बड़ी खबरें

शिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगाशिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगा 2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा खुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूचीखुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूची प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएंप्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएं शिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसलाशिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसला सभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतानसभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतान

कल अवकाश के दिन में सरकारी स्कूलों को खोल दिया गया है शिक्षा विभाग के अधिकारी ने जारी किया पत्र अब ऐसा होगा कार्यक्रम का प्रारूप हुआ जारी।

कल अवकाश के दिन में सरकारी स्कूलों को खोल दिया गया है शिक्षा विभाग के अधिकारी ने जारी किया पत्र अब ऐसा होगा कार्यक्रम का प्रारूप हुआ जारी।

जिलाधिकारी, मुजफ्फरपुर की अध्यक्षता में दिनांक 12.03.2022 को आहूत बैठक में प्राप्त निदेश के आलोक में दिनांक 22.03.2022 को मनाये जाने वाले बिहार दिवस के अवसर पर जिले के सभी रा० प्राथमिक / मध्य / उत्क्र०म० / उत्क्र०मा० / माध्यमिक / उच्च माध्यमिक विद्यालयों में निम्नवत् कार्यक्रम करने का आदेश दिया जाता हैं :-
1. सभी विद्यालय के पोषक क्षेत्र में पूर्वाहन 7:00 बजे से प्रभात फेरी का आयोजन किया जायेगा, जिसमें समाज सुधार से संबंधित बैनर यथा नशामुक्त बिहार / दहेज प्रथा / बाल विवाह से संबंधित स्लोगन का प्रदर्शन किया जायेगा। 2. सभी विद्यालयों में बिहार के स्मिता पर "बिहार गौरव गाथा" को सभी शिक्षकों एवं छात्र-छात्राओं के द्वारा प्रार्थना सत्र के पश्चात् पढ़ा जायेगा (जिलाधिकारी, मुजफ्फरपुर द्वारा अनुमोदित बिहार गौरव गाथा का प्रारूप संलग्न) । 3. वर्ग 01 से 05 तक के छात्रों का विद्यालय स्तर पर उक्त तिथि को पेन्टिंग प्रतियोगिता का आयोजन किया जायेगा l 4. वर्ग 06 से 12 तक के छात्रों के लिए विद्यालय स्तर पर उक्त तिथि को नशामुक्त बिहार / दहेज प्रथा / बाल-विवाह विषय पर निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया जायेगा।
5. वर्ग 06 से 12 तक के छात्रों के लिए विद्यालय स्तर पर उक्त तिथि को विवज प्रतियोगिता का आयोजन किया जायेगा।

यह भी पढ़ें - पुरानी पेंशन योजना लागू करने के लिए प्रधानमंत्री को मिला पत्र, एनपीएस में 4.4% मिलेगी जान ले कैसे मिलेगा

6. विद्यालय स्तर पर तीनों प्रतियोगिता यथा- पेन्टिंग / निबंध / क्विज प्रतियोगिता में प्रथम / द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले छात्र-छात्राओं को विद्यालय स्तर पर सम्मानित किया जायेगा। 7. विद्यालय स्तर से चयनित प्रथम स्थान प्राप्त प्रतिभागियों का तीनों प्रतियोगिता यथा पेन्टिंग / निबंध / क्विज प्रतियोगिता संकुल स्तर पर दिनांक 24.03.2022 को आहूत किया जायेगा, जिसमें प्रथम / द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले छात्र-छात्राओं को संकुल स्तर पर सम्मानित किया जायेगा। 8. संकुल स्तर से चयनित प्रथम स्थान प्राप्त प्रतिभागियों का तीनों प्रतियोगिता यथा पेन्टिंग / निबंध / क्विज प्रतियोगिता प्रखण्ड स्तर पर दिनांक 26.03.2022 को आहूत किया जायेगा, जिसमें प्रथम / द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले छात्र-छात्राओं को प्रखण्ड स्तर पर प्रखण्ड शिक्षा पदाधिकारी द्वारा सम्मानित किया जायेगा। प्रत्येक प्रखण्ड से तीनों प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्राप्त छात्र-छात्राओं की सूची प्रखण्ड शिक्षा पदाधिकारी द्वारा जिला शिक्षा पदाधिकारी. मुजफ्फरपुर को दिनांक 28.03.2022 तक अचूक रूप से जमा करना अनिवार्य होगा, ताकि उन प्रतिभागियों को जिला प्रशासन द्वारा सम्मानित किया जा सके।सभी प्रखण्ड शिक्षा पदाधिकारी / विद्यालय अवर निरीक्षक, नगरक्षेत्र, मुजफ्फरपुर उपर्युक्त आदेश का अनुपालन कराना सुनिश्चित करेगें।

यह भी पढ़ें - पुरानी पेंशन योजना लागू करने के लिए प्रधानमंत्री को मिला पत्र, एनपीएस में 4.4% मिलेगी जान ले कैसे मिलेगा

बिहार गौरव गाथा
विश्व में प्रथम गणतंत्र की जननी, गुरूनानक, महावीर जैन की जन्म भूमि एवं महात्मा बुद्ध की कर्मस्थली अपना राज्य बिहार अपनी सांस्कृतिक वैभव से विश्वविख्यात है। पवित्र नदी गंगा जिसे दो भागों में विभाजित कर अपनी सहायक नदियों के कलकल छलछल जल से यहाँ की मिट्टी को उर्वरा बनाती है। ज्ञान और प्राकृतिक सौंदर्य के लिये प्रसिद्ध नालंदा और राजगीर, वन्य प्राणियों के संरक्षण के लिये बाल्मीकिनगर अभ्यारण अपनी विशेषताओं के लिये जाना जाता है। लोक आस्था का महापर्व छठ सदभाव, संस्कृति और भाईचारे के साथ-साथ प्रकृति से जुड़ने तथा पर्यावरण संरक्षण के प्रति संवेदनशील बनाता । इसका गौरवशाली इतिहास सम्राट अशोक से लेकर शेरशाह सूरी जैसे वीर योद्धा से प्रतिपद है, जिसने लोक कल्याण और विश्वशांति के लिये धर्म और कर्म की ध्वजा लहराते रहे। आदि कवि विद्यापति से भिखारी ठाकुर महेन्द्र मिश्र जैसे लोक कलाकारों और कवियों ने यहाँ समृद्ध सांस्कृतिक विरासत को स्थापित किया है। मधुबनी चित्रकला एवं मंजूषा कला ने राज्य के गौरव को विश्वस्तर पर बढ़ाया है। वीर कुँवर सिंह जैसे सेनानी, आर्यभट्ट जैसे गणितज्ञ, पतंजलि, चाणक्य, बाल्मीकि, देश के प्रथम राष्ट्रपति डा० राजेन्द्र प्रसाद, गणितज्ञ रामानुज, राष्ट्रकवि रामधारी सिंह दिनकर जैसे महान सपूतों की धरती अपने भीतर कई समृद्ध इतिहास को समेटे हुये हैं। सत्य और अहिंसा के पुजारी महात्मा गांधी ने जहाँ पहला सत्याग्रह आंदोलन चलाया तथा त्याग, तपस्या एवं जनकल्याण के लिये सर्वस्व निछावर करने वाली मातृशक्ति जगत जननी सीता की भूमि हमें गौरवांवित करती है। आइए आज दिनांक 22 मार्च 2022 को बिहार राज्य के स्थापना दिवस पर यह संकल्प लें और अपने इस गौरवशाली राज्य को अपने कर्म, साहस, के साथ समृद्ध और गौरवशाली बनाएँ ।

 

 


Buy Amazon Product