बड़ी खबरें

नियोजित शिक्षकों के चालू वित्तीय वर्ष एवं बकाया वेतन का भुगतान के लिए राशि हुआ आवंटन जान ले कितना मिलेगा ।नियोजित शिक्षकों के चालू वित्तीय वर्ष एवं बकाया वेतन का भुगतान के लिए राशि हुआ आवंटन जान ले कितना मिलेगा । नियोजित शिक्षकों के लिए सबसे बड़ी खुशखबरी बिहार सरकार ने वेतन के साथ एरिया का भी कर दिया आवंटन कौन सा महीना का मिलेगानियोजित शिक्षकों के लिए सबसे बड़ी खुशखबरी बिहार सरकार ने वेतन के साथ एरिया का भी कर दिया आवंटन कौन सा महीना का मिलेगा सरकारी स्कूलों में चल रहे वर्ग में बैठकर अफसर करेंगे निरीक्षण, शिक्षकों को मिलेगा 15 जून के बाद सेवांत लाभ का मौका। सरकारी स्कूलों में चल रहे वर्ग में बैठकर अफसर करेंगे निरीक्षण, शिक्षकों को मिलेगा 15 जून के बाद सेवांत लाभ का मौका। डीईओ कार्यालय में मची हड़कंप, 2006 के बाद वाले नियोजित शिक्षकों के दक्षता को लेकर सबसे बड़ी खुशखबरी ।डीईओ कार्यालय में मची हड़कंप, 2006 के बाद वाले नियोजित शिक्षकों के दक्षता को लेकर सबसे बड़ी खुशखबरी । प्रारंभिक विद्यालय में प्रधान शिक्षक की बीपीएससी से होने वाली परीक्षा जून के इस तारीख की हो गई घोषणा जान ले पूरा दिशा निर्देश।प्रारंभिक विद्यालय में प्रधान शिक्षक की बीपीएससी से होने वाली परीक्षा जून के इस तारीख की हो गई घोषणा जान ले पूरा दिशा निर्देश। नियोजित शिक्षकों के लिए इस वक्त बड़ी खुशखबरी स्कूलों को मिलेगा दूरी का प्रमाण पत्र अब बढ़ेगा DAनियोजित शिक्षकों के लिए इस वक्त बड़ी खुशखबरी स्कूलों को मिलेगा दूरी का प्रमाण पत्र अब बढ़ेगा DA

बिहार के साढे चार लाख नियोजित शिक्षकों के लिए उपमुख्यमंत्री तार किशोर प्रसाद के फैसले से नीतीश कुमार घबरा गए।

बिहार के साढे चार लाख नियोजित शिक्षकों के लिए उपमुख्यमंत्री तार किशोर प्रसाद के फैसले से नीतीश कुमार घबरा गए।

शिक्षक गुरु हैं, कर्मचारी नहीं। इसी तरह से समाज भी उपभोक्ता नहीं है। इसका एहसास सभी को करना होगा। मधुबनी 1. में रविवार को गोकुल मथुरा सूड़ी प्लस टू स्कूल के शताब्दी समारोह में डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद ने यह बातें कहीं। उन्होंने कहा कि शिक्षण संस्थान 1. के सौ साल पूरे होना सभी के लिए गौरव का क्षण होता है। यह हमारे अभिभावक की सोच और पहल से हमे अवगत कराता है। 

पटना हाई कोर्ट से मिली नियोजित शिक्षकों को एक और बड़ी जीत लेवल index -3 में वेतन कटौती पर मिली फैसला।

 

उन्होंने कहा सौ साल पहले हमारे पूर्वज शिक्षा के प्रति किस तरह  गंभीर थे। इसी का परिणाम है कि यहां के छात्र देश में विभिन्न सर्वोच्च पदों पर आसीन है। सरकार की ओर से शिक्षा के क्षेत्र में की जा रही पहल की चर्चा करते हुए डिप्टी सीएम ने कहा कि सरकार गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के प्रति संकल्पित है। उन्होंने मिथिला के कृषि उत्पाद और संस्कृति को विश्व प्रसिद्ध बताया और कहा इसके बूते हम इस क्षेत्र को आर्थिक रूप से सबल बनाने में सफल होंगे।

इसे भी पढ़ें।
8 से 20 मार्च तक 80 हजार विद्यालयों में मनेगा प्रवेशोत्सव। 
पटना : सरकार ने अप्रैल से विद्यालयों में आरंभ होने जा रहे नए शैक्षणिक सत्र 2021-22 में बच्चों के दाखिले हेतु बड़ा अभियान चलाने का फैसला लिया है। 8 से 20 मार्च तक प्रदेश के 80 हजार सरकारी विद्यालयों में प्रवेशोत्सव-विशेष नामांकन अभियान चलेगा। इसकी जिला से मुख्यालय स्तर पर निरंतर निगरानी होगी।

 सरकार ने कक्षा 1 से 8 और 9 में सभी गांव-टोलों में संपर्क कर बच्चों का शत-प्रतिशत दाखिला कराने का लक्ष्य तय किया है। इस प्रवेशोत्सव में शिक्षा विभाग, समाज कल्याण विभाग और ग्रामीण विकास विभाग के अलावा अन्य संबंधित विभागों की मदद ली जाएगी। इस संबंध में शुक्रवार को संबंधित विभागों की ओर से संयुक्त दिशा-निर्देश सभी जिलों को जारी किया गया। शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने शुक्रवार को बताया। 

कि जिला शिक्षा अधिकारी, जिला कार्यक्रम पदाधिकारी, प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी, प्रधानाध्यापक, टोला सेवक, तालीमी मरकज के अलावा जीविका दीदी, आंगनबाड़ी सेविका और बाल विकास परियोजना पदाधिकारी समेत अन्य सभी संबंधित विभागों से समन्वय करते हुए इस नामांकन अभियान को सफल बनाया जाएगा। प्रवेशोत्सव में अभिभावकों का स्वागत किया जाएगा और सम्मान भी होगा। प्रमाण पत्र और आधार कार्ड नहीं रहने की स्थिति में माता-पिता और अभिभावक की घोषणा के आधार पर सभी बच्चों का नामांकन होगा। नामांकन के बाद माता-पिता और अभिभावक कागजात उपलब्ध कराएंगे।


Buy Amazon Product