बड़ी खबरें

78 हजार केंद्रीय राज्य कर्मियों को 188 करोड़ से ज्यादा दिवाली बोनस के रूप में बड़ी धनराशि मिलेगी।78 हजार केंद्रीय राज्य कर्मियों को 188 करोड़ से ज्यादा दिवाली बोनस के रूप में बड़ी धनराशि मिलेगी। राज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दियाराज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दिया बेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहरबेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहर सरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धिसरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धि हो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबितहो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबित 2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी

बिहार के पटना में सरकारी स्कूल के प्रिंसिपल को तीन शिक्षिकाओं ने क्लास में बांधकर पीटा, बच्चों ने बचा ली जान।

बिहार के पटना में सरकारी स्कूल के प्रिंसिपल को तीन शिक्षिकाओं ने क्लास में बांधकर पीटा, बच्चों ने बचा ली जान।

• बिक्रम प्रखंड के निसरपुरा बुनियादी विद्यालय का मामला

• बच्चों के शोर मचाने पर पहुंचे ग्रामीणों ने करावा मुक्त

• डीएम ने तीनों आरोपित शिक्षिका को निलंबित करने का दिया आदेश

प्रखंड के निसरपुरा बुनियादी विद्यालय की प्रधानाध्यापिका ने शनिवार को देर से विद्यालय आने का कारण पूछ तो तीन शिक्षिकाओं ने मिलकर उन्हें कमरे में बंद कर दिया और जमकर पिटाई कर दी मारपीट देख सहमे बच्चों ने शोर मचाया तो आसपास के लोग पहुंचे और प्रधानाध्यापिका को कमरे से बाहर निकाला।

प्रधानाध्यापिका शारदा कुमारी ने बिक्रम थाने में शिक्षिका रानी कुमारी, ऋतुराज और रूमा रानी के विरुद्ध बंधक बनाकर मारपीट की प्राथमिकी दर्ज कराई। देर शाम डीएम डा. चंद्रशेखर सिंह ने मामले का संज्ञान लिया और तीनों आरोपित शिक्षिकाओं को निलंबित करने का आदेश दे दिया। जांच में दोषी पाई गई तो इन्हें बर्खास्त भी किया जा सकता है।

पीड़िता ने बताया कि शनिवार की सुबह लगभग नौ बजे वे विद्यालय पहुंचीं। तब तक शिक्षिका रानी कुमारी, ऋतुराज और रूपा रानी विद्यालय नहीं पहुंचीं थीं। वे देर से विद्यालय आईं तो इसका कारण पूछते ही तीनों भड़क गईं और कमरे में बंद कर उनकी पिटाई कर दी। शोर मचाने पर बच्चे कमरे के बाहर जमा होकर चिल्लाने लगे। बच्चों की आवाज सुनकर आसपास के ग्रामीण पहुंचे और दरवाजा खुलवा कर बचाया। पीड़ित प्रधानाध्यापिका ने बताया कि रानी कुमारी विद्यालय के प्रभार में नहीं हैं। इसके बाद भी वे कार्यालय का जरूरी रजिस्टर अपने पास रखती हैं और अब तक प्रभार भी नहीं दिया है। तीनों शिक्षिकाएं अक्सर विद्यालय से गायब रहती हैं। शारदा ने बताया कि पूर्व में भी उनके साथ इन्हीं शिक्षिकाओं ने दुर्व्यवहार किया था। इसकी जानकारी वरीय पदाधिकारी को दी गई थी। शिकायत के बाद भी कार्रवाई नहीं की गई।

विद्यालय प्रधान शारदा कुमारी ने बताया कि स्कूल में एक से पांच वर्ग की पढ़ाई होती है। यहां 175 बच्चे नामांकित हैं। शिक्षकों की संख्या छह है। शिक्षिका रानी कुमारी, ऋतुराज और रूपा रानी गौड़ अक्सर विद्यालय 11 बजे के बाद आती हैं। उपस्थिति दर्ज कराने के बाद स्कूल बंद होने के पहले ही घर चली जाती हैं। मारपीट की सूचना के बाद बीडीओ प्रशांत कुमार एवं प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी राम विलास रमण ने प्रधानाध्यापिका शारदा कुमारी, स्कूली बच्चों एवं रसोइया से पूछताछ की। बीडीओ ने बताया कि मामले की जांच कर डीएम को रिपोर्ट देंगे। वहीं थानाध्यक्ष ने बताया कि मामले को लेकर आवेदन दिया गया है। जांच की जा रही है।


Buy Amazon Product