बड़ी खबरें

नीतीश सरकार की विफलता को देखते हुए अभ्यर्थियों के संघर्ष में राजद उनके साथ, विस में उठायेंगे मुद्दाः तेजस्वी

नीतीश सरकार की विफलता को देखते हुए अभ्यर्थियों के संघर्ष में राजद उनके साथ, विस में उठायेंगे मुद्दाः तेजस्वी

प्राथमिक शिक्षक नियोजन प्रक्रिया को पूरा करने की मांग को लेकर गर्दनीबाग में धरना दे रहे शिक्षक अभ्यर्थियों से मुलाकात करने बुधवार को नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव इको पार्क पहुंचे. सैकड़ों की संख्या में जुटे अभ्यर्थियों ने उनसे अपनी पीड़ा साझा की. कहा कि सरकार की तरफ से उनके नियोजन को खारिज करने की कोशिश की जा रही है. विभागीय अफसर कह रहे हैं कि एक बार फिर ऑनलाइन आवेदन कीजिए

 

नियोजित शिक्षकों के वेतन मद में केंद्र सरकार ने 1941 करोड़ रुपए का दिया सौगात वेतन के साथ एरियर का होगा भुगतान।

 

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी से गुहार लगायी कि सरकार को नियोजन पूरा कराने के लिए दबाव बनाएं. इस पर राजद नेता तेजस्वी ने दो टूक कहा कि उनके इस संघर्ष में राजद उनके साथ है. इस दौरान उन्होंने पहले डीजीपी से बात करने के लिए फोन लगाया. तेजस्वी ने धरना देने पटना आये अभ्यर्थियों को आश्वस्त किया है कि आप लोगों की बात को अगर सरकार ने नहीं सुनी,

आखिरकार शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी को नियोजित शिक्षकों की बात माननी ही पड़ी होगी समस्या खत्म।

 

विधानसभा में उठाया जायेगा. राजद आपके साथ है. वहीं, नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल पर लिखा है कि पटना के एसपी मद्यनिषेध ने सभी जिलों के एसएसपी और एसपी को पत्र लिखा कि उत्पाद और पुलिस विभाग के अधिकारी सत्ताधारी जनप्रतिनिधियों के साथ मिल कर शराब बिक्री करवा रहे हैं।

शिक्षकों को लेकर तेजस्वी यादव कर रहे ड्रामा :संजय सिंह

27 जनवरी से कक्षा 1 से 8 तक के बच्‍चे भी जा सकते हैं स्‍कूल, सरकार कर रही तैयारी.


पटना. जदयू के मुख्य प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा कि विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव नियोजित शिक्षकों के नाम पर ड्रामा कर रहे हैं, जबकि सच्चाई यह है कि चरवाहा विद्यालय चलाने वाले उनके माता-पिता शिक्षा की बात सुनते ही भड़क जाते थे. उस समय की उपलब्धि यह है कि बिहार में चरवाहा विद्यालय की स्थापना हुई , शिक्षकों को वेतन नहीं दिया जाता था.

 

शिक्षक पलायन कर गये थे. वर्षों शिक्षक की बहाली नहीं हुई. छात्रों के कल्याण के लिए एक भी योजना नहीं चलायी गयी. स्कूलों के भवनों पर दबंगों का कब्जा रहता था. श्री सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री रहने के बावजूद लालू-राबड़ी ने अपने पुत्र को शिक्षा के मौलिक अधिकार से वंचित रखा.


Buy Amazon Product