बड़ी खबरें

शिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगाशिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगा 2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा खुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूचीखुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूची प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएंप्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएं शिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसलाशिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसला सभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतानसभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतान

नई शिक्षा नीति 2020 में शिक्षकों को निंजा मिलने जा रही है यह सबसे बड़ी लाभ डीईओ ने किया ।

नई शिक्षा नीति 2020 में शिक्षकों को निंजा मिलने जा रही है यह सबसे बड़ी लाभ डीईओ ने किया ।

जिले के शिक्षकों को नई शिक्षा नीति के बारे में ट्रेनिंग दी गई। इसके लिए वेविनार का आयोजन किया गया। इसमें जिले के एक हजार शिक्षक जुड़े रहे और नई शिक्षा नीति 2020 के बारे में जानकारी ली। इससे होने वाले लाभ के बारे में भी समझा। यह वेविनार समग्र शिक्षा सीवान और श्रीअरविंद सोसाइटी व एचडीएफसी बैंक की ओर से राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 परिवर्तन एवं प्रभाव' विषय पर आयोजन किया गया। शिक्षकों को नई शिक्षा नीति के विभिन्न आयामों और पहलूओं के बारे अवगत कराने और इसके सफल क्रियान्वयन के लिए तैयार करने हेतु आयोजित किए गए। ऑनलाइन सम्मेलन में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहें जिला शिक्षा पदाधिकारी मिथिलेश कुमार विशिष्ट अतिथियों के रूप में जिला कार्यक्रम पदाधिकारी समग्र शिक्षा अवधेश कुमार उपस्थित रहे। इसके अलावा उमेश उपाध्याय, कॉम्पोनेन्ट इंचार्ज (गुणवत्ता शिक्षा) एवं अशोक शर्मा मौजूद थे। 

यह भी पढ़ें - सरकार ने 23.59 करोड़ कर्मचारियों के खातों में भेजा ब्याज के साथ अपना जरूर देख लें।

सोशल मीडिया के माध्यम से एनईपी 2020 आधारित सत्र में शिक्षकों ने इसनीति को समझकर इस प्रशिक्षण सत्र का लाभ उठाया। विशिष्ट अतिथि के रूप में वेबिनार में मौजूद जिला कार्यक्रम पदाधिकारी समग्र शिक्षा अवधेश कुमार ने शिक्षा की नींव रखने वाले शिक्षकों को नई शिक्षा नीति को विस्तार से समझने और क्रियान्वित करने की सलाह दी। उन्होंने कहा "नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति का निर्माण कई वर्षों के सम्मिलित प्रयासों से हुआ है। यह नीति विद्यार्थियों के व्यावसायिक शिक्षण और सर्वागीण विकास पर बल देती है। यह नीति बच्चों में बहुआयामी प्रतिभा जागृत करने, उन्हें आत्मनिर्भर बनाने एवं विश्लेषणात्मक तार्किक शिक्षा को विकसित करने की ओर बल देती है। यह नीति देश को प्रगति के पथ पर प्रशस्त करने का मार्ग दिखाती है और इसलिए शिक्षकों को इस नीति को आत्मसात कर शिक्षण स्तर को बेहतर बनाना होगा।" श्री कुमार ने शिक्षण जगत में निरंतर योगदान देने के लिए श्री अरविंद सोसाइटी के प्रयासों की प्रशंसा की। 

यह भी पढ़ें - सरकार ने 23.59 करोड़ कर्मचारियों के खातों में भेजा ब्याज के साथ अपना जरूर देख लें।

शिक्षकों को सम्बोधित करते हुए कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि उमेश उपाध्याय, कॉम्पोनेन्ट इंचार्ज ( गुणवत्ता शिक्षा) ने इस नीति को क्रियान्वित करने के लिए पूर्ण मनोयोग से कार्य करने की बात कही।  उन्होंने कहा, "राष्ट्रीय शिक्षा नीति में विद्यार्थियों के बुनियादी साक्षरता और संख्याज्ञान को सर्वाधिक प्राथमिकता देने की बात की गई है। साथ-साथ मातृभाषा, समावेशी शिक्षा जैसे अनेकों पहलुओं पर जोर दिया गया है। इस नीति का एक मुख्य लक्ष्य आनंददायी शिक्षण प्रदान करना है। विद्यार्थियों को शिक्षा आनंदित और उत्साहित करे, उनके मन में विद्यालय आना बोझ न हो। शिक्षण को आनंददायी बनाने के लिया यह जरूरी है कि शिक्षकगण स्वयं शिक्षण प्रदान करने में रुचि लें।" इसके साथ ही उन्होंने शिक्षा के क्षेत्र में श्रीअरविन्द सोसाइटी के प्रयासों की भरपूर सराहना की।


Buy Amazon Product