बड़ी खबरें

78 हजार केंद्रीय राज्य कर्मियों को 188 करोड़ से ज्यादा दिवाली बोनस के रूप में बड़ी धनराशि मिलेगी।78 हजार केंद्रीय राज्य कर्मियों को 188 करोड़ से ज्यादा दिवाली बोनस के रूप में बड़ी धनराशि मिलेगी। राज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दियाराज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दिया बेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहरबेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहर सरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धिसरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धि हो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबितहो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबित 2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी

शिक्षकों के वेतन एवं अन्य मदों के लिए 23 करोड़ 40 लाख रुपए हुए आवंटन जान ले भुगतान किस प्रकार होगा।

शिक्षकों के वेतन एवं अन्य मदों के लिए 23 करोड़ 40 लाख रुपए हुए आवंटन जान ले भुगतान किस प्रकार होगा।


सेकेंडरी-प्लसटू शिक्षकों के वेतन को 23.40 अरब जारी।पटना। राज्य में जिला परिषद एवं नगर निकायों के माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक शिक्षकों तथा पुस्तकालयाध्यक्षों के वेतन मद में 23 अरब 40 करोड़ 64 लाख 59 हजार 813 रुपये जारी हुए हैं । शिक्षा विभाग के उप सचिव अरशद फिरोज के हस्ताक्षर से राशि के विमुक्त हुई है। इसमें नगर निगम नियोजन इकाइयों के लिए एक अरब 99 करोड़ 24 लाख 33 हजार, नगरपालिका एवं नगर परिषद नियोजन इकाइयों के लिए दो अरब 14 करोड़ 19 लाख 15 हजार 483 रुपये, नगर पंचायत नियोजन इकाइयों के लिए एक अरब 66 करोड़ तीन लाख 16 हजार 192 रुपये तथा जिला परिषद नियोजन इकाइयों के लिए 17 अरब 61 करोड़ 17 लाख 95 हजार 138 रुपये शामिल हैं।

यह भी पढ़ें - डीएम ने पत्र जारी कर आदेश किया के आप सरकारी व निजी स्कूल इस समय से इस समय तक ही चलेंगे

ये हैं अनुकरणीय
पटना। राज्य के 50 अनुकरणीय |
प्लस टू स्कूलों में पटना के सात - स्कूल हैं-बांकीपुर राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय, शहीद राजेंद्र प्रसाद सिंह राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय (पटना हाई स्कूल), देवीपद चौधरी स्मारक (मिलर) उच्च माध्यमिक विद्यालय, टी. के. घोष एकेडमी, पटना कॉलेजियेट स्कूल, मंजू सिन्हा प्रोजेक्ट बालिका उच्च विद्यालय
(बख्तियारपुर) एवं आरएसएम रेलवे एडेड उच्च विद्यालय (मोकामा घाट) । अनुकरणीय) विद्यालयों में समस्तीपुर जिले के तीन स्कूल हैं- विद्यापति उच्च विद्यालय (मउवाजिदपुर दक्षिण), उच्च विद्यालय (सरायरंजन) एवं सी. एच. उच्च विद्यालय (दलसिंहसराय) । इसी प्रकार अररिया के उच्च विद्यालय (अररिया), अरवल के बालिका उच्च विद्यालय (अरवल), औरंगाबाद का राजकीयकृत टाउन इंटर विद्यालय (औरंगाबाद), बांका के एस. एस. बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय (बांका)।

यह भी पढ़ें - राज्य के सभी सरकारी स्कूलों में नए नियमों के साथ होगा निरीक्षण शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने जारी किया निर्देश जरूर जान ले।

बेगूसराय के बीएसएस कॉलेजिएट प्लस टू विद्यालय (बेगूसराय), भागलपुर के जगदीशपुर प्रखंड के राजकीय बालिका उच्च विद्यालय, भोजपुर के हितनारायण क्षत्रीय प्लस टू विद्यालय (आरा), बक्सर का एस. पी. विद्यामंदिर, दरभंगा के प्लस टू एम. एल. एकेडमी (लहेरियासराय), पूर्वी चंपारण के प्लस-टू इंटर कॉलेज जिला स्कूल (मोतिहारी) एवं मंगल सेमिनरी (मोतिहारी), गया के मारवाड़ी प्लस टू उच्च विद्यालय (गया), गोपालगंज के एस. एस. बालिका उच्च विद्यालय (गोपालगंज), जमुई के प्लस टू उच्च विद्यालय (जमुई), जहानाबाद के सुखदेव प्रसाद वर्मा प्लस टू स्कूल (टेहटा), कैमूर के एबीएस उच्चतर माध्यमिक विद्यालय (भभुआ) कटिहार के प्लस टू गांधी उच्च विद्यालय (कटिहार), खगड़िया के जे. एन. के. टी. इंटर स्कूल, किशनगंज के बहादुरगंज प्रखंड के प्लस-टू रसेल उच्च विद्यालय, लखीसराय के के. आर. के. आदर्श उच्च विद्यालय, मधेपुरा के राजकीय केशव कन्या उच्च विद्यालय, मधुबनी के एसएनएसटीएनजी वाटसन प्लस टू उच्च विद्यालय, मुंगेर के बैजनाथ राजकीय बालिका उच्च विद्यालय।

यह भी पढ़ें - न्यायालय में याचिका दायर हुआ नियोजित शिक्षकों के हक में एक महत्वपूर्ण और ऐतिहासिक फैसला साबित होगा।

मुजफ्फरपुर के राजकीय जिला स्कूल, नालंदा के राजकीयकृत कन्या उच्च विद्यालय (सोसराय) एवं राष्ट्रीय महात्मा गांधी उच्च विद्यालय (गुरुशरणपुर, बेन), नवादा के इंटर विद्यालय (हिसुआ), पूर्णिया के बी. बी. एम. उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, रोहतास के शेरशाह इंटर प्लस टू उच्चतर माध्यमिक विद्यालय (सासाराम), सहरसा के प्लस टू राजकीय उच्च विद्यालय, सारण के राजकीय बालिका उच्चतर माध्यमिक विद्यालय (छपरा), शेखपुरा के डी. एम. मॉडल उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, शिवहर के श्रीनवाब उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, सीतामढ़ी के सीतामढ़ी उच्चतर माध्यमिक विद्यालय (डुमरा) एवं महंथ विवेकानंद गिरि उच्च विद्यालय (मानेचीर, रून्नी सैदपुर), सिवान के वी. एन. उच्च विद्यालय सह-इंटर कॉलेज, सुपौल के हजारी प्लस टू उच्च विद्यालय (गौरवगढ़) एवं प्लस-टू उच्च विद्यालय (विलियम विद्यालय, सुपौल), वैशाली के एसएस बालिका उच्चतर माध्यमिक विद्यालय (हाजीपुर) तथा पश्चिम चंपारण के राज उच्च विद्यालय (बेतिया) आदर्श (अनुकरणीय) विद्यालय के लिए चयनित स्कूलों की सूची में शामिल हैं।


Buy Amazon Product