बड़ी खबरें

शिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगाशिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगा 2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा खुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूचीखुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूची प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएंप्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएं शिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसलाशिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसला सभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतानसभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतान

राज्य के 38 जिलो में इन सभी सरकारी स्कूलों के शिक्षकों पर कार्रवाई की लिस्ट हुई जारी।

राज्य के 38 जिलो में इन सभी सरकारी स्कूलों के शिक्षकों पर कार्रवाई की लिस्ट हुई जारी।

पटना। स्कूल में उपस्थित नहीं रहने वाले टीचरों पर अब सरकार कार्रवाई करेगी। दरअसल, राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वेक्षण 2021 की एक रिपोर्ट में यह पाया गया है कि बिहार के 5,667 स्कूलों में शिक्षक ड्यूटी से गायब रहते हैं। वैसे शिक्षकों पर सरकार कार्रवाई करते हुए वेतन में कटौती करेगी। इसके लिए शिक्षा विभाग ने बच्चों के मूल्यांकन सर्वे में अनुपस्थित रहे शिक्षकों की रिपोर्ट जिलों से मांगी है। इस संबंध में केंद्र सरकार की ओर से 12 नवंबर को राष्ट्रीय स्तर पर यह सर्वेक्षण कराया गया था। इसमें 5, 727 विद्यालयों को शामिल किया गया था, अपरिहार्य कारणों से 60 विद्यालय को सर्वे में शामिल नहीं किया गया। शिक्षा विभाग द्वारा तैयार कराई गई जिलेवार रिपोर्ट में सर्वे से जुड़े कूलों के एक लाख 70 हजार 875 बच्चे शामिल हुए हैं, जिनकी मूल्यांकन रिपोर्ट अप्रैल में केंद्र सरकार की ओर से जारी की जाएगी।

यह भी पढ़ें - नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर कब होगा बढे 15 % वेतन राशि का शिक्षकों को भुगतान जरूर जाने।

जानकारी के अनुसार सर्वेक्षण में अररिया में 4,965, अरवल में 3,357, औरंगाबाद में 4,526, बांका में 4,131, बेगूसराय में 4,923, भागलपुर में 4, 722, भोजपुर में 4,974, बक्सर में 4,839, दरभंगा में 4,820, गया में 4,899, गोपालगंज में 4,896, जमुई में 3,893, जहानाबाद में 4,016, कैमुर में 4, 115, कटिहार में 4,372 और खगड़िया से 4, 252 बच्चे शामिल हुए। वहीं, किशनगंज में 4, 446, लखीसराय में 3,782, मधेपुरा में 3,688, मधुबनी में 5,086, मुंगेर में 4, 149, मुजफ्फरपुर में 4,306, नालंदा में 5,378, नवादा में 3,838, पश्चिम चंपारण में 4,378, पूर्णिया में 4,590, पटना में 6, 123, पूर्वी चंपारण में 4,378, रोहतास में 4,973, सहरसा में 4,306, समस्तीपुर में 4,603, सारण में 4,838, शेखपुरा में 3, 468, शिवहर में 3,209, सीतामढ़ी में 5061, सिवान में 4, 770, सुपौल में 4,456 और वैशाली में 4,352 बच्चे शामिल हुए। बिहार के 27 जिलों में कक्षा तीन, पांच, आठ और 10 के चयनित स्कूलों में शिक्षा विभाग और सीबीएसई की टीम ने सर्वे किया। एनएएस 2021 के लिए सभी चयनित स्कूलों में शिक्षकों की उपस्थिति अनिवार्य की गई थी। बावजूद शिक्षक अनुपस्थित रहे, तो अब उनपर कार्रवाई करने की तैयारी सरकार द्वारा की जा रही है।


Buy Amazon Product