बड़ी खबरें

राज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दियाराज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दिया बेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहरबेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहर सरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धिसरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धि हो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबितहो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबित 2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी मुख्यमंत्री का कार्यालय बिहार सरकार (जनसंपर्क कोपांग) से शिक्षकों के लिए प्रेस विज्ञप्ति जारी हो गई आखिरकार शिक्षकों को मिल ही गयामुख्यमंत्री का कार्यालय बिहार सरकार (जनसंपर्क कोपांग) से शिक्षकों के लिए प्रेस विज्ञप्ति जारी हो गई आखिरकार शिक्षकों को मिल ही गया

सभी नियोजित शिक्षकों के लिए खुशखबरी सभी प्रकार के बकाया राशि के लिए 1 अरब 7 करोड़ हुए आवंटन इसी सप्ताह होंगे भुगतान अपना जान ले कितना मिलेगा।

सभी नियोजित शिक्षकों के लिए खुशखबरी सभी प्रकार के बकाया राशि के लिए 1 अरब 7 करोड़ हुए आवंटन इसी सप्ताह होंगे भुगतान अपना जान ले कितना मिलेगा।

26 जिलों के प्रारंभिक शिक्षकों को मिलेगा बकाया

* जारी हुई 1.07 अरब रुपये की राशि

* भुगतान का डीईओ डीपीओ को निर्देश

पटना। राज्य के 26 जिलों के प्रारंभिक शिक्षकों को बकाया राशि का भुगतान होगा। इसके लिए संबंधित 26 जिलों को 1,07,92,21,406 रुपये की राशि उपलब्ध करायी गयी है।

यह राशि संबंधित जिलों को उनकी मांग के अनुरूप उपलब्ध करायी गयी है । इस राशि से हड़ताल अवधि, मातृत्व अवकाश एवं रुग्णता संबंधी बकाया राशि के बकाये का भुगतान किया जाना है। इस बाबत बिहार शिक्षा परियोजना परिषद के राज्य परियोजना निदेशक असंगबा चुबा आओ द्वारा संबंधित 26 जिलों के जिला शिक्षा पदाधिकारियों एवं जिला कार्यक्रम पदाधिकारियों (प्रारंभिक शिक्षा व समग्र शिक्षा) को निर्देश दिये गये हैं।

यह भी पढ़ें - निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने शिक्षकों को 3:00 बजे से दे दिए नया काम पत्र हुआ जारी शिक्षकों में मची खलबली

संबंधित 26 जिलों में अरवल, औरंगाबाद, बांका, बेगूसराय, भोजपुर, बक्सर, पूर्वी चंपारण, गया, जमुई जहानाबाद, कैमूर, कटिहार, खगड़िया, किशनगंज, लखीसराय, मुजफ्फरपुर, नवादा, पटना, पूर्णिया सहरसा समस्तीपुर, सारण, शेखपुरा, सुपौल, वैशाली एवं पश्चिमी चंपारण शामिल हैं।

इन सभी 26 जिलों को मातृत्व अवकाश एवं रुग्णता संबंधी बकाया राशि के बकाये का भुगतान के लिए 41,37,27,146 रुपये की राशि उपलब्ध करायी गयी है। इनमें आठ जिले ऐसे भी हैं, जिन्हें हड़ताल अवधि के बकाया राशि के बकाये का भुगतान के लिए भी 66,54, 94,260 रुपये की राशि उपलब्ध करायी गयी है। इन आठ जिलों में अरवल, बेगूसराय, खगड़िया, पटना, सहरसा, सुपौल, वैशाली एवं पश्चिमी चंपारण शामिल हैं।

यह भी पढ़ें - सबसे बड़ी खबर प्रमोशन की नई स्कीम हो गई पास अब 5 नहीं 3 साल में होंगे प्रोन्नति जान ले पूरी विस्तार से कैसे होगा

 

7वें चरण में 1.65 लाख शिक्षकों की होगी बहाली

पटना। राज्य में प्राइमरी से लेकर प्लस टू स्कूलों तक में सातवें चरण में तकरीबन एक लाख 65 हजार शिक्षकों की बहाली होगी। बहाली के लिए सेंट्रलाइज ऑनलाइन आवेदन लिये जायेंगे। पोर्टल पर मेरिट लिस्ट बनेगी। पोर्टल पर मेरिट लिस्ट बनने के बाद नियोजन इकाइयों को दी जायेगी। हालांकि, विश्वस्त सूत्रों की मानें, तो रिक्तियां अभी बढ़-घट सकती हैं ।

सातवें चरण की नियुक्ति की तैयारियों के तहत ही राज्य के सरकारी प्राइमरी-मिडिल स्कूलों में शिक्षकों के खाली पदों का ब्योरा शिक्षा विभाग ने जिलों से मांगा है। इस बाबत प्राथमिक शिक्षा पदाधिकारियों (प्रारंभिक शिक्षा व समग्र शिक्षा) को निर्देश दिये गये हैं ।

यह भी पढ़ें - सभी सरकारी स्कूलों के लिए खुशखबरी वर्तमान सत्र में हुए नए नियम लागू मुख्य सचिव ने जारी किया पत्र जरूर जान ले।

संबंधित 26 जिलों में अरवल, औरंगाबाद, बांका, बेगूसराय, भोजपुर, बक्सर, पूर्वी चंपारण, गया, जमुई, जहानाबाद, कैमूर, कटिहार, खगड़िया, किशनगंज, लखीसराय, मुजफ्फरपुर, नवादा, पटना, पूर्णिया, सहरसा, समस्तीपुर, सारण, शेखपुरा, सुपौल, वैशाली एवं पश्चिमी चंपारण शामिल हैं। इन सभी 26 जिलों को मातृत्व अवकाश एवं रुग्णता संबंधी बकाया राशि निदेशक रवि प्रकाश द्वारा सभी जिलों के जिला शिक्षा पदाधिकारियों एवं जिला कार्यक्रम पदाधिकारियों (स्थापना) को निर्देश दिये गये हैं। दरअसल, पंचायतीराज एवं नगर निकाय संस्थान के तहत रिक्त पदों की गणना करते हुए शिक्षा विभाग ने जिलों से रिक्तियां मांगी थी। इसके तहत कई जिलों द्वारा 31 मार्च, 2022 तक सेवानिवृति, त्यागपत्र एवं सेवामुक्ति से हुई रिक्ति तथा छात्र शिक्षक अनुपात को आधार मान कर रिक्तियां भेजी हैं।

इसके मद्देनजर प्राथमिक शिक्षा निदेशक रवि प्रकाश द्वारा सभी जिलों के जिला शिक्षा पदाधिकारियों एवं जिला कार्यक्रम पदाधिकारियों (स्थापना) से कहा है कि जिन विद्यालयों में छात्र- शिक्षक अनुपात में पर्याप्त अथवा अधिक शिक्षक उपलब्ध हैं, उन विद्यालयों में शिक्षकों की आवश्यकता शून्य रखी जाय ।

यह भी पढ़ें - वेतन नहीं मिलने पर शिक्षकों ने स्थापना कार्यालय में की तालाबंदी 2 दिन के अंदर मिल जाएगा इतने महीने का वेतन

1ली से 5वीं कक्षा तक के लिए आरटीई एक्ट के आलोक में नामांकित छात्र की तुलना में शिक्षक के रिक्त पद की गणना की जायेगी। उल्लेखनीय है कि प्रत्येक प्राथमिक विद्यालय में नून्यतम दो शिक्षक का पद होगा तथा शिक्षक की अधिकतम संख्या की गणना नामांकित छात्र संख्या के आधार पर की जायेगी।

प्राथमिक शिक्षा निदेशक द्वारा दिये गये निर्देश में जिला शिक्षा पदाधिकारियों एवं जिला कार्यक्रम पदाधिकारियों (स्थापना) से कहा गया है कि 6ठी से 8वीं कक्षा के लिए आरटीई एक्ट के अनुसार नामांकित छात्र संख्या के आधार पर विषयवार शिक्षक के रिक्त पदों की गणना आवश्यक होगा।

आपको याद दिला दूं कि छठे चरण की नियुक्ति में प्रारंभिक शिक्षकों के 90762 पद थे। इन पदों के विरुद्ध तकरीबन 42 हजार शिक्षकों की बहाली हुई । इसके साथ ही तकरीबन 48 पद खाली रह गये । ये 48 हजार खाली रह गये पद अब सातवें चरण की बहाली में शामिल होंगे।


Buy Amazon Product