बड़ी खबरें

शिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगाशिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगा 2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा खुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूचीखुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूची प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएंप्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएं शिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसलाशिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसला सभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतानसभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतान

बिहार के इन स्कूलों में डेढ़ साल बाद रौनक दो अक्टूबर से खुलेंगे शिक्षक हो जाएं तैयार।

बिहार के इन स्कूलों में डेढ़ साल बाद रौनक दो अक्टूबर से खुलेंगे शिक्षक हो जाएं तैयार।

पटना : राज्यभर के कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालयों (केजीबीवी) में डेढ़ साल बाद घंटी बजेगी। दो अक्टूबर को महात्मा गांधी की जयंती पर राज्यभर के ऐसे विद्यालयों को कोरोना संकट से उपजे गतिरोध के बाद एक बार फिर से खोलने का निर्णय शिक्षा विभाग ने लिया है। इन विद्यालयों में इस दिन से पठन-आरंभ करने के साथ ही केजीबीवी में संचालित सभी हास्टल भी खोल दिये जायेंगे ताकि गरीब परिवार से आने वाली नामांकित छात्राएं यहां रहकर पढ़ाई कर सकें।कोरोना के कारण मार्च 2020 से ही सभी कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय बंद हैं। केन्द्र सरकार द्वारा बिहार में संचालित सभी केजीबीवी को आरंभ करने की हरी झंडी और राज्य सरकार के गृह विभाग द्वारा 4 अगस्त 2021 को दी गई छात्रावासों के संचालन की अनुमति के बाद गांधी जयंती से राज्य के सभी प्रकार (टाइप) के कस्तूरबा विद्यालय अब संचालित होंगे

यह भी पढ़ें - राज्य की कर्मचारियों के साथ बिहार के साढे चार लाख नियोजित शिक्षकों की बल्ले-बल्ले 2 महीने एरियर के साथ वेतन का होगा भुगतान

 राज्य के सभी 634 केजीबीवी को 2 अक्टूबर से खोले जाने को लेकर सभी डीईओ को निर्देश जारी किया गया है। बिहार शिक्षा परियोजना परिषद के राज्य परियोजना निदेशक श्रीकांत शास्त्री ने इस बाबत दिशा-निर्देश सभी डीईओ को जारी किया प्रवेश मिलेगा। अभी स्वस्थ बालिकाएं ही छात्रावास में रहेंगी। सर्दी, खांसी, बुखार से ग्रस्त होने वाली नहीं रहेंगी। जहां-तहां थूकने की मनाही होगी। छात्रावासों के अंदर कर्मियों व बालिकाओं को छोड़ अन्य किसी का प्रवेश वर्जित रहेगा।

यह भी पढ़ें - राज्य की कर्मचारियों के साथ बिहार के साढे चार लाख नियोजित शिक्षकों की बल्ले-बल्ले 2 महीने एरियर के साथ वेतन का होगा भुगतान

छात्राओं के लिए सिंगल बेड की होगी खरीद

केजीबीवी छात्रावासों में पिछले तीन शैक्षिक सत्रों में दी गयी राशि चौकी, पंखा, अलमीरा, इन्वर्टर, टेबुल, कुर्सी आदि की खरीद नहीं होने के कारण लैप्स हो गई थी। मौजूदा आधारभूत संरचना में छात्रावासों में सभी छात्राओं के लिए सिंगल बेड उपलब्ध नहीं नहीं हैं। बीईपी निदेशक ने सभी डीईओ को निर्देश दिया है कि निर्धारित संख्या में सिंगल बेड चौकी की खरीद की जाए, जिससे सामाजिक दूरी का पालन हो सके और हर छात्रा को अलग चौकी मिले। इसके लिए विद्यालयों को दो लाख रुपए से आवश्यक संसाधन के क्रय की छूट दी गई है।

यह भी पढ़ें - राज्य शिक्षा शोध एवं प्रशिक्षण परिषद के निर्देशक प्रभारी ने प्रारंभिक विद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों के लिए आया निर्देश, पत्र हुआ जारी।

67600 छात्राओं के नामांकन की क्षमता

बिहार में तीन प्रकार के केजीबीवी संचालित हैं, जिनमें 67600 छात्राओं के नामांकन की क्षमता है। पहले प्रकार (टाइप वन, कक्षा छह से आठ) के 443 विद्यालयों में प्रति विद्यालय 100 के हिसाब से 44300, टाइप तीन के छह से आठ वाले 150 विद्यालयों में 5000, इसी टाइप के कक्षा छह से 12वीं तक में प्रति स्कूल 200 के हिसाब से 42 विद्यालयों में 8400 और टाइप-4 के 99 केजीबीवी में हर में 100 के मुताबिक 9900 छात्राओं के नामांकन की क्षमता है।


Buy Amazon Product