बड़ी खबरें

78 हजार केंद्रीय राज्य कर्मियों को 188 करोड़ से ज्यादा दिवाली बोनस के रूप में बड़ी धनराशि मिलेगी।78 हजार केंद्रीय राज्य कर्मियों को 188 करोड़ से ज्यादा दिवाली बोनस के रूप में बड़ी धनराशि मिलेगी। राज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दियाराज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दिया बेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहरबेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहर सरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धिसरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धि हो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबितहो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबित 2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी

NCERT ने लिया सबसे बड़ा फैसला, शैक्षणिक सत्र 2022-23 के लिए पाठ्यक्रम होगा कम

NCERT ने लिया सबसे बड़ा फैसला, शैक्षणिक सत्र 2022-23 के लिए पाठ्यक्रम होगा कम

NCERT ने सभी कक्षाओं के लिए अगले वर्ष के लिए पाठ्यक्रम और पाठ्यपुस्तकों को कम करने का निर्णय लिया है. 15 दिसंबर 2021 को एनसीईआरटी के प्रभारी निदेशक श्रीधर श्रीवास्तव ने विभागों के प्रमुखों को आंतरिक और बाहरी विशेषज्ञों को शामिल करके समीक्षा करने का आदेश दिया

 

यह भी पढ़ें - राज्य के हजारों शिक्षकों के सेवा शर्त नियमावली में हुआ बड़ा बदलाव 1 तारीख से यह शिक्षक हो जाएंगे सहायक अध्यापक।

एनसीईआरटी ने शैक्षणिक सत्र 2022-23 के लिए सभी कक्षाओं की स्कूली पाठ्यपुस्तकों को हल्का करने का निर्णय लिया है. देश में COVID 19 महामारी के कारण सीखने की प्रक्रिया में व्यवधान के कारण परिषद ने ये फैसला लिया है. पिछले कुछ दिनों में मामले बढ़े हैं जिसके कारण स्कूल बंद हैं और ऑनलाइन कक्षाएं जारी हैं।

NCERT ने सभी कक्षाओं के लिए अगले वर्ष के लिए पाठ्यक्रम और पाठ्यपुस्तकों को कम करने का निर्णय लिया है. 15 दिसंबर 2021 को एनसीईआरटी के प्रभारी निदेशक श्रीधर श्रीवास्तव ने विभागों के प्रमुखों को आंतरिक और बाहरी विशेषज्ञों को शामिल करके समीक्षा करने का आदेश दिया।

यह भी पढ़ें - राज्य के हजारों शिक्षकों के सेवा शर्त नियमावली में हुआ बड़ा बदलाव 1 तारीख से यह शिक्षक हो जाएंगे सहायक अध्यापक।

विभागाध्यक्षों को 28 दिसंबर, 2021 तक रिपोर्ट देने के लिए कहा गया है. रिपोर्टों के अनुसार, निदेशक को शैक्षणिक सत्र 2022-23 के लिए संशोधित प्रस्तावित परिवर्तनों के साथ पाठ्यपुस्तकों को पब्लिश के लिए भेजने का भी निर्देश दिया गया है. 2022-23 सत्र के लिए स्कूली पाठ्यपुस्तकों को “हल्का” करने का निर्णय ऑनलाइन और अन्य तरीकों से सीखने में छात्रों के संघर्ष को देखते हुए लिया गया है। NCF 2022 पर आधारित नई पाठ्यपुस्तकों को NCERT द्वारा शैक्षणिक सत्र 2023-24 से पेश किए जाने की संभावना है. एनसीईआरटी कोर्सवर्क पर अधिक अपडेट के लिए आधिकारिक घोषणाओं को पढ़ते रहें.


Buy Amazon Product