बड़ी खबरें

पंचायतीराज व नगर निकाय नियोजित शिक्षकों ने नियुक्ति की तिथि से ईपीएफ का मिलेगा लाभ। 

पंचायतीराज व नगर निकाय नियोजित शिक्षकों ने नियुक्ति की तिथि से ईपीएफ का मिलेगा लाभ। 

इस बाबत परिवर्तनकारी प्रारंभिक शिक्षक संघ ने मुख्यमंत्री शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव, पटना क्षेत्रीय कार्यालय के भविष्यनिधि आयुक्त, माध्यमिक शिक्षा निदेशक एवं प्राथमिक शिक्षा निदेशक को सम्बोधित ज्ञापन उनके कार्यालय को सौंपा है। ज्ञापन में संगठन के प्रदेश अध्यक्ष वंशीधर ब्रजवासी ने कहा है कि राज्य सरकार द्वारा अधिसूचित बिहार पंचायत प्रारंभिक विद्यालय सेवा (नियुक्ति, प्रोन्नति, स्थानांतरण, अनुशासनिक काररवाई एवं सेवाशर्त) नियमावली, 2020 ' के माध्यम से सभी पंचायत प्रारंभिक शिक्षकों को कर्मचारी भविष्य निधि (ईपीएफ) का लाभ दिया गया है।

 

राज्य के साढे तीन लाख नियोजित शिक्षकों को मिल गया मनचाहा तबादला बरसों बाद शिक्षकों की मुरादे हुई पूरी : गिरवर दयाल सिंह

इसमें किये गये प्रावधान में कहा गया है कि प्रधान अध्यापक एवं शिक्षक इम्पलाई प्रोविडेंट फंड एंड मिसलेनियस प्रोविजंस एक्ट 1952 में सन्निहित ईपीएफ योजना में प्रोस्पेक्टिव रूप से आच्छादित होंगे। इनकी मासिक परिलब्धियां अंतर्गत 15000 रुपये प्रतिमाह के वेतन की राशि पर राज्य सरकार द्वारा अंशदान हेतु अनुदान राशि दी जायेगी। ज्ञापन में विभागीय संकल्प का हवाला दिया गया है। विभागीय संकल्प में कहा गया है कि सामाजिक सुरक्षा एवं कल्याण को दृष्टिपथ में रखते हुए राज्य सरकार ने उक्त कोटि के शिक्षक एवं पुस्तकालयाध्यक्ष को ईपीएफ से प्रोस्पेक्टिव इफेक्ट से आच्छादित करने का निर्णय लिया है । 

आखिरकार नियोजित शिक्षकों के पक्ष में हाई कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया राज्य सरकार के साथ विभाग बुरी तरह से फंस गई। 

इस हेतु प्राथमिक विद्यालय से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय तक कार्यरत शिक्षक-पुस्तकालयाध्यक्ष के मासिक परिलब्धियां अंतर्गत 15000 रुपये प्रतिमाह के वेतन की राशि पर राज्य सरकार का अपना अंशदान ( 12 जोड़ 1) प्रतिशत देगी, जो एक सितंबर-2020 से प्रभावी होगा। ज्ञापन में कहा गया है कि एक सितंबर-2020 से प्रभाव से ईपीएफ का लाभ देने से 15 वर्षों से भी अधिक समय से नियोजित एवं कार्यरत शिक्षकों को काफी क्षति होगी। 

BSEB Bihar Board 10th, 12th Exam 2021: मैट्रिक व इंटर परीक्षा के लिए 27 से ही जिलों में कैम्प करेंगे नोडल अफसर

ऐसे शिक्षक अब सेवानिवृत्त भी होने लगे हैं । इसके मद्देनजर नियुक्ति की तिथि से ही ईपीएफ का लाभ देने के लिए नियुक्ति की तिथि से लेकर 31अगस्त, 2020 के बीच की अवधि के लिए नियोक्ता के हिस्से की राशि एवं उसका ब्याज शिक्षकों के ईपीएफ खाते में जमा कराने की मांग ज्ञापन में की गयी है।

पराक्रम दिवस पर बच्चों का संकल्प
पटना। बड़ा अस्पताल कन्या मध्य विद्यालय एवं उसी परिसर में चलने वाले बुनियादी साक्षरता केंद्र में शनिवार को नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125 वीं जयंती ' पराक्रम दिवस' के रूप में मनायी गयी।

इस अवसर पर सोशल डिस्टेंसिंग के तहत संगोष्ठी हुई। संगोष्ठी में विद्यालय में अष्टम वर्ग में पढ़ने वाले बच्चों ने सुभाषचंद्र बोस के जीवनी पर विचार रखे एवं आजाद भारत की रक्षा का सामूहिक रूप से संकल्प लिया। प्रधानाध्यापिका श्रीमती चंद्ररेखा कुमारी, बिहार राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ के प्रवक्ता प्रेमचंद्र, वरीय शिक्षक धमेंद्र सिंह, वेंकटेश कुमार, शिक्षा सेविका सुनीता कुमारी सहित बुनियादी साक्षरता केंद्र में पढ़ने वाली महिलाएं तथा बच्चों ने नेताजी सुभाषचंद्र बोस के चित्र पर माल्यार्पण कर उनके आदर्शों को अपनाने का संकल्प लिया।


Buy Amazon Product