बड़ी खबरें

अब नियोजित शिक्षकों ने उठाई समतुल्य राशि की मांग, अर्जित अवकाश का मिलेंगे लाभ।

अब नियोजित शिक्षकों ने उठाई समतुल्य राशि की मांग, अर्जित अवकाश का मिलेंगे लाभ।

पटना। पंचायतीराज एवं नगर निकाय शिक्षकों ने देय संचित अर्जित अवकाश के बदले समतुल्य राशि के भुगतान के प्रावधान के लिए आवाज उठायी है।
इसके लिए शिक्षक अस्मिता बचाओ अभियान समिति के प्रदेश प्रतिनिधि शशिरंजन सुमन ने मुख्यमंत्री, शिक्षा मंत्री, शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव एवं प्राथमिक शिक्षा निदेशक को ज्ञापन दिया है। ज्ञापन में बिहार पंचायत प्रारंभिक विधालय सेवा नियमावली, 2020' के तहत शिक्षकों को देय अर्जित अवकाश की सुविधा में संचित अर्जित अवकाश के बदले समतुल्य राशि का उल्लेख करने की मांग की गयी है।

प्रारंभिक विद्यालयों के संचालन के लिए 3 विभाग के प्रधान सचिव ने संयुक्त गाइडलाइन जारी किया पूरी नियम जान ले।

 

 ज्ञापन में कहा गया है कि शिक्षा विभाग द्वारा अधिसूचित बिहार पंचायत प्रारंभिक विधालय सेवा ( नियुक्ति, प्रोन्नति, स्थानांतरण, अनुशासनिक कारवाई एवं सेवा शर्त ) नियमावली, 2020' की कंडिका 20 की उपकंडिका (6) में वर्णित अर्जित अवकाश की सुविधा में संचित अर्जित अवकाश के बदले समतुल्य राशि के भुगतान का प्रावधान नहीं है। इससे शिक्षकों में संशय है। ज्ञापन में कहा गया है कि कंडिका में वर्णित शिक्षकों को प्रथम दो वर्ष की सेवा के उपरांत प्रत्येक वर्ष 11 दिनों की छुट्टी अर्जित करते हुए अधिकतम 120 दिनों तक संचित करने का उल्लेख है।

 पंचायतीराज संस्थाओं में ऐसे शिक्षकों, जिनकी नियुक्ति वर्ष 2006 से 2016 के बीच हुई है और वे अब सेवानिवृत हो रहे हैं, उन्हें योगदान की तिथि के दो वर्ष उपरांत से अर्जित अवकाश को संचित मानते हुए वर्तमान में सेवानिवृत्त हो रहे शिक्षकों को 120 दिनों का संचित अर्जित अवकाश के समतुल्य राशि का भुगतान करने हेतु पत्र निर्गत करने का आग्रह भी ज्ञापन में किया गया है।

इसे भी पढ़ें।
राहत आठवीं तक के छात्र बिना परीक्षा दिए पास होंगे
दिल्ली के सरकारी स्कूलों में पढ़ रहे नर्सरी से आठवीं तक के छात्र इस वर्ष वार्षिक परीक्षा दिए बगैर अगली कक्षा में प्रोन्नत किए जाएंगे। शिक्षा निदेशालय ने इससंबंध में बुधवार को निर्देशजारी कर दिए हैं। इन छात्रों का मूल्यांकन होगा। निदेशालय के मुताबिक, मूल्यांकन ऑनलाइन कक्षाओं में दी गई वर्कशीट, शीतकालीन अवकाश में दिए गए काम व नए प्रोजेक्ट वर्क के आधार पर दिया जाएगा। 

तीसरी से 8वीं तक के छात्रों को एक से 15 मार्च तक प्रोजेक्ट वर्क दिया जाएगा। इन तीनों आधार पर तीसरी से 8वीं कक्षा तक के छात्रों का मूल्यांकन 100 अंकों में किया जाएगा। नर्सरी से कक्षा दो के छात्रों के लिए छह मार्च तक वर्कशीट जारी होगी। इसके बाद शीतकालीन अवकाश और बंदी में ऑनलाइन कक्षाओं के दौरान दिए गएकाम के आधार पर ग्रेड दिए जाएंगे। निदेशालय के मुताबिक, मूल्यांकन से प्राप्त जानकारी से अगले सत्र में पाठ्यक्रम तैयार करने में मदद मिलेगी।


Buy Amazon Product