बड़ी खबरें

78 हजार केंद्रीय राज्य कर्मियों को 188 करोड़ से ज्यादा दिवाली बोनस के रूप में बड़ी धनराशि मिलेगी।78 हजार केंद्रीय राज्य कर्मियों को 188 करोड़ से ज्यादा दिवाली बोनस के रूप में बड़ी धनराशि मिलेगी। राज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दियाराज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दिया बेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहरबेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहर सरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धिसरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धि हो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबितहो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबित 2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी

19 वर्ष के बाद नियोजित शिक्षकों के स्नातक ग्रेड में प्रोन्नति पर आई खबर जान ले विस्तार से

19 वर्ष के बाद नियोजित शिक्षकों के स्नातक ग्रेड में प्रोन्नति पर आई खबर जान ले विस्तार से

पूर्णिया। परिवर्तनकारी प्रारंभिक शिक्षक संघ पूर्णिया जिलाध्यक्ष अरुण आरुणि ने कहा 19 वर्षों से कार्यरत नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में प्रोन्नति न मिलने परेशान हैं। इसी कारण परिवर्तनकारी प्रारंभिक शिक्षक संघ ने फिरसे पटना हाईकोर्ट में अवमाननावाद दर्ज कराया है। संघ के प्रदेश अध्यक्ष वंशीधर ब्रजवासी ने कहा है कि बेसिक ग्रेड में कार्यरत शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में प्रोन्नति देने की मांग को लेकर संघ ने वर्ष 2014 में समादेश याचिका संख्या 9494 दर्ज कराया था, जिसकी सुनवाई के क्रम में 26 अगस्त 2016 को निदेशक प्राथमिक शिक्षा ने शपथ पत्र दायर कर यह आश्वस्त किया था कि 6 माह के अंदर प्रोन्नति की कार्रवाई पूरी कर ली जाएगी । किंतु अदालत में हलफनामा के माध्यम से दिए आश्वासन के बावजूद विभाग द्वारा के प्रोन्नति की कार्रवाई नहीं की गई।

यह भी पढ़ें - हाईकोर्ट के आदेश के बावजूद नियोजित शिक्षकों को नहीं मिली प्रोन्नति अधिकारियों पर हो सकेगी कार्रवाई।

 

स्कूल की रखवाली करने वालों को दो साल से वेतन नहीं

 

गया। सरकारी स्कूल के बच्चों के लिए स्मार्ट क्लास शुरू हुए। स्कूल-स्कूल टीवी और अन्य उपकरण आ गए। फिर उनकी सब चीजों की रखवाली के लिए रात्रि - प्रहरियों की नियुक्ति भी कर दी गई। लेकिन आज सबकी हालत खराब है। एक तरफ स्मार्ट क्लास सिर्फ दिखावे का चीज बना हुआ है, तो दूसरी तरफ स्मार्ट क्लास सहित स्कूल की रखवाली करनेवाले रात्रि - प्रहरियों को दो साल से वेतन ही नहीं मिल रहा है।

यह भी पढ़ें - सरकारी स्कूल में हिंदी अंग्रेजी के बाद जर्मन भाषा की होगी पढ़ाई शिक्षा मंत्री ने समझौते पर किया हस्ताक्षर

 

रात्रि - प्रहिरयों में आक्रोश : शिक्षा विभाग अपनी ही योजना को ठीक से लागू नहीं कर पा रहा है। स्मार्ट क्लास और स्कूल की रखवाली के लिए रात्रि प्रहरी रखने का आदेश जारी हुआ । आनन-फानन में गया जिले में भी कुल 258 रात्रि प्रहरी रख दिए गए। सभी को प्रति माह महज पांच हजार रुपये देने का विभागीय आदेश हुआ। वर्ष 2019 - 20 में पैसा रिलीज हुआ । छह महीने का वेतन एक साथ मिला । लेकिन इसके बाद विभाग इन सभी लोगों को वेतन देना भूल गया । पिछले दो साल से बगैर मानदेय रात्रि प्रहरी काम कर रहे हैं । वेतन न मिलने के कारण जिले के रात्रि - प्रहरियों में आक्रोश बढ़ता जा रहा है। यहां तक कि रात्रि प्रहरियों ने अब विरोध - के लिए अपना संघ तक बना लिया है ।


Buy Amazon Product