बड़ी खबरें

शिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगाशिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगा 2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा खुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूचीखुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूची प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएंप्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएं शिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसलाशिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसला सभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतानसभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतान

134 और शिक्षकों पर नो वर्क नो पे की कार्रवाई शुरू हो गई जान ले पूरी विस्तार से।

134 और शिक्षकों पर नो वर्क नो पे की कार्रवाई शुरू हो गई जान ले पूरी विस्तार से।

पटना। राज्य में माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक विद्यालयों की मॉनीटरिंग में 21 जिलों के 134 और शिक्षक-कर्मी बिना सूचना गायब पाये गये हैं। बिना सूचना गायब पाये गये इन सभी शिक्षक कर्मियों पर 'नो वर्क नो पे' लागू किया गया है। इसके साथ ही अब तक 'नो वर्क नो पे' की काररवाई की गाज 299 शिक्षक कर्मियों पर गिर चुकी है।  21 जिलों के 134 और शिक्षककर्मियों के बिना सूचना गायब पाये गये दिन के वेतन 'नो वर्क-नो पे' के तहत काटने के आदेश माध्यमिक शिक्षा निदेशक मनोज कुमार द्वारा संबंधित 21 जिलों के जिला शिक्षा पदाधिकारियों को दिये गये हैं। संबंधित शिक्षक-कर्मी 17 अगस्त से 31 अगस्त तक के नौ कार्यदिवसों के दौरान बिना सूचना गायब पाये गये।

यह भी पढ़ें - 1ली से 12वीं के शिक्षकों को डिजिटल शिक्षण के लिए कार्यक्रम पदाधिकारी किरण कुमारी ने जारी किया निर्देश पत्र हुआ जारी

संबंधित 21 जिलों में पटना, नालंदा रोहतास, बक्सर, गया, जहानाबाद, 1 दरभंगा, समस्तीपुर, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, सीतामढ़ी, शिवहर, सिवान, कटिहार, अररिया, मधेपुरा, भागलपुर, बांका, बेगूसराय, खगड़िया एवंशेखपुरा गायब पाये जाने के बाद 'नो वर्क- नो पे' की काररवाई की जद में आये शिक्षक-कर्मियों में पटना के पांच, गया के एक दरभंगा के 13समस्तीपुर के पांच, कटिहार के चार, बेगूसराय के 22, रोहतास 24, पूर्वी चंपारण पांच, बक्सर के तीन, शिवहर के 16, सिवान के एक, अररिया के दो, खगड़िया के दो सीतामढ़ी के पांच, बांका के दो, मधेपुरा के दो, भागलपुर के तीन, नालंदा के तीन, जहानाबाद के तीन, शेखपुरा के एक एवं मुजफ्फरपुर के एक शामिल हैं।

यह भी पढ़ें - शिक्षक जल्द से जल्द मूल विद्यालय में इस कार्य को कर ले नहीं तो अपर मुख्य सचिव ने चेतावनी भरी पत्र जारी कर दिया।

उल्लेखनीय है कि इसके पहले संबंधित 135 शिक्षक विद्यालयों के अनुश्रवण के दौरान नौ 13 अगस्त के बीच बिना सूचना के गायब पाये गये थे। संबंधित शिक्षकों के भी बिना सूचना गायब पाये गये दिन के वेतन 'नो वर्क नो पे' के तहत काटने के आदेश माध्यमिक शिक्षा निदेशक मनोज कुमार द्वारा संबंधित जिलों के जिला शिक्षा पदाधिकारियों को दिये गये थे। इसके साथ ही संबंधित शिक्षकों पर की गयी काररवाई की रिपोर्ट भी माध्यमिक शिक्षा निदेशक ने मांगी है। उनमें पटना के छह, रोहतास के 67, गया के दो, जहानाबाद के एक, औरंगाबाद के 11, मुजफ्फरपुर के छह, पूर्वी चंपारण के सात, शिवहर के 11, समस्तीपुर के चार, सहरसा के छह, पूर्णिया के दो, अररिया के नौ, बांका के एक, मुंगेर के 16, शेखपुरा के दो, लखीसराय के 10, खगड़िया के दो एवं बेगूसराय के दो शिक्षक शामिल हैं।


Buy Amazon Product