद है। हालांकि, कुछ लोगों का तर्क है कि वित्त मंत्रालय की मंजूरी सिर्फ प्रोटोकॉल का मामला है, ईपीएफओ इसकी मंजूरी के बिना ब्याज दर को क्रेडिट नहीं कर सकता है। दूसरे अधिकारी ने कहा, पिछले डेढ़ साल वेतनभोगी वर्ग सहित मजदूर वर्ग के लिए कठिन रहे। अब दिवाली तक अपेक्षित भुगतान से उनका मूड खुश हो जाएगा। बोर्ड ने वित्त वर्ष 2021 के लिए 8.5% भुगतान की सिफारिश की थी। जब ब्याज के बारे में निर्णय किए गए तो सभी कारकों को ध्यान में रखा गया। बता दें वित्त वर्ष 2018-19 में पीएफ खाते में जमा राशि पर मिलने वाली ब्याज दर 8.65 फीसदी थी, हालांकि वित्त वर्ष 2017-18 में यह ब्याज दर महज 8.55 फीसदी ही थी, जबकि वित्त वर्ष 2019-20 के लिए पीएफ में जमा पर यह ब्याज दर 8.5 फीसदी है।

यह भी पढ़ें - शिक्षा मंत्री का बड़ा ऐलान वेतन और अवकाश के साथ दुनिया के सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालयों में करेंगे कोर्स सरकार उठाएगी खर्च।

70,300 करोड़ की आय का अनुमान।

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ( ईपीएफओ) ने पिछले वित्त वर्ष में लगभग 70.300 करोड़ रुपये की आय का अनुमान लगाया है, जिसमें उसके शेयर निवेश के एक हिस्से को बेचने से लगभग 4,000 करोड़ रुपए शामिल हैं। 2020 में कोविड 19 के प्रकोप के बाद ईपीएफओ ने मार्च 2020 में पीएफ व्याज दर को घटाकर 8.5 फीसदी कर दिया था, जो पिछले सात वर्षों में यह सबसे कम है।

यह भी पढ़ें - शिक्षकों के ऑनलाइन अटेंडेंस पर शिक्षक संघ ने जताया विरोध, लागू हो गए नए नियम जरूर जान लें।

काफी दिन से इंतजार में थे सदस्य।

ईपीएफओ सदस्य इस ब्याज का काफी दिनों से इंतजार कर रहे थे। अब ईपीएफओ हरकत में आया है। उल्लेखनीय है कि कोरोना काल वेतनभोगी वर्ग के लिए बहुत ही कठिन रहा है। अपनी जरूरत को पूरा करने के लिए लाखों लोगों ने पीएफ से निकासी की है। ऐसे में यह खबर उनको सुकून देने वाली होगी।

यह भी पढ़ें - शिक्षकों ने अवकाश में परिवर्तन के लिए विभाग से किया मांग जाने कब मिलेगा अवकाश,एक्शन में दिखे शिक्षा मंत्री।

निजी कंपनियां भी कर रही हैं तैयारी।

केंद्र और राज्य सरकार की ओर से कर्मचारियों और पेंशनर्स को महंगाई भत्ता देने के बाद निजी कंपनियां भी .दिवाली में कर्मचारियों को बंपर बोनस देने की तैयारी कर रही हैं। कई कंपनियों ने प्रतिनिधियों ने बताया कि बीते दो साल कंपनी और कर्मचारियों के काफी मुश्किल भरे रहे हैं लेकिन इस बार स्थिति काफी बेहतर है। ऐसे में हम कर्मचारियों को बेहतर बोनस देने की योजना बना रहे हैं। इस बार कर्मचारियों को खुश होने का मौका जरूर मिलेगा।


Buy Amazon Product