बड़ी खबरें

गणतंत्र दिवस के अवसर पर एक और बड़ा फैसला नई शिक्षा नीति पर अमल को मिलेगा फंड फाइनेंस मिनिस्ट्री ने किया ऐलान।

गणतंत्र दिवस के अवसर पर एक और बड़ा फैसला नई शिक्षा नीति पर अमल को मिलेगा फंड फाइनेंस मिनिस्ट्री ने किया ऐलान।

नई पॉलिसी के अमल को लेकर सरकार पूरी ताकत से जुटी है. इसे आगे बढ़ाने के लिए सरकार की ओर से बजट में अलग से फंड दिया जा सकता है.एजुकेशन मिनिस्ट्री ने इसे लेकर फाइनेंस मिनिस्ट्री को एक प्रजेंटेशन भी दिया है।

बिहार के शिक्षकों ने अपनी दबंगता और ताकत दिखाई फिर बीईओ को हार मानकर स्थानांतरण करा कर भागना ही पड़ा.

अभी आठवीं तक स्कूल नहीं खुलेंगे 
पटना। राज्य में स्कूलों में 1ली से 8वीं कक्षा की पढ़ाई शुरू करने पर अब इस माह के अंत निर्णय होगा। स्कूलों में 1ली से 8वीं कक्षा की पढ़ाई शुरू करने के लिए मुख्यसचिव की अध्यक्षता में सोमवार को होने वाली आपदा प्रबंधन समूह की बैठक टल गयी। मुख्यसचिव दीपक कुमार ने बताया कि आपदा प्रबंधन समूह की बैठक इस महान क अंत में होगी। बैठक की तिथि जल्द तय होगी । 1. इसके मद्देनजर अब यह माना जा रहा है कि स्कूलों में 1ली से 8वीं कक्षा की पढ़ाई अब अगले माह यानी फरवरी में शुरू होगी।

माना जा रहा है कि पहले 6ठी से 8वीं कक्षा की पढ़ाई शुरू होगी। ठीक-ठाक रहा तो, 1ली से 5वीं कक्षा की पढ़ाई भी शुरू हो जायेगी। हालांकि, इस पर औपचारिक निर्णय आपदा प्रबंधन समूह की बैठक में होगा। प्रति कार्यदिवस अधिकतम 50 फीसदी बच्चों की उपस्थिति के साथ स्कूलों में 9वीं से 12वीं कक्षा की पढ़ाई चार जनवरी से ही चल रही है। आपको बता दें कि कोरोना से बचाव को लेकर गत 13 मार्च को तत्काल प्रभाव से अगले आदेश तक के लिए तमाम शिक्षण संस्थान बंद करने का फैसला राज्य सरकार ने लिया। उसके अगले दिन से सभी शिक्षण संस्थान बंद हो गये। कोरोना से बचाव को लेकर 22 मार्च को राष्ट्रीय स्तर पर जनता कर्फ्यू लगा।

और, उसके एक दिन बाद पूरे देश में लॉकडाउन लागू हुआ। स्कूली छात्र- छात्राओं की परीक्षाएं भी लॉकडाउन में फंस गयीं। इसलिए कि सरकारी स्कूलों के 1ली से 8वीं कक्षा की । परीक्षाएं मार्च के अंतिम हफ्ते में थीं। 9वीं एवं 11वीं कक्षा की परीक्षाएं भी नहीं हुईं थीं। चूंकि, अगले माह यानी अप्रैल से नया शैक्षिक सत्र शुरू होना था, इसलिए ( 1ली से 9वीं एवं 11वीं कक्षाओं के छात्र - छात्रा बिना परीक्षा के ही अगली कक्षा के लिए प्रमोट कर दिये गये। 

अनलॉक फेज-वन शुरू हुआ, तो सरकारी प्राइमरी मिडिल स्कूलों में मिड डे मील के अनाज बंटने शुरू हुए ।


इसके लिए बच्चों के अभिभावक बुलाये गये। अनलॉक के अगले चरण में स्कूलों में 5वीं एवं 8वीं कक्षा से प्रमोट हुए बच्चों के क्रमश: 6ठी एवं 9वीं कक्षा में दाखिले के लिए टी. सी. (स्थानान्तरण प्रमाण पत्र) बनने शुरू हुए। बाद में बच्चों का दाखिला भी | शुरू हुआ । 11वीं कक्षा में भी बच्चों के दाखिले शुरू हुए ।

28 सितंबर से स्कूलों में 9वीं से 12वीं कक्षाओं के क्लासरूम के ताले प्रतिदिन 33 फीसदी छात्र- छात्राओं | के लिए मागदर्शन कक्षा के नाम पर खुल गये। उसके बाद हर कार्यदिवस को अधिकतम 50 फीसदी छात्र -छात्राओं की उपस्थिति के साथ 9वीं से 12वीं कक्षा की पढ़ाई चार जनवरी से चल रही है। लेकिन, 1ली से 8वीं कक्षाओं के क्लासरूम के ताले बंद ही हैं।


Buy Amazon Product