बड़ी खबरें

शिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगाशिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगा 2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा खुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूचीखुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूची प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएंप्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएं शिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसलाशिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसला सभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतानसभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतान

राज्य के बयान में हजार सरकारी स्कूलों को बरसों के बाद मिला खुशियों का सौगात अब बनेगी नीति।

राज्य के बयान में हजार सरकारी स्कूलों को बरसों के बाद मिला खुशियों का सौगात अब बनेगी नीति।

पटना: बिहार में 92 हजार सरकारी विद्यालयों में शौचालय और शुद्ध पेयजल प्रबंधन के लिए पालिसी जल्द बनेगी क्योंकि पढ़ाई के साथ साथ स्वच्छता भी जरूरी है। प्रदेश भर के विद्यालयों में स्वच्छता और इसके प्रति जागरूकता हेतु यूनिसेफ से तकनीकी मदद दी जा रही है। एप से विद्यालयों में स्वच्छता की निगरानी भी की जाएगी। शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार ने सोमवार को बिहार स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार के लिए आयोजित राज्य स्तरीय उन्मुखीकरण कार्यशाला का उद्घाटन करते हुए यह बात कही।

यह भी पढ़ें - इस वक्त सबसे बड़ी खबर डेढ़ वर्ष के एरियर पर आ गई नई खबर एक करोड़ कर्मचारियों को मिलेगा लाभ।

संजय कुमार ने दो दिवसीय कार्यशाला के पहले दिन 19 जिलों के जिला शिक्षा अधिकारियों एवं जिला कार्यक्रम पदाधिकारियों समेत अन्य पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि केंद्र सरकार द्वारा राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार प्रतिस्पर्धा में इस बार प्रदेश के स्वच्छ विद्यालयों की न सिर्फ इंट्री जानी चाहिए, बल्कि पुरस्कार भी जीतने चाहिए। स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार हेतु सात मानक तय किए गए है। ऐसे में इस्तेमाल नहीं होने से वह खराब हो जाता है। इससे पहले बिहार शिक्षा परियोजना परिषद (बीईपी) के राज्य परियोजना निदेशक श्रीकांत शास्त्री ने अतिथियों का स्वागत किया।

यह भी पढ़ें - 7th Pay Commission DA का 50% भुगतान और वेतन वृद्धि की मांग पर अड़े यह कर्मचारी 1 नवंबर से एक काम के बहिष्कार का किया ऐलान।

स्वच्छ विद्यालय के तय मानक व अंक।
सुरक्षित व पर्याप्त शुद्ध पेयजल की आपूर्ति पर 20 अंक, छात्रों छात्राओं हेतु अलग-अलग शौचालय के लिए 20 अक, साबुन से हाथ धुलाई पर 10 अंक, स्वच्छता सुविधाओं का प्रबंधन पर 20 अंक, स्थायी व्यवहार परिवर्तन के लिए संवाद हेतु 10 अंक, क्षमतावर्द्धन कार्यक्रम के लिए 10 अंक, सामुदायिक भागीदारी एवं सहयोग पर 10 अंक


Buy Amazon Product