बड़ी खबरें

शिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगाशिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगा 2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा खुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूचीखुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूची प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएंप्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएं शिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसलाशिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसला सभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतानसभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतान

पंचायती राज संस्थान एवं नगर निकाय संस्थान के शिक्षकों के लिए खुशखबरी अब इस फंड से शिक्षकों को हो सकेगी भुगतान।

पंचायती राज संस्थान एवं नगर निकाय संस्थान के शिक्षकों के लिए खुशखबरी अब इस फंड से शिक्षकों को हो सकेगी भुगतान।

उपर्युक्त विषयक प्रासंगिक पत्र के परिपेक्ष्य में अवगत कराना है कि विभागीय अधिसूचना एवं पत्रों के आलोक में संबंधित शिक्षक / शिक्षिका / पुस्तकालयाध्यक्ष द्वारा "U.T.I. Retirement Benefit Pansion fund" में जमा करायी गई राशि नियमानुसार भुगतान करना चाहेंगे।

अंकनीय है कि "U.T.I. Retirement Benefit Pansion fund" स्कीम में राज्य सरकार के द्वारा प्रति शिक्षक / पुस्तकालयाध्यक्ष प्रति माह रशि-200/- (दो सौ रूपया अंशदान दिनांक 31.08.2020 तक ही दिया जायेगा। इस तिथि के उपरान्त स्वेच्छा से वह स्कीम में बने रह सकते हैं अथवा एक मुस्त राशि ले सकते हैं।

यह भी पढ़ें - प्राथमिक शिक्षा निर्देशक एवं अपर मुख्य सचिव संजय कुमार का आया बड़ा निर्देश पत्र हुआ जारी।

साथ ही विभागीय संकल्प संख्या 570 दिनांक 24.08.2012 एवं 04 दिनांक 02.01.2015 के क्रम में U.T.I. से हुए MOU में स्पष्टतः अंकित था की सेवानिवृति के पूर्व अपात परिस्थिति यथा चिकित्सा / इलाज हेतु या स्वयं अथवा बच्चों के विवाह हेतु या प्राकृतिक आपदा की स्थिति में ही संचित राशि का अधिकतम 50 प्रतिशत सेवानिवृति के पूर्व अथवा सेवा से त्याग करने के पूर्व एक बार ही की जा सकती है। सेवानिवृति, सेवा से त्याग, मृत्यु की स्थिति में ही एक मुस्त निकसी की जा सकती है। इसका आशय है कि 60 वर्ष की आयु तक उक्त योजना में राशि संचित रखी जाए, ताकि सेवानिवृति के उपरान्त संबंधित लाभुक को पेंशन जो की एक सामाजिक सुरक्षा का विषय है का लाभ मुहैया हो सके।

अतः अनुरोध है कि विभागीय पत्रों एवं U.T.I. से हुए MOU को ध्यान में रखते हुए लाभुकों के मांग के आलोक में नियमानुसार भुगतान सुनिश्चित करना चाहेंगे। अनु:- यथोक्त। 

यह भी पढ़ें - सातवें वेतन आयोग ने कर्मचारियों को दिया खुशखबरी ग्रेच्युटी के साथ एकमुश्त 1,50,000 रुपए मिलेंगे।

पंचायत चुनाव तक टल सकती काउंसेलिंग| शिक्षक नियोजन की।

मुजफ्फरपुर : प्रारंभिक शिक्षक नियोजन के तहत तीसरे T चरण की काउंसेलिंग अब पंचायत चुनाव के बाद ही होने की संभावना है। वैसे तो इसको लेकर विभागीय स्तर पर । अभी तक कोई आधिकारिक घोषणा नहीं 7 की गयी है, लेकिन चयन प्रक्रिया को र लेकर जिले से लेकर राज्य स्तर तक । अभी कोई सक्रियता भी नहीं दिख रही । डीइओ अब्दुस सलाम अंसारी ने कहा । कि तीसरे चरण की काउंसेलिंग को लेकर र राज्य मुख्यालय को ही निर्णय लेना है. शेड्यूल जारी होगा, तो उसके अनुसार प्रक्रिया पूरी की जायेगी। अगस्त के अंतिम हफ्ते में शिक्षा विभाग 10 के अपर मुख्य सचिव ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से समीक्षा की थी. उसी दौरान संकेत दिया था कि सितंबर के पहले हफ्ते में तीसरे चरण की काउंसेलिंग के लिए तिथि तय कर दी जायेगी. लेकिन, दो हफ्ते बाद भी कोई सुगबुगाहट नहीं है।

यह भी पढ़ें - सरकारी स्कूलों में सब्सिडरी के रूप में इसे जल्द करें राज्य कार्यक्रम पदाधिकारी ने दिया आदेश पत्र हुआ जारी।

विभागीय अधिकारियों का कहना है कि चुनाव को लेकर अभी पंचायतों में राजनीतिक माहौल बना है।
प्रशासन का पूरा ध्यान भी अभी पंचायत चुनाव पर शिक्षक चयन की प्रक्रिया शुरू होने पर लॉ एंड ऑर्डर बनाये। रखना मुश्किल हो जायेगा. प्रशासन का पूरा ध्यान भी अभी पंचायत चुनाव पर ही है, पहले चरण की काउंसेलिंग जुलाई में और दूसरे चरण की अगस्त में हुई है. जिन नियोजन इकाइयों की अब तक काउंसेलिंग नहीं हुई है, उन्हें तीसरे चरण में शामिल किया जाना है अबतक 2007 का चयन, 1045 पद है खाली जिले में वर्ग एक से आठ तक कुल 4700 रिक्त पद थे, जिसके लिए शिक्षक चयन की प्रक्रिया चल रही है. नगर निकाय, प्रखंड व पंचायत नियोजन इकाइयों की काउंसेलिंग दो चरणों में हो चुकी है. इसमें अबतक 2007 शिक्षकों का चयन किया गया है।

यह भी पढ़ें - वेतन निर्धारण में index3 की बाध्यता समाप्त अब वेतन में होगी काफी वृद्धि नियोजित शिक्षकों में खुशी की लहर।

जिन नियोजन इकाइयों की काउंसेलिंग रद्द हुई या काउंसेलिंग नहीं हो सकी है, वहां 1045 पद रिक्त हैं।
नगर निगम के साथ ही नगर परिषद, नगर पंचायत, प्रखंड व पंचायत नियोजन इकाइयों के लिए काउंसेलिं होनी है।
नहीं मिली पारू की 34 पंचायतों की रिपोर्ट।
पारू प्रखंड की 34 पंचायत नियोजन इकाइयों में हुई चयन प्रक्रिया की जांच के लिए 48 घंटे की मोहलत मिली थी, लेकिन चार हफ्ते बाद भी कोई सुगबुगाहट नहीं है. बीइओ पारू के जांच छोड़ कर छुट्टी पर चले जाने के बाद डीएम ने डीपीओ एमडीएम व माध्यमिक शिक्षा को बीडीओ पारू के साथ जिम्मेदारी सौंपी है, लेकिन नयी टीम भी अबतक रिपोर्ट नहीं दे सकी है. डीइओ अब्दुस सलाम अंसारी ने बताया कि अभी जांच प्रतिवेदन नहीं मिला है।


Buy Amazon Product